COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

4 मशहूर भारतीय खिलाड़ी जो कभी विश्वकप टीम का हिस्सा नहीं बन सके

13   //    01 Aug 2018, 11:37 IST

क्या किसी भी सम्मानित क्रिकेटर के लिए चार साल में होने वाले 50-ओवरों के विश्व कप में अपने देश की तरफ से खेलने से बड़ा कोई सपना होता है? नहीं..शायद, प्रत्येक क्रिकेटर अपने जीवन में कम से कम एक बार विश्वकप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का प्रयास करता है।

यद्यपि विश्वकप के सपने को देखने वाले कई मशहूर खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जिन्हें देश में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक होने के बावजूद वह विश्वकप के मंच तक नहीं पहुंच पाये हैं। कभी चोट के कारण तो कभी अपने प्रदर्शन की कारण वह किसी भी विश्वकप टीम का हिस्सा बनने से चूक गये।

इस प्रकार इस लेख में हम उन चार महान भारतीय खिलाड़ियों पर नजर डालेंगे जो कभी विश्व कप टीम में जगह नहीं बना सके।

#1 वीवीएस लक्ष्मण


इंडियन फैब फोर का एक हिस्सा वीवीएस लक्ष्मण को सर्वश्रेष्ठ भारतीय बल्लेबाजों में से एक घोषित किया गया था। निचले मध्य क्रम के बल्लेबाज के रूप में अपने करियर को शुरु करने के बाद, लक्ष्मण ने अक्सर अपनी जबरदस्त पारियों के साथ विपक्ष को खूब परेशान किया।

2001 में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के खिलाफ प्रतिष्ठित ईडन गार्डन्स में अपने शानादार 281 रनों के बदौलत उन्होंने हार के जबड़े से जीत चुरा ली थी। लक्ष्मण का करियर किसी रोलर कोस्टर की सवारी से कम नहीं था, जिसमें कई उतार चढ़ाव देखे। हालांकि हर बार उन्होंने एक साहसिक पारी के साथ जवाब दिया जिसकी कोई बराबरी नहीं की जा सकती।

हालांकि लक्ष्मण एकदिवसीय मैचों में टेस्ट मैचों की तरह प्रभावी नहीं थे लेकिन वह अपने 86 मैचों के वनडे करियर में टीम इंडिया के एक महत्वपूर्ण अंश बने रहे।

टेस्ट की तरह ही वनडे में एक अच्छा खिलाड़ी बनने के रास्ते में पिच पर उनका धीमा प्रदर्शन रोड़ा साबित हुआ। जिसका मतलब यह था कि वह कभी भी भारत के लिए किसी भी विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं थे।

हैदराबाद के स्ट्रोक प्लेयर ने 2003 विश्व कप टीम में लगभग जगह बना ली थी लेकिन आखिरी मिनट पर लक्ष्मण की जगह पर दिनेश मोगिया को शामिल करने के फैसले ने उनके विश्वकप के सपने को समाप्त कर दिया और उसके बाद वह कभी भी विश्वकप टीम में शामिल नहीं हो सके।
1 / 4 NEXT
Fetching more content...