Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 बल्लेबाज जिन्होंने गेंदबाज बनकर कमाया नाम

Modified 09 Oct 2016, 15:29 IST
Advertisement
1996 वर्ल्ड कप में श्रीलंका हर टीम को आसानी से रौंदती जा रही थी। लंकाई टीम के पास गेंदबाज़ी लाइनअप में मुथैया मुरलीधरन और चंमिडा वास जैसे गेंदाबाज़ों के अलावा दहला देने वाली बल्लेबाज़ी क्षमता भी थी। सनथ जयसूर्या और रोमेश कालुवितराना की जोड़ी चकित करने देने वाले स्ट्रोक्स के साथ लंकाई टीम को गज़ब की शुरुआत देती और फिर रहा सहा काम कप्तान अर्जुना राणातुंगा और अर्विंदा डी सिल्वा कर देते थे। ज्यादातर मौकों पर लंकाई टीम की पहले 15 ओवर में आक्रामक शॉट्स खेलने की स्ट्रेटजी सफल रही और आखिरकार श्रीलंका चैंपियन बन गया। हर किसी ने जयासूर्या के ताकतवर शॉट्स की तारीफ की और जयासूर्या की वो पारियां आज भी श्रीलंकाई क्रिकेट प्रेमियों के जहन में ताज़ा हैं, लेकिन ये कम ही लोग जानते हैं कि सनथ जयासूर्या  दाएं हाथ के स्पिनर के तौर पर टीम में आए थे जो थोड़ी बल्लेबाज़ी भी कर सकते थे। हालांकि वर्ल्डकप शुरु होने से पहले ही जयसूर्या कई बार अपने बल्ले की चमक दिखा चुके थे । यही कारण था कि कप्तान राणातुंगा ने जयसूर्या को लोवर ऑर्डर से ऊपर बुलाकर  पारी की शुरुआत करने को कहा। बहरहाल, हम इस आर्टिकल में बिलकुर रिवर्स ऑर्डर पर नजर डालेंगे। हमने 5 ऐसे गेंदबाज़ों का चुनाव किया है जो पहले बल्लेबाज़ थे लेकिन बाद में वो वर्ल्ड क्लास गेंदबाज़ बने। #1 रविचंद्रन अश्विन ravichandran-1-1475751759-800 अश्विन ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज़ के पहले टेस्ट में अपनी चालाक ऑफ स्पिन से 10 और दूसरे टेस्ट में 6 विकेट झटके। अश्विन इस टेस्ट सीरीज़ के मैन ऑफ द सीरीज़ के दावेदारों में भी है और अगर उन्होंने आखिरी टेस्ट में एक और मैच विनिंग प्रदर्शन किया तो उन्हें मैन ऑफ द सीरीज़ चुना जा सकता है, लेकिन क्या अश्विन आखिरी कुछ पारियों से गजब की बल्लेबाज़ी नहीं कर रहे? पिछली 7 पारियों में अश्विन ने 2 शतक बनाए हैं। अगर आप ये सोच रहे हैं कि अश्विन में अचानक इतना शानदार बल्लेबाज़ी की काबिलियत कहा से सीखी, तो अपने दिमाग पर ज़ोर देना बंद कीजिए क्योंकि अश्विन ने जूनियर क्रिकेट की शुरुआत बतौर एक बल्लेबाज़ ही की थी। वो एक अच्छे बल्लेबाज़ थे लेकिन उनके कोच ने इससे बिल्कुल उलट चुना  और अश्विन को स्पिन डालने को कहा। अश्विन ने 2011 में भारत के लिए वनडे में डेब्यू किया और अभी तक वो 107 मैच में 142 विकेट ले चुके हैं। टेस्ट क्रिकेट में अश्विन के आंकड़े और चौकांने वाले हैं । अश्निन के खाते में 38 मैच में 207 विकेट हैं। हालांकि एक कारनामा ऐसा भी है जो सचिन भी अपने करियर में नहीं कर पाए। जी हां, अश्विन ने एक ही टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में चार शतक जमाए हैं। जिसमें दो शतक उन्होंने पिछले वेस्टइंडीज दौरे पर लगाए थे। अश्विन ने कई अहम मौको पर अपने बल्ले से रनों की आग उगली है, जिससे उनके बल्लेबाजी का जौहर भी देखने को मिला।
1 / 5 NEXT
Published 09 Oct 2016, 15:29 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit