Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारत के 5 सर्वश्रेठ विकेटकीपर

Modified 15 Sep 2017
Advertisement
क्रिकेट में विकेटकीपर की भूमिका सबसे चुनौतीपूर्ण होती है। क्योंकि फील्डिंग के दौरान उसे लगातार सभी गेंदों पर नजर रखनी पड़ती है। स्टंप के पीछे की इस भूमिका को निभाने के लिए फिटनेस व एकाग्रता दो बेहद जरूरी मापदंड हैं। भारत की तरह ही दुनिया के अन्य देश भी आज से दो दशक पहले टीम में विशेषज्ञ विकेटकीपर को शामिल करते थे। लेकिन समय बदला और टीमों में विकेटकीपर बल्लेबाज की डिमांड होने लगी। भारत के पहले विकेटकीपर जनार्दन नवले से लेकर, नाना जोशी, नरेन तमहाने, फारूख इंजीनियर, किरन मोरे, नयन मोंगिया व महेंद्र सिंह धौनी तक बेहतरीन विकेटकीपर हुए हैं। इनमें से नाना जोशी व नरेन तमहाने विशुद्ध विकेटकीपर थे। जबकि फारूख इंजीनियर भारत के पहले वनडे विकेटकीपर थे। आज हम इस लेख में भारत के उन चुनिंदा विकेटकीपर के बारे में बता रहे हैं, जो अबतक के सबसे बेहतरीन विकेटकीपर हैं। सम्मानसहित उल्लेख नरेन तामहाने 11 नरेन तामहाने का जन्म सन् 1931 में मुम्बई में हुआ था, 22 वर्ष की उम्र में तामहाने प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना शुरू किया था। सन् 1955 में नरेन ने पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू किया था। वह भारत के पहले विकेटकीपर थे जिन्होंने 50 शिकार किए थे। जिसमें 35 कैच व 16 स्टंपिंग थी। स्टंप करने की उनकी अपनी अलग स्टाइल थी, वह एक ही बेल गिराते थे। बल्ले से वह खास सफल नहीं हुए थे, अपने दूसरे टेस्ट में नरेन ने 54 रन बनाए थे। सन् 1960 में तमहाने ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया, बाद में वह कई वर्षों तक भारतीय टीम के चयनकर्ता भी रहे।
1 / 6 NEXT
Published 15 Sep 2017, 17:48 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now