Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारतीय क्रिकेट के अब तक के 5 बेस्ट ऑलराउंडर

SENIOR ANALYST
Modified 12 Aug 2017, 11:08 IST
Advertisement
भारतीय क्रिकेट में हमेशा से ही एक अच्छे ऑलराउंडर की कमी रही है। अगर ऑप ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका जैसी टीमों को देखें तो इनके पास एक से बढ़कर एक महान ऑलराउंडर हुए हैं। रिचर्ड हैडली, इयान बॉथम और लॉन्स क्लूजनर जैसे दिग्गज ऑलराउंडर इस बात के सबूत हैं। लेकिन भारतीय क्रिकेट में ऐसा नहीं रहा है। यहां पर एक अच्छे ऑलराउंडर की तलाश मतलब कोयले की खदान से हीरा निकालना। भारतीय टीम में हमेशा से एक ऐसे ऑलराउंडर की कमी रही है जो कि तेज गति से अच्छी गेंदबाजी भी कर सके और एक प्रॉपर बैट्समैन की तरह रन भी बना सके। हालांकि साल 2000 से लेकर अब तक कई खिलाड़ियों ने ऑलराउंडर की भूमिका निभाई। लेकिन ये पूरी तरह से ऑलराउंडर खिलाड़ी नहीं थे। या तो बल्लेबाजी के साथ थोड़ी बहुत स्पिन गेंदबाजी कर लेते थे या फिर स्पिन गेंदबाजी के साथ निचले क्रम में थोड़ी बहुत बल्लेबाजी कर लेते थे। भारतीय ऑलराउंडरों की अगर बात करें तो लाला अमरनाथ पहले ऐसे ऑलराउंडर थे जिन्हे विश्व स्तर पर पहचान मिली। उन्होंने एक ही टेस्ट मैच में 5 विकेट लेने और 50 रन बनाने का कारनामा किया था। अपने करियर के शुरुआती दिनों में वो गेंदबाज से ज्यादा एक बल्लेबाज थे, लेकिन समय बीतने के साथ ही उनकी बल्लेबाजी में वो धार नहीं रह गई और वो पूरी तरह से एक गेंदबाज बन गए। दत्तू फडकर, पाली उमरीगर और मनोज प्रभाकर जैसे खिलाड़ियों ने भी ऑलराउंडर की भूमिका निभाई। लेकिन इनमे से कोई ज्यादा सफल नहीं हो सका। या तो ये पूरी तरह से गेंदबाज बन गए या पूरी तरह से बल्लेबाज बन गए। हालांकि ऐसा नहीं है कि भारतीय टीम में कोई अच्छा ऑलराउंडर नहीं हुआ। कई ऐसे खिलाड़ी हुए जिन्होंने एक ऑलराउंडर के तौर पर वर्ल्ड क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ी। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में। 5. इरफान पठान IRFAN PATHAN   इरफान पठान ने अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू अपने बड़े भाई यूसुफ पठान के बाद किया और जल्द ही वो भारतीय क्रिकेट का जाना-माना नाम बन गए। मुल्तान टेस्ट में पाकिस्तान के खिलाफ उनकी पहले ही ओवर की हैट्रिक आज भी लोगों को याद है। किस तरह से उन्होंने लगातार 3 गेंदों पर सलमान बट्ट, यूनुस खान और मोहम्मद यूसुफ जैसे खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा था। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत लेफ्ट ऑर्म मीडियम फास्ट बॉलर के तौर पर की थी और जल्द ही अपनी विकेटटेंकिंग क्षमता के कारण वो भारतीय टीम के अहम गेंदबाज बन गए। गेंदबाजी के अलावा उनकी प्लस प्वॉइंट ये भी थी कि वो बल्लेबाजी भी काफी अच्छी कर लेते थे। पठान गेंदबाजी की शुरआत करने के अलावा मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करने में सक्षम थे। कई बार उन्होंने  गेंद और बल्ले दोनों से बढ़िया प्रदर्शन किया। वन डाउन जाकर वो 83 रन की शानदार पारी भी खेल चुके हैं। इन्ही खूबियों की वजह से वो भारत के एक भरोसेमंद ऑलराउंडर बन गए। हालांकि बार-बार चोटिल होने की वजह से उनकी गेंदबाजी पर काफी असर पड़ा। उनकी गेंदों में वो पैनापन नहीं रह गया। जिससे उन्हे भारतीय टीम से बाहर होना पड़ा। हालांकि एक ऑलराउंडर के तौर पर आज भी उनकी क्षमता पर शक नहीं किया जा सकता है। 29 टेस्ट मैचो में इरफान पठान अब तक 1105 रन बना चुके हैं और साथ ही 100 विकेट भी चटका चुके हैं। इस दौरान उनका बैटिंग एवरेज 31.89 और बॉलिंग एवरेज 32.86 रहा है। इन 29 टेस्ट मैचो में वो एक शतक और 9 अर्धशतक भी जड़ चुके हैं। वनडे मैचो में भी इरफान पठान का प्रदर्शन बढ़िया रहा है। 120 मैचो में 23.39 की औसत से उन्होंने 1544 रन बनाए हैं जबकि 29.72 की औसत से 173 विकेट भी चटकाए हैं।
1 / 5 NEXT
Published 12 Aug 2017, 11:08 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit