Create
Notifications

भारतीय टीम के 5 मौजूदा खिलाड़ियों के निक नेम और उसके पीछे की दिलचस्प कहानी

518156836
चित्रा सिंह

क्रिकेट एक खेल नहीं बल्कि धर्म है इस देश में। इसका नशा कुछ ऐसा हैं कि इसका जुनून लोगों के सर चढ कर बोलता है। किसी मैच में न खेल पाने पर जहां प्रशंसकों का गुस्सा झेलना पड़ता है,तो वहीं अपने पसंदीदा खिलाड़ियों के लिए खेल प्रेमियों की दीवानगी के नज़ारे भी आम है। मैदान पर हाथों में अपने फेवरेट खिलाड़ी के पोस्टर, किसी शहर पहुंचने की खबर मिलते ही होटल के बाहर सिर्फ एक झलक पाने के लिए घंटो का इंतजार भी सिर्फ क्रिकेट में ही नसीब हो पाता है। इस खेल में खेल प्रेमियों की रुचि सिर्फ खेल तक नहीं सीमित,बल्कि प्रशंसक अपने पसंदीदा खिलाड़ी की प्रोफेशनल से लेकर पर्सनल तक हर खबर जानना चाहते हैं। खेल के वक्त ड्रेसिंग रूम में क्या होता है से लेकर किस तरह खिलाड़ी जीत का जश्न मना रहे हैं, सब कुछ जानने में दिलचस्पी होती है। ड्रेसिंग रूम में भी ऐसी ही कई दिलचस्प बातें होती हैं जिनके बारे में ड्रेसिंग रूम के बाहर मौजूद खेल प्रेमी जानना तो चाहते हैं पर जान नहीं पाते। अक्सर हम देखते हैं कि कुछ खिलाड़ियों को उनके साथी मैदान और मैदान के बाहर किसी औऱ नाम से पुकारते हैं। इसके पीछे भी कई दिलचस्प कहानियां हैं कई ऐसै किस्से ,कहानियां औऱ घटनाए हैं जिनकी वजह से इन खिलाड़ियों को अलग नाम से बुलाया जाता हैं। कभी-कभी ये उनकी मर्जी से मिलता है तो कभी-कभी ना चाहते हुए भी उनको निकनेम मिल जाता हैं। उदाहरण के तौर पर राहुल द्रविड़ क्रिकेट जगत में भले ह ‘द वॉल’ और ‘मिस्टर भरोसेमंद’ के नाम से जाने जाते हैं लेकिन उनके साथियों मे उनका नाम जैमी रखा था। दरअसल द्रविड़ ने एक जैम का विज्ञापन किया था और इसके बाद से ही उनके साथी खिलाड़ियों ने उनका नाम जैमी रख दिया । तो आइए आज आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के निक नेम के बारे में बताते हैं और उसके पीछे कि दिलचस्प कहानी भी:- विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्ट मैचों की सीरीज को अपने नाम करने औऱ इस एक ही सीरीज़ में कई रिकॉर्ड तोड़ने के बाद इस वक्त फिलहाल विराट सीरीज को 5-0 से अपने नाम कर इंगलैड का सपूड़ा साफ करने में व्यस्त है । इस पूरी सीरीज में न सिर्फ उन्होंने अपने बल्ले का दम दिखाया है बल्कि कप्तानी का भी लोहा मनवाया है। इस बात में कोई दो राय नहीं की कप्तान कोहली ने पिछले कुछ वक्त में न सिर्फ खुद को बतौर एक खिलाड़ी बेहद दमदार बनाया है बल्कि पूरी टीम को भी। 27 साल के विराट कोहली कई मायनों में टीम के लिए एक ऐसै खिलाड़ी के तौर पर सामने आए हैं जिन्हे देखकर टीम का हौसला बढ़ जाए। एक कप्तान के तौर पर भी टीम में जीत के लिए जुनून पैदा किया है। क्रिकेट के हर फार्मेट में विराट अपने आप को साबित कर चुके हैं। विराट टीम इंडिया के लिए अब तक के सबसे आक्रामक खिलाड़ी के तौर पर सामने आ रहे हैं। इस बात से सब इत्तेफाक रखते हैं औऱ उनकी खेल के मैदान के बाहर की जिन्दगी के बारे में भी काफी कुछ जानते है पर कम ही लोग उनका निक नेम जानते है ।टीम इंड़िया के इस विराट कप्तान को उनके साथी चीकू के नाम से बुलाते है। इस नाम के पीछे की कहानी भी इस नाम की तरह ही दिलचस्प है ये नाम कोहली को दिल्ली औऱ मुम्बई के बीच हुए रणजी मैच के दौरान दिया गया। दरअसल हुआ कुछ यूं कि उन दिनों दिल्ली के इस लड़के विराट ने खेलना शुरू ही किया था औऱ हमेशा कि तरह उस वक्त भी उतने ही आक्रामक औऱ उत्साहित लेकिन उस दिन उनके उत्साह की एक औऱ वजह थी उनका नया हेयर स्टाइल। विराट के लम्बे कानों और भरे हुए चहरे के साथ नये हेयर कट के बाद स्पाइक बाल में विराट जब मैदान पर उतरे तो कोच अजीत चौधरी को वो चंपक कॉमिक के चीकू खरगोश की तरह लग रहे थे जिसके चलते अजीत ने विराट को इसी नाम से पुकारा औऱ तब से विराट का नाम चीकू ही पड़ गया।

