Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वनडे क्रिकेट की 5 बड़े अंतर वाली जीत

Modified 18 Jun 2017, 13:29 IST
Advertisement
वनडे क्रिकट की शुरुआत सन 1971 में हुआ था। धीरे-धीरे ये फॉर्मेट क्रिकेट का सबसे लोकप्रिय फॉर्मेट बन गया। इस फॉर्मेट में कई बड़े रिकॉर्ड टूटे और कई महान खिलाड़ी हुए हैं। जिसमें जीत के अंतर का रिकॉर्ड भी टूटा है और नया बना है। टीमों ने 1 रन से लेकर 200 रन के अंतर से मुकाबले जीते हैं। लेकिन इस लेख में हम आपको बड़े अंतर वाले जीत के बारे में बताएंगे। 257 रन – भारत बनाम बरमुडा, दक्षिण अफ्रीका बनाम वेस्टइंडीज दुनिया के दो क्रिकेट पॉवरहाउस टीमों ने ये बड़ी जीत विश्वकप में दर्ज की थी। भारत इतने बड़े अंतर से जीत दर्ज करने वाली पहली टीम बनी थी। ये मैच साल 2007 के विश्वकप में बरमुडा के खिलाफ पोर्टऑफ़स्पेन में हुआ था। बांग्लादेश से पहला मुकाबला हारने के बाद भारतीय टीम को बरमुडा से ये मुकाबला जीतना जरुरी हो गया था। मैच के दूसरे ओवर में रोबिन उथप्पा 3 रन बनाकर आउट हो गया थे। जिसके बाद सौरव गांगुली और वीरेंदर सहवाग ने 202 रन की साझेदारी की। सहवाग ने विश्वकप में अपना पहला शतक बनाया। जो बाद में केविन हर्डल की गेंद पर आउट हो गये। गांगुली 89 रन बनाकर आउट हुए और उसके बाद सचिन और युवराज ने 62 गेंदों में 122 रन ठोंक दिए। जिसमें युवराज ने 46 गेंदों में 83 रन बनाये थे। वहीं सचिन ने 29 गेंदों में 57 रन बनाये थे। जवाब में बरमुडा की तरफ डेविड हम्प ने नाबाद 76 रन बनाये थे। जिसकी मदद से बरमुडा की टीम 156 रन बनाये थे। भारत ये मैच 257 रन से जीत गया था। जो साल 2003 के वर्ल्डकप में नामीबिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के 256 रन की जीत से 1 रन ज्यादा था। साथ ही भारत का स्कोर 413/5 क्रिकेट विश्वकप के इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले श्रीलंका ने 1996 में केंडी  में केन्या के खिलाफ 398/5 रन बनाये थे। साल 2015 के वर्ल्डकप में दक्षिण अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को 257 रन से हराया था। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए प्रोटेस टीम ने हाशिम अमला और फाफ डुप्लेसिस के अर्धशतकों और एबी डिविलियर्स की धुआंधार 66 गेंदों में 162 रन पारी की बदौलत 408/5 का स्कोर खड़ा किया।
1 / 5 NEXT
Published 18 Jun 2017, 13:29 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit