Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

क्रिकेट इतिहास के 5 ऐसे खिलाड़ी जिनका करियर चोट की वजह से पहले ही समाप्त हो गया

नाथन ब्रैकन
नाथन ब्रैकन
SENIOR ANALYST
Modified 05 Jun 2020, 10:25 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

क्रिकेट इतिहास में अभी तक कई ऐसे खिलाड़ी हुए हैं जिन्होंने अपनी प्रतिभा और प्रदर्शन से पूरी दुनिया में नाम कमाया है। क्रिकेट इतिहास की अगर बात करें तो सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, रिकी पोंटिंग, वीरेंदर सहवाग, स्टीव वॉ, कपिल देव, इमरान खान, वसीम अकरम, ब्रायन लारा, कर्टनी वॉल्श, विव रिचडर्स, आप नाम लेते जाएंगे लेकिन ये लिस्ट कभी खत्म नहीं होगी।

क्रिकेट इतिहास में जब भी इन क्रिकेटरों का नाम लिया जाता है तो बड़े ही आदर के साथ लिया जाता है। इन्होंने लंबे समय तक अपने देश के लिए क्रिकेट खेला और कई रिकॉर्ड अपने नाम किए। हालांकि कुछ दुर्भाग्यशाली क्रिकेटर ऐसे भी थे जो काफी प्रतिभाशाली थे लेकिन चोट की वजह से उनका करियर समय से पहले ही समाप्त हो गया। इस लिस्ट में कई दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ियों के नाम हैं। हम आपको क्रिकेट इतिहास के 5 ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिनका करियर चोट की वजह से काफी पहले ही खत्म हो गया और फिर ये आगे नहीं खेल पाए।

ये भी पढ़ें: युवराज सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज, युजवेंद्र चहल को लेकर हुआ था विवाद

क्रिकेट इतिहास के 5 ऐसे खिलाड़ी जिनका करियर चोट के कारण पहले ही खत्म हो गया

1.फिल ह्यूज

फिल ह्यूज
फिल ह्यूज

फिल ह्यूज वो खिलाड़ी थे जिनके नाम सबसे कम उम्र में एक ही टेस्ट मैच में दो शतक लगाने का रिकॉर्ड है। उन्होंने ये कारनामा महज 20 साल की उम्र में कर दिखाया था। फिल ह्यूज 25 नंवबर को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में जबरदस्त तरीके से बैटिंग कर रहे थे और स्टैंड्स में उनकी मां और बहन बैठकर उनके खेल का लुत्फ भी उठा रहे थे। जब वो 63 रन पर थे, तभी एक बाउंसर गेंद उनके सिर पर आकर लगी। वो तुरंत वहीं गिर पड़े और उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां पर उनकी सर्जरी हुई लेकिन इसके बावजूद उनकी मौत हो गई।

ये भी पढ़ें: एम एस धोनी के कप्तान बनने में क्या था राहुल द्रविड़ का रोल ?

महज 25 साल की उम्र में ही फिल ह्यूज ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया और 63 रन पर वो हमेशा के लिए नाबाद रह गए। इस घटना से पूरा क्रिकेट जगत सकते में आ गया था। इस घटना के बाद से न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान के खिलाफ चल रहे टेस्ट मैच में एक भी बाउंसर गेंद नहीं फेंकने का फैसला लिया था। आज भी जब ऑस्ट्रेलियाई टीम सिडनी में कोई क्रिकेट मैच खेलती है तो वो फिल ह्य़ूज को श्रद्धांजलि जरुर देती है। डेविड वॉर्नर ने एससीजी में ही तिहरा शतक लगाकर उसे फिल ह्यूज को समर्पित किया था।

1 / 5 NEXT
Published 05 Jun 2020, 10:25 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit