इन 5 कप्तानों पर लग चुका है बॉल टैंपरिंग का आरोप

पिछले कुछ महीनों में क्रिकेट में एक विवाद काफी सुर्खियों में रहा है। यह विवाद है बॉल टैंपरिंग का, इसको लेकर सबसे पहले इस साल की शुरुआत में मार्च के महीने में ऑस्ट्रेलियाई टीम के नेतृत्व करने वाले स्टीव स्मिथ पर यह आरोप लगा था, जिसका बाद उन्हें बॉल टैंपरिंग का दोषी भी पाया गया था। और अब श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांडीमल पर यह बॉल टैंपरिंग का आरोप लगा है। श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांडीमल पर वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में गेंद की स्थिति में बदलाव करने का आरोप है। दिनेश चांडीमल पर आईसीसी आचार संहिता के लेवल 2.2.9 के उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है। यह उल्लंघन गेंद की स्थिति को बदलने से संबंधित है। हालांकि यह पहली बार नहीं है जब किसी क्रिकेट टीम के कप्तान पर बॉल टैंपरिंग का आरोप लगा हो। पहले भी कई कप्तानों पर बॉल टैंपरिंग का आरोप लग चुका है जिसमें वो दोषी भी पाए गए हैं। बॉल टैंपरिंग जैसे आरोपों के बाद खिलाड़ियों पर जुर्माना और मैच खेलने पर प्रतिबंध भी लग चुका है। आइए जानते हैं उन पांच कप्तानों के बारे में जिनपर बॉल टैंपरिंग का आरोप लग चुका है।

#5 माइकल अथर्टन- इंग्लैंड बनाम दक्षिण अफ्रीका, लॉर्ड्स (1994)

साल 1994 में इंग्लैंड के कप्तान माइकल अथर्टन ने बॉल टैंपरिंग की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के बीच लॉर्ड्स के मैदान में पहला टेस्ट मुकाबला चल रहा था और इंग्लैंड के कप्तान माइकल की गेंद के साथ छेड़छाड़ की घटना कैमरे में कैद हो गई। इस मैच में साफ तौर पर देखा गया कि माइकल एथर्टन जेब से कुछ पाउडर निकाल कर गेंद पर घिस रहे थे। हालांकि, अथर्टन ने इन आरोप को नकार दिया था, लेकिन बाद में सच्चाई से पर्दा उठ गया। इस घटना के चलते मैच रैफरी ने उन पर 2000 पाउंड का जुर्माना लगाया था। वहीं इस टेस्ट में इंग्लैंड को हार का सामना भी करना पड़ा था।

#4 इंजमाम उल-हक - इंग्लैंड बनाम पाकिस्तान, द ओवल (2006)

साल 2006 में पाकिस्तान ने इंग्लैंड का दौरा किया। इस दौरान दोनों देशों के बीच 4 टेस्ट, 5 वनडे और 1 टी20 मुकाबला खेला गया। इनमें पहला टेस्ट मैच लॉर्ड्स के मैदान में ड्रॉ हो गया और अगले दो मैचों में पाकिस्तान को इंग्लैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा, पाकिस्तान टेस्ट सीरीज वैसे भी हार चुका था। हालांकि, चौथे और अंतिम टेस्ट में काफी नाटकीय चीजें देखने को मिली। इस मैच में अंपायर डैरेल हेयर और बिली डॉक्ट्रोव ने ये कहते हुए इंग्लैंड को पांच पेनल्टी रन दे दिए कि पाकिस्तान ने बॉल टैंपरिंग की है। पाकिस्तान ने इस फैसले का विरोध किया और टी ब्रेक के बाद कप्तान इंजमाम उल हक ने मैदान पर आने से इंकार कर दिया। इसके बाद अंपायर्स ने इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया। इस घटनाक्रम के बाद कप्तान इंजमाम उल हक पर 4 टेस्ट मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया। हालांकि बाद में आईसीसी ने पाकिस्तान पर लगे इस आरोप को वापिस ले लिया और मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया। लेकिन मैच में बाधा पहुंचाने के चलते इंजमाम पर बैन जारी रहा।

#3 शाहिद आफ़रीदी- ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान, पर्थ (2010)

साल 2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान पाकिस्तान के कप्तान शाहिद आफरीदी को बॉल टैंपरिंग करते हुए पाया गया। इस मैच में कप्तान शाहिद आफरीदी को मैच के दौरान गेंद को चबाते हुए देखा गया था। आफरादी ने गेंद को चबाकर उसके आकार को बदलने की कोशिश की थी। जिसके बाद उन पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि इस घटना के बाद उन्होंने माफी मांगते हुए शर्मिंदगी भी जाहिर की थी।

#2 फ़ाफ़ डू प्लेसी- ऑस्ट्रेलिया बनाम दक्षिण अफ्रीका, होबार्ट (2016)

साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए एडिलेड टेस्ट के दौरान दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फ़ाफ़ डू प्‍लेसी पर बॉल टैंपरिंग का आरोप लगा। कप्तान फाफ डू प्‍लेसी पर आरोप लगा कि मैच के दौरान उन्होंने अपने मुंह से मिंट निकालकर बॉल पर लगाकर उसे चमकाने का प्रयास किया था। हालांकि इस मामले में डू प्लेसी दोषी भी पाए गए थे। इस घटना के बाद आईसीसी के सेक्‍शन 42 (3) का दोषी पाते हुए फाफ डू प्‍लेसी पर 100 फीसदी मैच फीस का जुर्माना लगाया था। वहीं उनके तीन डीमेरिट प्वॉइंट्स भी दर्ज किए गए।

#1 स्टीव स्मिथ - दक्षिण अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया, केप टाउन (2018)

बॉल टैंपरिंग के ताजा मामले में स्टीव स्मिथ विवाद भी शामिल है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इसी साल केपटाउन टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ और पूर्व उप-कप्तान डेविड वॉर्नर के साथ कैमरन बैनक्रॉफ्ट को बॉल टैंपरिंग का दोषी पाया गया था। इस मैच के दौरान बैनक्रॉफ्ट को बॉल को एक पीले टेप से घिसते हुए कैमरे ने कैद कर लिया था। स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात को स्वीकार भी किया कि उन्होंने गेंद की स्थिति में बदलाव करने की कोशिश की थी। कप्तान स्टीव स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि यह एक जानबूझकर और पूर्व-योजनाबद्ध तरीके से किया गया काम था और कप्तान को इसकी जानकारी थी। उनको लगा कि यह उन्हें गेंद में रिवर्स स्विंग लाने में मदद करेगा। इस घटना के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ और डेविड वार्नर पर एक साल जबकि बैनक्रॉफ्ट पर सात महीने का प्रतबिंध लगाया दिया। लेखक: साहिल जैन अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor