5 गेंदबाज़ जिनके नाम हैं टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा मेडन ओवर डालने का रिकॉर्ड

50170-1470046991-800

किसी भी कप्तान के लिए एक कंजूस गेंदबाजड, जो आसानी से रन न दे किसी सपने से कम नहीं होता। एक गेंदबाज़ के तौर पर बल्लेबाज़ पर दबाव डालने का सबसे अच्छा तरीक़ा है ज़्यादा से ज़्यादा डॉट बॉल फेंकना। अगर नियमित रूप से गेंदबाज़ ऐसा करता है तो परेशान होकर बल्लेबाज़ कोई ग़लती ज़रूर करता है और फिर विकेट गंवा देता है। टेस्ट क्रिकेट को समय, विकेट और संयम का खेल माना जाता है। जब गेंदबाज़ दबाव बना रहा होता है तो बल्लेबाज़ पर रन बनाने का दबाव आ जाता है। इस दौरान गेंदबाज़ को बस अपने ऊपर भरोसा रखना चाहिए और बल्लेबाज़ को उसी जगह लगातार गेंदबाज़ी करानी चाहिए, जहां वह रन बना पा रहा हो और बोर हो रहा हो। हम आपके सामने क्रिकेट इतिहास के ऐसे ही 5 गेंदबाज़ों की फ़हरिस्त लेकर आए हैं जिनके नाम सबसे ज़्यादा मेडन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड दर्ज है। #5 वीनू मानकंड, 47 मेडन, भारत vs इंग्लैंड, 1951 भारत के महान ऑलराउंडर वीनू मानकंड के नाम वैसे तो कई रिकॉर्ड दर्ज हैं, उनमें से एक है सबसे ज़्यादा मेडन ओवर फेंकने रिकॉर्ड। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच के दौरान वीनू मानकंड ने 76 ओवर में 47 मेडन फेंकते हुए 4 विकेट झटके थे। बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ वीनू मानकंड दुनिया के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर में से एक माने जाते हैं। 1946 में मानकंड ने भारत के लिए डेब्यू किया था, और फिर 44 टेस्ट मैचो में भारत ता प्रतिनिधित्व किया था। 13 साल के क्रिकेट करियर में इस ऑलराउंडर ने गेंद से 162 विकेट और बल्ले से 2019 रन बनाए थे। बल्लेबाज़ी में भी महान वीनू मानकंड के नाम एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है, जब सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर उन्होंने 231 रनों की पारी खेली थी और पंकज रॉय के साथ मिलकर न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पहले विकेट के लिए 413 रनों की साझेदारी निभाई थी, जो आज तक क़ायम है। #4 विलियम एटेवेल, 47 मेडन, इंग्लैंड vs ऑस्ट्रेलिया, 1885 attewell-1470129280-800 विलिय एटेवेल ने तब ये रिकॉर् अपने नाम किया था जब टेस्ट क्रिकेट में कोई समय सीमा नहीं होती थी। एडेवेल ने फरवरी 1885 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 71 ओवर फेंके थे, जिसमें उन्होंने 47 मेडन डाले थे और 4 विकेट भी हासिल किए थे। विलियम ऑफ़ साइड की ओर सारे खिलाड़ियों को रख दिया करते थे, और ऑफ़ से काफ़ी बाहर गेंद फेंका करते थे, जिसे 'ऑफ़ थियोरी' के नाम से भी जाना जाता है। विलियम ने इंग्लैंड के लिए 10 टेस्ट खेले थे और 429 प्रथम श्रेणी मैचों में उन्होंने 1951 विकेट हासिल किया। #3 अल्फ़ वैलेंटाइन, 49 मेडन और 47 मेडन, वेस्टइंडीज़ vs इंग्लैंड, 1950 और जून 1950 alf-valentine-1470118448-800 इस फ़हरिस्त में वेस्टइंडीज़ के दिग्गज बाएं हाथ के स्पिनर अल्फ़ वैलेंटाइन एक बार नहीं बल्कि दो-दो बार नज़र आ रहे हैं। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेली गई सीरीज़ में इस गेंदबाज़ ने दो बार 47 या उससे ज़्यादा मेडन ओवर फेंके। अल्फ़ वैलेंटाइन के नाम एक टेस्ट में भी सबसे ज़्यादा मेडन ओवर फेंकने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ एक टेस्ट में 75 ओवर डाले थे, पहली पारी में 28 मेडन और दूसरी पारी में 47 मेडन। उसी मैच में उनके जोड़ीदार सोनी रामदिन ने भी 70 मेडन ओवर फेंका था, वैलेंटाइन ने 7 विकेट भी झटके थे और वेस्टइंडीज़ को जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की थी। वैलेंटाइन ने वेस्टइंडीज़ के लिए 36 टेस्ट मैच खेले थे और 125 प्रथम श्रेणी मैचों में भी उन्होंने 475 विकेट लिए थे। #2 टॉम गैरेट, 55 मेडन, ऑस्ट्रेलिया vs इंग्लैंड, 1886 cricket-garrett-ausl-1470046916-800 टॉम गैरेट ने एक पारी में 55 मेडन ओवर डाले थे, जी हां 55 मेडन ओवर। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ओवल में अपनी रफ़्तार और कसी हुई लाइन लेंथ से इंग्लिश बल्लेबाज़ों को इस गेंदबाज़ ने ख़ूब परेशान किया था। गैरेट ने प्रथम श्रेणी मैचों में न्यू साउथ वेल्स का प्रतिनिधित्व किया था, जहां उन्हें 160 मैचों में 18.72 की बेहतरीन औसत से 446 विकेट मिले थे। #1 बॉबी पील, 56 मेडन, इंग्लैंड vs ऑस्ट्रेलिया, 1885 peel-1414495640-1470046899-800 इस फ़हरिस्त में टॉप पर हैं इंग्लैंड के बाएं हाथ के स्पिनर बॉबी पील जिन्होंने 1885 में एक पारी में 56 ओवर मेडन फेंके थे और आज तक ये इतिहास क़ायम है। टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में सबसे ज़्यादा 56 ओवर मेडन डालने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बॉबी पील के ही नाम है। पील एक बेहतरीन ऑलराउंडर थे, उन्होंने काउंटी क्रिकेट यॉर्कशायर के लिए खेली जहां 436 मैचों में उन्होंने 1775 विकेट हासिल किए। इंग्लैंड के लिए इस महान गेंदबाज़ ने 20 टेस्ट मैच खेले।

Edited by Staff Editor