Create
Notifications

5 ऐसे खिलाड़ी जिन्हें मजबूरन क्रिकेट को कहना पड़ा अलविदा

Syed Hussain
visit

कभी कुछ चीज़ें ऐसी हो जाती हैं, जिसके बारे में आप सोच भी नहीं पाते। कुछ ऐसा ही हुआ इंग्लैंड के दाएं हाथ के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज़ जेम्स टेलर के साथ जिन्होंने अचानक संन्यास लेकर सभी को चौंका दिया। क्रिकेट जगत में ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जिन्हें न चाहते हुए भी क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा। आपको मिलाते हैं 5 क्रिकेटर्स से जिन्हें मजबूरन क्रिकेट के मैदान को कहना पड़ा अलविदा:

#1 जेम्स टेलर

CRICKET-RSA-ENG-TEST

इंग्लैंड के मिडिल ऑर्डर टेस्ट बल्लेबाज़ जेम्स टेलर ने 12 अप्रैल 2016 को दिल की गंभीर बीमारी की वजह से क्रिकेट को अलविदा कह दिया। 26 वर्षीय इस दाएं हाथ के बल्लेबाज़ ने इंग्लैंड के लिए 7 टेस्ट और 27 वनडे मैच में शिरकत की है। टेलर दिल की गंभीर बीमारी Arrhythmogenic Right Ventricular Arrhythmia (ARVA) से पीड़ित हैं। टेलर की बीमारी ठीक वैसी ही जो पूर्व फ़ुटबॉलर फैबरिस मुआम्बा को थी, मुआम्बा को एफ ए कप के दौरान 2012 में मैदान पर ही दिल का दौरा पड़ गया था। टेलर इसके लिए सर्जरी कराने वाले हैं।

(ये हफ़्ता मेरे ज़िंदगी का सबसे मुश्किल है, मेरी दुनिया सही नहीं चल रही, लेकिन मैं यहां रहने के लिए हूं और जूझता रहूंगा।)

#2 क्रेग कीस्वेटर

kieswetter1_2974578b

इंग्लैंडे के ही एक और क्रिकेटर क्रेग कीस्वेटर को भी संन्यास लेने के लिए मजबूर होना पड़ा था। इंग्लैंड के लिए 46 वनडे और 25 टी-20 खेलने वाले कीस्वेटर को 2010 वर्ल्ड टी-20 फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 49 गेंदो पर 63 रन बनाने के लिए अभी भी याद किया जाता है। इंग्लैंड को वर्ल्ड टी-20 चैंपियन बनाने में क्रेग कीस्वेटर ने अहम योगदान दिया था। घरेलू क्रिकेट में नॉर्थम्पटनशायर के ख़िलाफ़ खेलते हुए कीस्वेटर तब चोटिल हो गए थे, जब बल्लेबाज़ी के दौरान गेंद उनके हेलमेट की ग्रिल से होते हुए नाक और आंख में लग गई थी। जिससे कीस्वेटर की नाक टूट गई थी और आंख में भी चोट आई थी। हालांकि चोट के बाद भी कीस्वेटर ने वापसी की, लेकिन चोट का असर ये था कि सिर्फ़ दो मैचों के बाद उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कह डाला।

#3 मार्क बाउचर

25hit-boucher

दक्षिण अफ़्रीका के पूर्व विकेटकीपर और बल्लेबाज़ मार्क बाउचर को भी क्रिकेट से अलविदा चोट की वजह से ही कहना पड़ा था। इंग्लिश काउंटी समरसेट के ख़िलाफ़ टूर मैच के दौरान प्रोटियाज़ स्पिनर इमरान ताहिर की एक गेंद विकेट से टकराई और गिल्ली मार्क बाउचर की बाइं आंख में जा लगी। चोट इतनी ज़्यादा थी कि बाउचर की आंख से ख़ून बहने लगा और वह मैदान छोड़ कर बाहर चले गए, जिसके बाद वह कभी दोबारा क्रिकेट नहीं खेल पाए और उन्हें भी न चाहते हुए समय से पहले क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा। बाउचर ने दक्षिण अफ़्रीका के लिए 147 टेस्ट, 295 वनडे और 25 टी-20 मैच खेले, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बाउचर ने कुल 999 शिकार किए थे, जो आज भी रिकॉर्ड है।

#4 सबा करीम

012169

इस फ़हरीस्त में एक और विकेटकीपर का नाम शामिल है, वह हैं भारतीय विकेटकीपर सबा करीम। साल 2000 में एशिया कप के दौरान सबा करीम विकेट के पीछे थे, जब लेग स्पिनर अनिल कुंबले की एक गेंद बांग्लादेशी बल्लेबाज़ हबीबुल बशर के पैड से टकराती हुई करीम की आंख में जा लगी। सबा करीम को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन चोट इतनी गंभीर थी कि कई महीनों बाद भी करीम को देखने में तक़लीफ़ होती थी। लिहाज़ा इस भारतीय विकेटकीपर को भी समय से पहले अलविदा कहना पड़ गया। करीम ने भारत के लिए 1 टेस्ट और 34 वनडे खेला।

#5 नारी कॉन्ट्रैक्टर

Nari-Contractor

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नारी कॉन्ट्रैक्टर के लिए भी चोट ही संन्यास की वजह बनी। 1960 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेलते हुए नारी कॉन्ट्रैक्टर को तेज़ गेंदबाज़ चार्ली ग्रिफिथ की गेंद सिर में जा लगी। जिसके बाद कॉन्ट्रैक्टर को अस्पताल ले जाया गया। 6 दिनों तक नारी कॉन्ट्रैक्टर को होश नहीं आया था, उन्हें वेस्टइंडीज़ के महान क्रिकेटर फ़्रैंक वॉरेल ने ख़ून दिया था। नारी कॉन्ट्रैक्टर को 6 दिनों बाद होश तो आया और ठीक भी हुए, लेकिन दोबारा कभी भारत के लिए खेल नहीं पाए।

youtube-cover
Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now