Create
Notifications

4 मौके़ जब भाइयों की जोड़ी ने एक ही टेस्ट पारी में जमाए शतक

देवांश अवस्थी

क्रिकेट में दिलचस्प और हैरान कर देने वाली घटनाएं होती रहती हैं। इसी बारे में बात करते हुए हम जानेंगे उन खास मौकों के बारे में, जब बल्लेबाज भाइयों की जोड़ी ने एक ही टेस्ट पारी में शतक जमाए हों। 1972 से 2017 के बीच ऐसे 4 मौके आए हैं और हर बार शतक जमाने वाली भाइयों की जोड़ी ऑस्ट्रेलियाई ही थी।

#4 शॉन और मिचेल मार्श, सिडनी में इंग्लैंड के ख़िलाफ़, 2017

2017-18 की ऐशज़ सीरीज में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 4-0 से मात दी। इस सीरीज के 5वें टेस्ट के चौथे दिन शॉन मार्श और मिचेल मार्श, दोनों ने अपने शतक पूरे किए। दोनों भाइयों में से शॉन मार्श ने अपना शतक पहले पूरा किया। यह सीरीज में उनका दूसरा शतक था। दूसरे छोर पर बल्लेबाजी कर रहे उनके भाई मिचेल मार्श ने भी जल्द ही तीन अंकों का आंकड़ा छू लिया। मिचेल के लिए भी यह सीरीज का दूसरा शतक था। मिचेल ने दो रन लेकर अपना शतक पूरा किया और दूसरा रन लेने के दौरान वह आउट होते-होते भी बचे। इसकी वजह यह थी कि दोनों भाइयों ने रन लेने के बीच में ही खुशी मनाना शुरू कर दिया था। मिचेल शतक पूरा करने के बाद अगली गेंद पर ही पवेलियन लौट गए। दोनों भाइयों ने मिलकर टीम के लिए कुल 169 रन जोड़े थे। शॉन मार्श ने 156 (291) और मिचेल मार्श ने 101 (141) रनों की पारियां खेलीं।

#3 स्टीव और मार्क वॉ, ओवल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़, 2001

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में स्टीव वॉ और मार्क वॉ, इन बल्लेबाज भाइयों की जोड़ी काफी लोकप्रिय रही है। एक रोचक तथ्य यह भी है कि ये दोनों भाई जुड़वा भी थे। 2001 ऐशज सीरीज में शुरूआती तीन मैचों में ऑस्ट्रेलिया जीत चुका था। चोटिल होने की वजह से स्टीव वॉ चौथे टेस्ट का हिस्सा नहीं बन सके। चौथे टेस्ट में इंग्लैंड ने जीत हासिल कर ली और ऑस्ट्रेलिया को क्लीन स्वीप का मौका नहीं दिया। पांचवें और आखिरी टेस्ट में स्टीव वॉ की वापसी हुई और उन्होंने शानदार 157 रनों की पारी खेली। मार्क वॉ ने भी उनका खूब साथ निभाया और उन्होंने 120 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली। दोनों भाइयों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 197 रनों की साझेदारी की। डैरन गफ़ की गेंद पर मार्क वॉ के आउट होने के बाद, दोनों की साझेदारी पर लगाम लगी। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने शानदार जीत हासिल कर सीरीज 4-1 से अपने नाम की।

#2 इयान और ग्रेग चैपल, वेलिंगटन में न्यूजीलैंड के ख़िलाफ़, 1974

बल्लेबाज भाइयों की यह जोड़ी, मैदान पर अपनी आक्रामकता के लिए जानी जाती थी। मौका था 1974 में न्यूजीलैंड दौरे के दौरान वेलिंगटन टेस्ट का। हालांकि यह टेस्ट ड्रॉ रहा, लेकिन इसे यादगार बनाया इयान और ग्रेग चैपल ने। दोनों भाइयों ने, मैच की दोनों पारियों में शतक जमाए। पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया संघर्ष कर रहा था और 55 रनों पर 2 विकेट खो चुका था। इसके बाद इयान और ग्रेग की जोड़ी ने तीसरे विकेट के लिए 264 रनों की साझेदारी की। इयान ने पहली पारी में 145 रन बनाए और ग्रेग चैपल ने अपने करियर का सर्वाधिक स्कोर (247 रन नाबाद)। ग्रेग ने अपनी इस पारी में कुल 30 चौके और 1 छक्का लगाया। इतना ही नहीं, दूसरी पारी में भी दोनों भाइयों ने शतक जमाए। इयान ने 121 और ग्रेग चैपल ने 133 रनों की पारी खेली।

#1 इयान और ग्रेग चैपल, ओवल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़, 1972

पहली बार एक ही पारी में दो भाइयों द्वारा शतक का कारनामा, इयान और ग्रेग की जोड़ी ने ही किया था। मौका था 1972 ऐशज के दौरान ओवल टेस्ट का। सीरीज में इग्लैंड के पास 2-1 की बढ़त थी और ऑस्ट्रेलिया का इरादा सीरीज को बराबरी पर लाना था। इंग्लैंड ने पहली पारी में 284 रन बनाए और जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने महज 34 रनों पर 2 विकेट गंवा दिए। सारी उम्मीदें अब मध्यक्रम पर टिकी थीं। चैपल बंधुओं की जोड़ी ने अपने फैन्स को निराश नहीं होने दिया। दोनों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 201 रनों की साझेदारी की। इयान चैपल ने 118 (267) और ग्रेग चैपल ने 113 (226) रनों की पारियां खेलीं। इस साझेदारी ने ऑस्ट्रेलिया को संभाला। पांचवें दिन के खेल तक इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 243 रनों का लक्ष्य दिया। इस वक्त तक टेस्ट मैचों की अवधि 6 दिन हुआ करती थी। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने मैच में जीत हासिल की। लेखकः हिमांशु अग्रवाल अनुवादकः देवान्श अवस्थी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...