Create

4 देश जिन्हें वर्ल्ड कप के एक भी मैच में जीत नसीब नहीं हुई

Enter caption caption

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट है, क्योंकि इस टूर्नामेंट में विश्व के शीर्ष क्रिकेट खेलने वाले देश एक स्थान पर एकत्रित होकर यह दिखाते हैं कि विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीम कौन है। पहला वर्ल्ड कप साल 1975 में आयोजित किया गया था, जिसमें आठ टीमों ने भाग लिया था। साल 1975 से लेकर अब तक 11 क्रिकेट वर्ल्ड कप टूर्नामेंट खेले जा चुके हैं, जबकि 12वां संस्करण प्रगति पर है। इतिहास में अब तक 20 टीमें वर्ल्ड कप में खेल चुकी हैं।

वर्ल्ड कप की सबसे सफल टीम ऑस्ट्रेलिया है। उसने अब तक 5 बार वर्ल्ड कप का खिताब जीता है, जबकि वेस्टइंडीज 2 बार, भारत 2 बार, श्रीलंका एक बार और पाकिस्तान एक बार वर्ल्ड कप का खिताब जीत चुकी है। मुख्य टीमों का यह सपना रहता है कि वे वर्ल्ड कप का खिताब जीतें जबकि एशोसिएट टीमों का सपना रहा कि वे एक मैच जीत लें।

हालांकि सभी देशों ने वर्ल्ड कप में कोई न कोई मैच जरूर जीता है लेकिन 4 देश ऐसे भी हैं जिनका वर्ल्ड कप का एक भी मैच जीतने का सपना अधूरा ही रह गया।

#4. पूर्वी अफ्रीका- 3 हार (1975)":

Enter caption

पूर्वी अफ्रीका और श्रीलंका को वर्ल्ड कप 1975 के टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था। उस साल इन दोनों देशों के अलावा अन्य 6 मुख्य क्रिकेट खेलने वाले देश की टीमें भी हिस्सा ले रही थीं।

पूर्वी अफ्रीका को ग्रुप ए में डाला गया था, जिसमें न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और भारत भी मौजूद थीं। न्यूजीलैंड टीम ने ग्रुप के पहले मैच में पूर्वी अफ्रीका को हराकर वर्ल्ड कप में पहली जीत का रिकॉर्ड कायम किया, जबकि दूसरे मैच में उसे भारतीय टीम ने 10 विकेट से हराया। उसे अपने अंतिम ग्रुप मैच में उन्हें मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ 196 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

अपने सभी 3 ग्रुप मैचों में हार का सामना करने के बाद वे खाली हाथ घर वापस लौट गए। साल 1989 में आईसीसी ने पूर्वी अफ्रीका को निलंबित कर दिया और उसका स्थान केन्या ने ले लिया।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#3. नामीबिया- 6 हार (2003):

Enter caption

नामीबिया टीम ने वर्ल्ड कप 2003 के लिए क्वालीफाई किया था। उस साल कुल 14 टीमों ने टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। नामीबिया को पूल ए में डाला गया था, जिसमें ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, पाकिस्तान के साथ-साथ जिम्बाब्वे और नीदरलैंड्स भी शामिल थे।

नामीबिया टीम सभी 6 मैचों में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई। उन्हें भारत के खिलाफ 181 और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 256 रनों से हार का सामना भी करना पड़ा था।

#2. बरमूडा- 3 हार (2007):

Enter caption

बरमूडा टीम ने वर्ल्ड कप 2007 के लिए क्वालीफाई किया था। बरमूडा को फैंस का अच्छा समर्थन भी मिला, लेकिन वे एक भी मैच नहीं जीत पाए। बरमूडा टीम ने वर्ल्ड कप का डेब्यू मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था जिसमें उन्हें 243 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। उन्होंने अपना दूसरा मैच भारत के खिलाफ खेला जिसमें उसे 257 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

जब बरमूडा टीम ने अपने आखिरी ग्रुप मैच में बांग्लादेश के खिलाफ पहले फील्डिंग करने का फैसला किया, तब सभी भारतीय समर्थक बरमूडा को जीतने की दुआएं दे रहे थे, लेकिन बांग्लादेश ने 7 विकेट से जीत हासिल करके बरमूडा और भारत दोनों को टूर्नामेंट से बाहर कर दिया।

#1. स्कॉटलैंड- 14 हार (1999, 2007 और 2015):

Enter

इस लिस्ट में शामिल सभी चार देशों में से सबसे अधिक वर्ल्ड कप मैच स्कॉटलैंड टीम ने ही खेले हैं। स्कॉटलैंड ने साल 1999 से लेकर 2015 तक कुल 14 मैच खेले, लेकिन एक भी मैच नहीं जीत पाए।

वर्ल्ड कप 2015 में अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में वे पहली जीत जीत हासिल करने के बिल्कुल करीब आ गए थे, लेकिन अफगानिस्तान ने एक विकेट रहते ही मैच को जीत लिया था। स्कॉटलैंड ने 3 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट (1999, 2007 और 2015) में हिस्सा लिया लेकिन वे सभी बार अंक तालिका में निचले स्थान पर ही रहे।

आईसीसी द्वारा वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीमों की संख्या कम करने के बाद स्कॉटलैंड टीम क्वालीफाई करने में कामयाब नहीं हो पाई। हालांकि उन्होंने जून 2018 में वनडे फॉर्मेट के नंबर एक और अपने पड़ोसी देश इंग्लैंड पर शानदार जीत दर्ज किया था। उम्मीद है कि वे अगली बार वर्ल्ड कप के लिए जरूर क्वालीफाई होंगे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment