Create

5 ऐसे क्रिकेटर और कबड्डी ख़िलाड़ी जो प्रदर्शन और प्रतिभा में एक समान हैं

Rahul
ss3

वर्तमान समय में भारत देश में क्रिकेट और कबड्डी खेल को सबसे ज्यादा सुर्खियाँ मिल रही हैं। एक तरफ जहाँ देश में धर्म से ऊपर कहे जाने वाले क्रिकेट खेल की छोटी सी जानकारी भी बड़ी खबर में तब्दील हो जाती है, तो दूसरी तरफ प्रो कबड्डी के शुरू होने से भारत का अपना कबड्डी खेल इस समय सबसे बेहतरीन चल रहा है। कबड्डी को विश्व में प्रसिद्ध करने के लिए पिछले 3 साल से प्रो कबड्डी ने अपना भरपूर योगदान दिया है। छोटे गाँव से आने वाले ख़िलाड़ी कबड्डी के जरिए विश्व में प्रसिद्ध हो गए हैं। क्रिकेट में जहाँ भारतीय टीम टेस्ट और वनडे में नंबर एक स्थान पर चल रही है, तो भारतीय कबड्डी का परचम हमेशा से विश्व में लहरया है। यह दोनों खेल अपने आप में बहुत अलग है लेकिन कुछ चीज़ें ऐसी है जो एक समान है। जिसमें कबड्डी और क्रिकेट के खिलाड़ियों का प्रदर्शन एक उदहारण के तौर पर देखा जा सकता है और साथ ही उनकी खूबियाँ भी देखी जा सकती है। 5 ऐसे क्रिकेटर और कबड्डी ख़िलाड़ी जो एक समान हैं : सुरेंदर नाडा और भुवनेश्वर कुमार क्रिकेट के अंतिम ओवरों में एक गेंदबाज और कबड्डी में एक डिफेंडर की भूमिका एक समान होती है। दोनों ही ख़िलाड़ी समझते है कि विपक्षी टीम को किस प्रकार से रोकना है और यह काम क्रिकेट में भारतीय टीम की तरफ से भुवनेश्वर कुमार करते हुए नजर आते हैं, तो कबड्डी में भारतीय टीम के दमदार डिफेंडर सुरेंदर नाडा इस कार्य को बखूबी निभाते हैं। दोनों खिलाड़ियों में बहुत सी एक समान बाते हैं। दोनों ही भारत देश के एक छोटे गाँव से आते है और जिस राज्य (हरियाणा और उत्तर प्रदेश) से दोनों ख़िलाड़ी आते हैं वह खेल के मामले में सबसे बेहतरीन राज्य माने जाते है। क्रिकेट में जहाँ पारी के अंतिम ओवरों में भुवि अपनी सटीक लाइन लेंथ के साथ यॉर्कर गेंद और गति मिश्रण करके बल्लेबाजों को अपने जाल में फंसाते है, तो नाडा को भी डिफेंस में एंकल होल्ड और डैश में महारथ हासिल है। सुरेंदर नाडा ने भारतीय टीम के लिए विश्व कप जीता है, तो भुवनेश्वर कुमार ने आईपीएल सीजन 9 का खिताब अपने नाम किया है। रोहित शर्मा और रोहित कुमार 660d3-1507571100-800 दोनों खिलाड़ियों का पहला नाम एक जैसा होने के साथ बहुत सी ऐसी खूबियाँ है, जो एक समान है। दोनों ही ख़िलाड़ी अपने-अपने खेल में महारथी हैं। दोनों ने अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए यह साबित किया है कि इन दोनों खिलाड़ियों में कितनी प्रतिभा है। दोनों खिलाड़ियों के खेलने का स्टाइल और जोश एक जैसा दिखता है। क्रिकेट में जहाँ रोहित शर्मा की ड्राइव और पुल शॉट्स उनको अपने खेल का बेहतरीन ख़िलाड़ी बनाती है, तो कबड्डी में रोहित कुमार का रनिंग हैंड टच और फ्रॉग जम्प उनकी कबड्डी की प्रतिभा को दर्शाता है। रोहित कुमार प्रो कबड्डी लीग में बेंगलुरु बुल्स के कप्तान के रूप में नजर आते हैं, तो रोहित शर्मा भी इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस के सफल कप्तान हैं। दोनों खिलाड़ियों का नेतृत्व भी उनके खेल की ताकत को बयां करता है। दोनों खिलाड़ियों ने लीग के अपने पहले क्लब से ख़िताब अपने नाम किये हैं। रोहित कुमार ने पीकेएल के सीजन 3 में पटना पाइरेट्स की तरफ से ख़िताब जीता, तो रोहित शर्मा ने आईपीएल के दूसरे सीजन में डेक्कन चार्जर्स की तरफ से ख़िताब अपने नाम किया था। युवराज सिंह और अजय ठाकुर ss4 क्रिकेट में भारतीय टीम के लिए बड़े टूर्नामेंट में अगर किसी ख़िलाड़ी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, तो एक ही नाम सभी क्रिकेट दर्शकों के जहन में