Create
Notifications

कप्तान के तौर पर धोनी के आखिरी मैच के 5 यादगार लम्हें

SENIOR ANALYST
Modified 12 Jan 2017
मंगलवार को इंग्लैंड इलेवन के खिलाफ अभ्यास मैच में महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी बार टीम इंडिया की कप्तानी की। हालांकि धोनी अपनी कप्तानी में टीम को आखिरी मैच जिता नहीं सके फिर भी दर्शकों के लिए ये मैच काफी रोमांच भरा रहा। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 304 रन बनाए। कप्तान महेंद्र सिंह ने 40 गेंदों पर 68 रनों की तूफानी पारी खेली। यही वजह रही कि हार के बावजूद भारतीय दशर्कों के पास खुशी मनाने के काफी कारण थे। धोनी के अलावा युवराज सिंह भी अपने पुराने रंग में दिखे और उन्होंने भी तेजतर्रार अर्धशतक जड़ डाला। हालांकि भारतीय पारी के हीरो अम्बाती रायडू रहे जिन्होंने 97 गेंदों पर 100 रन बनाए। इसके बाद वो रिटायर्ड हो गए। हालांकि लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लिश बल्लेबाजों ने काफी अच्छी बल्लेबाजी की और 7 गेंद शेष रहते लक्ष्य को हासिल को कर लिया। सैम बिलिंग्श इंग्लिश टीम की जीत के मुख्य हीरो रहे, उन्होंने 85 गेंदों पर 93 रनों की पारी खेलकर जीत की नींव रखी। वहीं भारत की तरफ से अपना पहला मैच खेल रहे युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 5 विकेट चटकाए। आइए आपको बताते हैं कप्तान के तौर पर धोनी के आखिरी मैच के 5 यादगार लम्हों के बारें में: 5. धोनी के क्रीज पर आते ही दर्शक लगभग पागल हो गए कप्तान के तौर पर जब आखिरी बार धोनी ब्रेबोन स्टेडियम में बल्लेबाजी के लिए उतरे तो दर्शकों के शोर ने उनका स्वागत किया। ऐसा लग रहा था मानो ये धोनी की कप्तानी का आखिरी मैच नहीं बल्कि धोनी का आखिरी मैच है। स्टेडियम में चारों तरफ से धोनी-धोनी की आवाजें आ रही थीं। हालांकि मैच की शुुरुआत से ही दर्शक धोनी-धोनी के नारे लगा रहे थे यहां तक कि जब रायडू और युवराज बल्लेबाजी कर रहे थे तब भी दर्शक केवल धोनी-धोनी का नाम ले रहे थे। लेकिन जब धोनी क्रीज पर उतरे तो स्टेडियम का माहौल धोनीमय हो गया।
1 / 5 NEXT
Published 12 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now