Create
Notifications

हारे हुए टेस्ट मैचों में इन खिलाड़ियों ने लगाए सबसे ज़्यादा शतक

Himanshu Kothari

क्रिकेट एक टीम गेम है, इसमें हर खिलाड़ी को अपना 100 फीसदी देना होता है। जिस टीम के खिलाड़ी अपना 100 फीसदी देते हैं उनकी टीम की जीत उतनी ही आसान हो जाती है। वहीं अगर किसी एक खिलाड़ी का प्रदर्शन अच्छा हो और पूरी टीम कुछ भी कमाल नहीं दिखा पाए तो उस एक खिलाड़ी के अच्छे प्रदर्शन के बावजूद टीम हार के कगार पर पहुंच जाती है। क्रिकेट में ऐसे कई महान बल्लेबाज हुए हैं जिन्होंने अपनी टीम की जीत के लिए एक छोर को मजबूती से संभाले रखा लेकिन दूसरे छोर से उन्हें किसी भी खिलाड़ी का साथ नहीं मिला। जिसका नतीजा टीम की हार के रूप में सामने आया। टीम के हार के साथ ही उन खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन भी बेकार साबित हो जाता। आइए जानते हैं उन खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने हारे हुए टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा शतक लगाए हैं।

#5 एंडी फ़्लॉवर, ज़िम्बाब्वे- 7 शतक

जिम्बाब्वे के एंडी फ्लॉवर एक शानदार बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं। एंडी फ्लॉवर स्पिन गेंदों को आसानी से खेलने में माहिर थे। वहीं तेज गेंदों का भी वो डटकर सामना करते थे। जिसके चलते वो सलामी बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते थे। उन्होंने अपने करियर में 63 टेस्ट मैच खेले। जिसमें उन्होंने 51.54 की औसत से अपनी टीम के लिए 4794 रन स्कोर किए। इसके साथ ही उन्होंने अपने टेस्ट करियर में 12 शतक भी लगाए। हालांकि इन शतकों में से सात शतक ऐसे मैचों में उनके बल्ले से आए, जिनमें उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा। ऐसे में इस बात का साफ तौर पर अंदाजा लगाया जा सकता है कि कमजोर टीम होने के बावजूद जिम्बाब्वे जैसी टीम में भी ऐसा कोई खिलाड़ी था जो टीम का एक छोर संभालकर स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाने में माहिर था।

#4 युनिस ख़ान, पाकिस्तान- 7 शतक

युनिस खान पाकिस्तान के शानदार बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं। युनिस खान ने अपनी टीम पाकिस्तान के लिए खेलते हुए काफी बार शानदार प्रदर्शन से प्रभावित किया है। युनिस खान ने पाकिस्तान के लिए 118 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें से 45 मैचों में पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा है। अपने टेस्ट करियर में युनिस ने 10099 रन स्कोर किए हैं। एक छोर से डटकर बल्लेबाजी करने वाले युनिस ने अपने करियर में 34 टेस्ट शतक लगाए हैं। हालांकि इनमें से उन्होंने 7 टेस्ट शतक ऐसे मैचों में लगाए हैं जिनमें उनकी टीम को हार का मुंह देखना पड़ा है। इसके अलावा उन्होंने 12 अर्धशतक ऐसे टेस्ट मैचों में लगाए हैं, जिनमें उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि युनिस खान अपनी टीम पाकिस्तान के लिए कितने अहम थे, इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि युनिस खान ने 19 शतक ऐसे मैचों में लगाए हैं, जिनमें उनकी टीम को जीत हासिल हुई है।

#3 शिवनारायण चंद्रपॉल, वेस्टइंडीज़- 9 शतक

शिवनारायण चंद्रपॉल ने वेस्टइंडीज के लिए 164 मैच खेले हैं। इनमें उनकी टीम को 77 मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि ब्रायन लारा के साथ मिलकर शिवनारायण चंद्रपॉल टीम को मजबूती प्रदान किया करते थे। एक दौर था जब शिवनारायण चंद्रपॉल टीम के अहम खिलाडियों में अपनी जगह बनाए हुए थे। मुश्किल हालात में भी शिवनारायण चंद्रपॉलव टीम का साथ बखूबी निभाते थे। टेस्ट क्रिकेट में शिवनारायण चंद्रपॉल एक छोर से क्रीज पर डटकर बल्लेबाजी किया करते थे। हालांकि हारे हुए मैचों में शिवनारायण चंद्रपॉल ने वेस्टइंडीज के लिए 9 शतकीय पारियां खेली है। इसके अलावा हारे हुए मैचों में शिवनारायण चंद्रपॉल ने 5370 रन बनाने के साथ ही 32 अर्धशतक भी लगाए हैं। वेस्टइंडीज के लिए हारे हुए मैचों में शिवनारायण चंद्रपॉल की औसत 42.33 की रही है।