आता है और वह केवल युवराज सिंह का नाम है। भारतीय टीम को पहला टी20 विश्व कप और विश्व कप 2011 जिताने में युवराज सिंह ने अपना अहम योगदान दिया था। अगर बात कबड्डी में ऐसे ही ख़िलाड़ी की जाए, तो उसमे सबसे ऊपर भारतीय टीम के स्टार रेडर अजय ठाकुर का नाम आता है। भारतीय टीम के लिए विश्व कप 2016 के फाइनल मुकाबले में अजय ठाकुर का प्रदर्शन सबसे शानदार रहा। ईरान के खिलाफ उन्होंने अकेले दम पर 12 अंक हासिल करते हुए भारत को मैच जिताया था और साथ ही एशियाई खेल 2014 में भारतीय टीम के जीत के हीरो भी अजय ठाकुर रहे थे। बड़े मौकों पर बड़े ख़िलाड़ी ही टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए नजर आते हैं। क्रिकेट में युवराज सिंह, तो कबड्डी में अजय ठाकुर ने भारतीय टीम के लिए यह कारनामा किया है। आईपीएल में युवराज सिंह कई टीमों के साथ मैच खेलते हुए टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है, तो अजय ठाकुर ने भी प्रो कबड्डी में कई टीमों के लिए खेलते हुए उम्दा प्रदर्शन किया है। एमएस धोनी और अनूप कुमार ss2 यदि क्रिकेट में कैप्टन कूल का जिक्र हो तो भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम सबके जहन में आएगा और अगर आप एक कबड्डी प्रशंसक हैं, तो आप अनूप कुमार का नाम सबसे ऊपर रखेंगे। दोनों ही खिलाड़ियों ने भारत के लिए अपने नेतृत्व में विश्वकप हासिल किया है। एमएस धोनी ने 2011 विश्व कप, तो अनूप कुमार ने 2016 विश्वकप भारत को अपनी कप्तानी में जिताया है। एक तरफ जहाँ एमएस धोनी का हेलीकाप्टर शॉट विश्व भर में मशहूर है, तो कबड्डी में बोनस के बादशाह और टो टच में अनूप कुमार का किसी ख़िलाड़ी के पास कोई जवाब नहीं नजर आता है। दोनों ही खिलाड़ियों ने कप्तानी में अपने आप को विश्व का सबसे उम्दा कप्तान साबित किया है। प्रो कबड्डी में जहाँ अनूप कुमार ने अपनी टीम यू मुम्बा को पहले 3 सीजन में फाइनल तक का सफ़र तय करवाया, तो दूसरी तरफ एमएस धोनी ने आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स को कई बार फाइनल की राह तक पहुँचाया है। अनूप ने प्रो कबड्डी का ख़िताब कप्तान के रूप में 1 बार हासिल किया है, तो धोनी ने आईपीएल के दो ख़िताब अपने नाम किये हैं विराट कोहली और राहुल चौधरी ss5 मौजूदा समय में यदि कोई ख़िलाड़ी क्रिकेट में अपने बल्ले से लगातार रन बरसा रहा है, तो वह भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली हैं। जिन्होंने पिछले कुछ सालों से अपनी बल्लेबाजी में विश्व स्तरीय बदलाव लाकर सभी बल्लेबाजों से बेहतरीन बल्लेबाजी की है। क्रिकेट के बाद अगर कबड्डी में भी उनके जैसे ख़िलाड़ी की बात की जाए, तो राहुल चौधरी से उम्दा ख़िलाड़ी कोई नहीं मिलेगा। एक तरफ जहाँ कोहली को रन मशीन कहा जाता है, तो राहुल को रेड मशीन के नाम से पहचाना जाता है। प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में सबसे बेहतरीन रेडर के रूप में उभरे राहुल का प्रदर्शन पिछले सीजन से शानदार रहा है। सीजन 4 में उन्होंने सबसे ज्यादा 146 अंक हासिल कर अपने आप को कबड्डी का स्टार रेडर साबित किया। राहुल के नाम 700 से अधिक रेड्स पॉइंट हैं, जो प्रो कबड्डी में किसी भी ख़िलाड़ी के सबसे ज्यादा अंक है। यदि क्रिकेट की बात जाए तो विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय और आईपीएल में उम्दा प्रदर्शन किया है। दोनों ही ख़िलाड़ी विश्व विजेता भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं। विराट कोहली ने 2011 का विश्व कप अपने नाम किया, तो राहुल चौधरी ने 2016 का विश्व कप अपने नाम किया है।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment