Create
Notifications

ये हैं वो 5 धाकड़ कप्तान जिन्होंने एक कैलेंडर वर्ष में बनाए सबसे ज़्यादा शतक

Himanshu Kothari
visit

क्रिकेट के मैदान में टीम का कप्तान जितना प्रभावशाली होता है उसकी टीम भी उतनी प्रभावित करती है। टीम का कप्तान ही होता है जो पूरी टीम को मार्गदर्शित करने का काम करता है। अगर टीम का कप्तान अच्छा प्रदर्शन करता है पूरी टीम को उससे प्रेरणा भी मिलती है। इसके साथ ही टीम के खिलाड़ियों में जोश और जज्बा भरने का काम भी टीम के कप्तान को बखूबी करना होता है। मुश्किल हालात में अगर कोई टीम लड़खड़ा जाती है संभालने का काम भी टीम के कप्तान का ही होता है। टीम का कप्तान अपने प्रदर्शन से भी सभी खिलाड़ियों के लिए उदाहरण पेश कर सकता है। आइए जानते हैं ऐसे ही पांच कप्तानों के बारे में जिन्होंने एक कैलेंडर वर्ष में सबसे अधिक अंतर्राष्ट्रीय शतक अपने नाम किए हैं: महेला जयवर्धने (7, 2007) JAYA साल 2007 में श्रीलंका के कप्तान महेला जयवर्धने ने 7 अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे किए और एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा शतक और स्कोर हासिल करने वाले अपने देश के पहले और एकमात्र बल्लेबाज बने। 2007 में खेले गए 45 मैचों में जयवर्धने ने 51.86 के औसत से 2230 रन बनाए। जयवर्धने ने उस साल बांग्लादेश और इंग्लैंड के खिलाफ शानदार प्रदर्शन दिखाया और दोनों टीमों के खिलाफ 2-2 शतक ठोक डाले। साल के दिसंबर में गॉल में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के दौरान उनका उच्चतम स्कोर आया था। जयवर्धने इस मैच में 213 रन पर नाबाद रहे। टेस्ट मैचों में ये उनका चौथा दोहरा शतक था और ये मैच ड्रॉ रहा था। ब्रायन लारा (7, 2003) LARA साल 2003 में वेस्टइंडीज के कप्तान ब्रायन लारा ने 25 मैचों में 64.00 के औसत से 1984 रन बनाए थे। 5 टेस्ट और 2 वनडे शतकों के साथ लारा लगभग सभी विपक्षी टीमों पर हावी रहे। इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और जिम्बाब्वे के खिलाफ शानदार 2-2 शतक जड़े। उस साल लारा ने 2 दोहरे शतक भी ठोके। इनमें से एक श्रीलंका के खिलाफ तो दूसरा दूसरा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगाया। साल के दौरान लारा का सबसे बड़ा स्कोर ग्रोस आइलेट में टेस्ट के दौरान आया, जहां उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 209 रन बनाए। हालांकि इस साल लारा की 134 गेंदों में 116 रनों की पारी सबसे यादगार पारियों में रही, जब वेस्टइंडीज ने 2003 के विश्वकप में मेजबान दक्षिण अफ्रीका को टूर्नामेंट के शुरुआती दौर में ही पटखनी दे दी थी। ग्रीम स्मिथ (9, 2005) SMITH साल 2005 में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ग्रीम स्मिथ ने 9 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाए। 2005 में स्मिथ ने 35 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 50.87 के औसत से 2035 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने टेस्ट में 4 शतक और एकदिवसीय मैचों में 5 शतक लगाया। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ चार शतक ठोके। पोर्ट ऑफ स्पेन में उनका साल का सबसे बड़ा स्कोर 148 आया था। इस मैच में उन्होंने मेजबान टीम को 8 विकेट से हराकर दक्षिण अफ्रीका को जीत दिलाई थी। इसके बाद लगातार 3 शतक जमैका (103), बारबाडोस (104) और एंटिगुआ (126) में उनके बल्ले से आए। रिकी पॉन्टिंग (9, 2005 और 2006) PONTING साल 2005 में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने भी एक कैलेंडर वर्ष में 9 अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ने का कारनामा किया है। यही नहीं, पॉन्टिंग विश्व में एकमात्र कप्तान है, जो लगातार दो साल तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा रन बनाने में सफल रहे हैं। साल 2005 में पॉन्टिंग ने 46 मैचों में 2833 रन बनाए थे, जबकि 2006 में उन्होंने 35 मैंचों में 2164 रन बनाए। इसके अलावा साल 2006 के आईसीसी पुरस्कारों में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पॉन्टिंग को आईसीसी टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर के खिताब से भी नवाजा गया। जनवरी 2006 में अपने 100 वें टेस्ट में पॉन्टिंग ने सिडनी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दोनों पारी में शतक जड़ा था। उन 12 महीनों में, पॉन्टिंग ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5 शतक लगाए, जिसमें वॉन्डर्रस पर 105 गेंदों में 164 रन शामिल थे, जब मेजबान टीम ने रिकॉर्ड 438 रनों का पीछा किया था। उसी साल उन्होंने ओल्ड ट्रैफर्ड में शानदार 156 रन बनाए। उनकी ये पारी सभी समय की सबसे बड़ी एशेज पारी में से एक मानी जाती है। विराट कोहली (10*, 2017) KOHLI एक कैलेंडर वर्ष में सबसे शतक बनाने वालों की लिस्ट में टीम के कप्तान विराट कोहली का नाम न हो ऐसा हो ही नहीं सकता है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने 16 नवंबर को ईडन गार्डन्स में श्रीलंका के खिलाफ 104 रन बनाए थे, जो कि उनका एक साल में नौवां शतक था। इस शतक के साथ ही उन्होंने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 50 शतक भी पूरे कर लिए। कोहली 348 पारियों में 50 अंतरराष्ट्रीय शतक बनाकर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हाशिम अमला के साथ संयुक्त रूप से इस उपलब्धि को हासिल करने वाले बल्लेबाज बने हुए हैं। इसके बाद नागपुर में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए अगले टेस्ट मैच में उन्होंने इस साल का अपना 10 वां शतक भी पूरा कर लिया। इसके साथ ही इस साल किसी भी कप्तान ने कोहली से ज्यादा शतक नहीं बनाए हैं। वहीं कोहली ने साल 2012 और 2014 में खुद के बनाए 8 शतकों का रिकॉर्ड भी तोड़ डाला है। इस साल कोहली ने भारत के न्यूजीलैंड दौरा पर 22 अक्टूबर 2017 को पहले एकदिवसीय मैच में अपने करियर का 200 वां मैच खेला और इस मैच में शतक लगा कर कोहली ने अपने वनडे करियर का 31 वां शतक भी पूरा कर डाला। उन्होंने वनडे में शतक की सूची में रिकी पॉन्टिंग को पीछे छोड़ दिया। अब कोहली वनडे में सबसे ज्यादा शतक बनाने वालों की सूची में दूसरे पायदान पर हैं। कोहली से ऊपर सबसे ज्यादा शतकों के मामले में सचिन तेंदुलकर का नाम आता है, जिन्होंने वनडे करियर में 49 शतक लगाए हैं।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now