#2 सचिन तेंदुलकर, भारत- 11 शतक

क्रिकेट इतिहास के महान बल्लेबाजों में से एक सचिन तेंदुलकर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। भारतीय क्रिकेट टीम के शानदार बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है। सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 100 शतक अपने नाम किए हैं। इनमें टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम 51 शतक दर्ज हैं तो वहीं एकदिवसीय क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर ने 49 शतक अपने नाम किए हैं। शतकों के इस शानदार रिकॉर्ड के बावजूद सचिन तेंदुलकर हारे हुए टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज के तौर पर सामने आए हैं। अपनी शानदार बल्लेबाजी तकनीक के लिए पहचाने जाने वाले सचिन तेंदुलकर मुश्किल घड़ियों में भी क्रीज पर बने रहते और टीम का साथ नहीं छोड़ते थे। हालांकि सचिन तेंदुलकर को दूसरे छोर से काफी बार भरपूर साथ नहीं मिल पाता था। जिसके कारण टीम को हार का सामना करना पड़ता। सचिन तेंदुलकर ने अपने टेस्ट करियर में 200 मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 15921 रन स्कोर किए हैं। हालांकि अपने करियर में खेले गए 56 मैचों में उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा है। हारे हुए मैचों में सचिन तेंदुलकर की औसत 37 की रही। जिसके कारण उन्हें कई बार आलोचनाओं का सामना भी करा पड़ा। वहीं सचिन तेंदुलकर ने हारे हुए टेस्ट मैचों में 11 शतक और 18 अर्धशतकीय पारियां खेली हैं।

#1 ब्रायन लारा, वेस्टइंडीज़- 14 शतक

वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा क्रिकेट की दुनिया के शानदार बल्लेबाजों में से एक हैं। अपनी शानदार बल्लेबाजी क्षमता के दम पर ब्रायन लारा ने वेस्टइंडीज के लिए कई अहम पारियां खेली। हालांकि ब्रायन लारा इन पारियों को टीम की जीत में तब्दील करने में ज्यादातर मौकों पर नाकाम साबित हुए। टीम के एक छोर को संभालकर बल्लेबाजी करने वाले ब्रायन लारा को काफी बार दूसरे छोर से शिवनारायण चंद्रपॉल का अच्छा साथ मिलता, लेकिन शिवनारायण चंद्रपॉल के आउट हो जाने के बाद उन्हें ज्यादातर मौकों पर किसी भी खिलाड़ी का भरपूर साथ नहीं मिलता था। ब्रायन लारा ने अपने टेस्ट करियर में 232 पारियां खेली हैं और इनमें आधी से ज्यादा पारियों में वेस्टइंडीज को हार का सामना करना पड़ा है। ब्रायन लारा की तरफ से खेली गई 126 पारियों में वेस्टइंडीज को हार का मुंह देखना पड़ा। अपने शानदार करियर में ब्रायन लारा ने 34 शतक जड़े। इनमें से 14 शतक उनके बल्ले से ऐसे टेस्ट मैचों में आए, जिनमें उनकी टीम का हार झेलनी पड़ी। वहीं इन 14 शतकों में से 5 शतक ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ आए, जो कि ब्रायन लारा की बेहतरीन बल्लेबाजी क्षमता को दर्शाता है। ब्रायन लारा के नाम अपने करियर में 131 टेस्ट मैचों में खेलते हुए 11953 रन दर्ज हैं। इस दौरान उनकी औसत 52.89 की रहीं। वहीं इनमें से हारे हुए मैचों में 42.19 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए 5316 रन बनाए। ब्रायन लारा के नाम टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है। ब्रायन लारा ने टेस्ट क्रिकेट में एक पारी में सबसे ज्यादा 400 रन बनाए हैं। लेखक: सारा वारिस अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...