Create
Notifications

4 भारतीय खिलाड़ी जिनके करियर बनाने का श्रेय सौरव गांगुली जाता है

Modified 06 Sep 2018
भारत के सफलतम कप्तानों में से एक, सौरव गांगुली ने अपनी कप्तानी से भारतीय टीम को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों की फेहरिस्त में लाकर खड़ा कर दिया। मैच फिक्सिंग की घटना के बाद उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी का कार्यभार संभाला और 2003 विश्व कप में भारत को फाइनल तक पहुंचाया। कप्तान के तौर पर उन्होंने टीम में आत्मविश्वास भरा और खिलाड़ियों को हरेक मैच में अपने व्यक्तिगत प्रदर्शन से ऊपर उठ कर टीम के लिए खेलने के लिए प्रेरित किया। भारतीय टीम को विश्व पटल पर पहचान दिलाने में गांगुली का योगदान अतुलनीय रहा है। इसके साथ साथ भारतीय टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जिन्होंने गांगुली की कप्तानी में अपने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आगाज़ किया और राष्ट्रीय टीम में अपनी पहचान बनाई। लेकिन यह सभी खिलाड़ी शायद कप्तान गांगुली के समर्थन और सहयोग के बिना स्टार खिलाड़ी नहीं बन सकते थे। तो आइये जानते हैं ऐसे चार खिलाड़ियों के बारे में: हरभजन सिंह 2001 के आरंभ में तेंदुलकर के बाद सौरव गांगुली को टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया था। कप्तान के रूप में गांगुली की पहली सीरीज़ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ थी। उस समय हरभजन सिंह उभरते हुए युवा और अनुभवहीन गेंदबाज़ थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ में गांगुली के कहने पर ही हरभजन को टीम में पहली बार खेलने का मौका मिला। इसका परिणाम यह हुआ कि भज्जी ने इस सीरीज़ में 32 विकेट लिए, जिसमें एक हैट-ट्रिक और एक बार पांच विकेट लेने का कारनामा किया। उनके शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने इस सीरीज़ में जीत हासिल की थी।
1 / 4 NEXT
Published 06 Sep 2018
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now