रोहित शर्मा

rohit-sharma-1481897441-800

रोहित टीम भारत के उन खिलाड़ियो में से एक है जो जब फार्म में हों तो विरोधियों के आधे हौसले तो ऐसै ही पस्त हो जाते हैं। भारतीय टीम के एक ऐसै सितारे है जो अपनी दमदार औऱ आक्रामक बल्लेबाज़ी से विरोधियो के छक्के छुड़ा देते हैं। एकदिवसीय मैच में 2 बार दोहरा शतक बनाने वाले इकलौते खिलाड़ी है रोहित, जो अपने आप में यादगार है । वैसै मुम्बई के इस शानदार खिलाड़ी को कई नामो से पुकारा जाता है रो हिटमैन और शाना कुछ खास नाम है। रो नाम तो रोहित को उनकी पत्नि ने दिया और धीरे धीरे टीम में भी रोहित के इस नाम ने जगह बना ली। वहीं रोहित का शाना नाम युवराज सिंह की देने है। वहीं 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा दोहरा शतक बनाने के बाद जहां रोहित को काफी वाहवाही और प्रशंसा मिली तो इसके साथ ही नया नाम भी मिल गया हिटमैन। अब ज्यादातर खेल प्रेमी रोहित को इसी नाम से जानते हैं। फिलहाल चोट के चलते रोहित भले ही टीम से बाहर हों लेकिन जल्दी ही पिच पर पसीना बहाते नज़र आऐंगे। अजिंक्य रहाणे gettyimages-515093306-1481798583-800 इन दिनों अपने टिकाऊ खेल की बदौलत रहाणे भारतीय टीम के नए मिस्टर भरोसे मंद को तौर पर नजर आ रहे हैं। हर मैच के साथ अपने बेहतर होते प्रदर्शन की बदौलत ही आज रहाणे एकदिवसीय मैच में अपनी जगह पक्की करने के बाद भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान है। महाराष्ट्र में जन्में इस बल्लेबाज को अपनी सधी हुई बल्लेबाज़ी औऱ शॉट खेलने की खास स्टाइल के लिए जाना जाता है। 28 साल के इस बल्लेबाज को लोग जिन्क्स और अज्जू के नाम से बुलाते हैं जिसमें से ज्यादातर लोग उन्हे अज्जू के नाम से पुकारते है, उनके घर वाले और पत्नी के अलावा साथी भी उन्हें इसी नाम से बुलाते हैं। यहां आपको ये भी बता दें कि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन को भी उनके साथी खिलाड़ी अज्जू नाम से ही पुकारते थे। हालाकिं जिन्क्स नाम का किस्सा थोड़ा दिलचस्प हैं। ये नाम मिला उन्हे आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के साथ खेलने के दौरान दरअसल आईपीएल में शेन वॉर्न के साथ खेलने के दौरान वॉन के लिए अजिंक्य का उच्चारण करना थोड़ा मुश्किल था तो शेन उन्हे जिंन्क्स के नाम से बुलाते थे।

शिखर धवन

514480002-1481798801-800

शिखर धवन भारतीय टीम के उन खिलाड़ियों में से एक है जो अपने खेल के लिए तो जाने ही जाते हैं लेकिन स्टाइल को लेकर भी खासे चर्चित हैं। इनकी मूंछे स्टाइल स्टेटमेंट बन चुकी हैं औऱ शिखर के ही नक्शे कद़म पर अब उनके काफी प्रशंसको के लिए भी ये स्टाइल है। शिखर को उनके साथी खिलाड़ी गब्बर के नाम से पुकारते हैं इस नाम कि कहानी बड़ी दिलचस्प है। शोले का गब्बर तो आपको याद ही होगा, नहीं हैं तो बता दें कि शोले हिन्दी सिनेमा की सबसे ज्यादा चर्चित फिल्मों में से एक रही है औऱ इसके ही विलेन किरदार का नाम गब्बर था। दरअसल धवन जब घरेलु मैच में खेलते थे तो फील्डिंग के वक्त अपनी टीम का मनोबल बढाने के लिए वो विरोधी टीम के लिए गब्बर के संवादों का इस्तेमाल करते थे औऱ धीरे धीरे यही उनकी आदत बन गई औऱ इसी से उनका नाम गब्बर पड़ गया। धवन के कुछ दोस्त इसके अलावा उन्हे जाट जी के नाम से भी बुलाते हैं।

मुरली विजय

482903508-1481799150-800

मुरली विजय भारतीय टीम के लिए टेस्ट मैच में स्टार प्लेयर हैं और अपने आप को एक अच्छे ओपनर के तौर पर साबित कर चुके हैं। पिछले कुछ सालों में अपने खेल में काफी सुधार करते हुए एक ठहराव और अपने खेलने के तरीके से लेकर मैदान पर अपने व्यवहार तक में वो पहले की तुलना में काफी सुलझे हुए नज़र आने लगे हैं। 32 साल के इस बल्लेबाज को टीम में मोंक यानि साधु कहा जाता हैं ।दरअसल मुरली ने एक बार पूरा सर मुंडवा लिया औऱ इसी के बाद से उनका ये नाम पड़ गया । हालांकि इसका कारण उन्होंने कभी नहीं बताया बार बार पूछे जाने पर उन्होने कहा कि उनका कोई निजी कारण हैं लेकिन वो निजी कारण आज तक कोई नहीं जानता।

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...