Create
Notifications

एबी डीविलियर्स के 5 शॉट्स जो उन्हें बनाते हैं अदभुत बल्लेबाज़

आशीष कुमार

एबी डीविलियर्स के बल्ले का उपयोग करने का अपना एक अनूठा तरीका है। वह इसे एक छड़ी, एक रैकेट, यहां तक कि एक गोल्फ क्लब की तरह उपयोग करते हैं। इसके अलावा उनके शॉट्स भौतिकी के नियमों की अवहेलना करते नज़र आते हैं। असाधारण रूप से डीविलियर्स अपने पैरों पर भारी नहीं हैं मतलब वह क्रीज़ पर किसी भी स्थिति में मनचाहे शॉट्स लगा सकते हैं। वह क्रीज़ में आगे बढ़कर, पीछे हटकर या एकदम विकेट के नज़दीक आकर शॉट्स खेलने में माहिर हैं और यह सब वो एक सेकंड के भीतर कर लेते हैं। उनके शॉट्स देखकर दर्शकों के साथ साथ उनके साथी खिलाड़ी भी आश्चर्यचकित रह जाते हैं। तो आइए नज़र डालते हैं इस करिश्माई बल्लेबाज़ के बेहतरीन 5 शॉट्स पर, इस सूची में स्विच हिट और रिवर्स स्कूप को शामिल नहीं किया गया है क्योंकि डीविलियर्स अब यह शॉट्स नहीं खेलते।

दिलस्कूप

इस शॉट में गेंद अगर ठीक से बल्ले पर नहीं आती या इसको सही ऊंचाई और कोण नहीं मिलता है तो यह सीधे हेल्मट पर लग सकती है। दिलस्कूप शॉट के आविष्कारक तिलकरत्ने दिलशान ने अच्छी लेंथ की गेंदों को सीधा सिर के ऊपर से सीमा रेखा से पार पहुंचाया है, उनके नाम से ही इस शॉट का नाम दिलस्कूप रखा गया। ब्रेंडन मैकुलम जैसे बल्लेबाज़ भी यह शॉट लगाने में माहिर हैं, लेकिन डीविलियर्स की ख़ासियत यह है की वह 120 डिग्री के कोण से घूमकर विकेटकीपर, फाइन लेग और थर्ड मैन के ऊपर से यह शॉट लगा सकते हैं। ऐसी स्थिति में विरोधी टीम के कप्तान के लिए फील्डिंग लगाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

लैप शॉट

एबी डीविलियर्स, हालाँकि लैप शॉट खेलते समय कई बार अपना संतुलन खो देते हैं, लेकिन बल्ले के बीचो-बीच एक टांग पर अपना संतुलन बनाकर गेंद को हिट करना का परिणाम शानदार होता है। एबी ऑफ-स्टंप से थोड़ा बाहर निकलकर यॉर्कर को अपने बल्ले के निचले हिस्से से लेग साइड में ज़ोरदार हिट करते हैं और गेंद सीमा रेखा के पार पहुंच जाती है, इसे लैप शॉट कहा जाता है। किसी भी लेंथ डिलीवरी में, एबी यह शॉट लगाने से नहीं चूकते। डिलीवरी फुल लेंथ हो या फुल टॉस, निश्चित रूप से गेंद दर्शक-दीर्घा में जाकर गिरेगी।

रिवर्स स्वीप

कौशल के साथ साथ इसके लिए बहुत सारी चीजें की आवश्यकता है। अपने सिर को सीधा रखकर, शरीर का बाएं पैर पर संतुलन बनाकर और हाथों को घुमाकर यह शॉट लगाना संभव है और अविश्वसनीय रूप से, एबी ने यह शॉट लगाने में भी निपुणता हासिल की है। हालाँकि, इस शॉट को स्पिनर्स के खिलाफ खेलना आसान होता है क्यूंकि बल्लेबाज़ों के पास बल्ले पर हाथों की पकड़ बदलने का पर्याप्त समय होता है। लेकिन दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ को स्पिनरों या तेज गेंदबाजों के खिलाफ इस शॉट को खेलने में कोई परेशानी नहीं होती। अब कल्पना कीजिये, जब एक तेज़ गेंदबाज़ को कोई बल्लेबाज़ बड़ी आसानी से रिवर्स स्वीप लगाए। उसके आत्मविश्वास को एक गहरा झटका लगता होगा। यह सिर्फ एबी डीविलियर्स ही हैं जो ऐसा कर सकते हैं।

स्लॉग स्वीप

यह शॉट सभी तरह के ऑफ स्पिनरों के खिलाफ खेला जाता है लेकिन एबी 'स्लॉग स्वीप' ख़ासतौर पर लेग स्पिनरों के 'सामूहिक विनाश' का एक हथियार है - हाल ही में टी-20 मैचों में इसका चलन शुरू हुआ है। डिलीवरी चाहे लेग-ब्रेक हो या स्लाइडर, एबी इस शॉट को खेलने के लिए कलाइयों का भरपूर इस्तेमाल करते हैं। गेंद सीमा रेखा के पार जाकर ही गिरेगी, चाहे उसे स्पिन के साथ हिट किया गया हो या उसके खिलाफ। यह शॉट डीविलियर्स 120 डिग्री के कोण पर लॉन्ग लेग से लेकर लॉन्ग ऑन तक खेल सकते हैं।

लॉफ्टेड ड्राइव

एबी डीविलियर्स के पास स्क्वायर-कट, एक्स्ट्रा कवर ड्राइव और ऑन-ड्राइव्स जैसे बेहद कारगर हथियार हैं जो दर्शकों को रोमांचित कर देते हैं। लेकिन जब वह अपनी पूरी लय में आ जाते हैं, तो उनके पास नए-नए शॉट्स ईजाद करने की अदभुत क्षमता है। एबी कवर से लॉन्ग-ऑन तक 120 डिग्री के कोण पर लॉफ्टेड कवर ड्राइव लगाने में सक्षम हैं। वह ओवर-पिच डिलीवरी को एक्स्ट्रा कवर के ऊपर से सीमा रेखा के पार पहुंचा सकते हैं और ऐसी स्थिति में क्षेत्ररक्षक असमंजस्य की स्थिति में पड़ जाते हैं। इसी लिए उन्हें 360 डिग्री बल्लेबाज़ का तमगा हासिल है। अविश्वसनीय रूप से प्रभावी और अदभुत, निश्चित रूप से एबी डिविलियर्स क्रिकेट इतिहास में अपनी तरह के एकमात्र खिलाड़ी हैं। लेखक: रेहान डिआज़ अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...