5 प्रतिष्ठित बल्लेबाज जो एकदिवसीय करियर में शतक नहीं लगा पाये

एकदिवसीय मैचों में हर बल्लेबाज अपने शतक को लम्बे समय तक याद रखता है। पिछले कुछ समय से तो एकदिवसीय मैचों में दोहरे शतक भी लगने लगे हैं। अब बल्लेबाजों की श्रेष्ठता का पता उनके रन बनाने के साथ साथ उनके शतकों की संख्या से भी लगाया जाता है।

विराट कोहली ने तो करीब 200 एकदिवसीय मैच ही खेले हैं और उनकी शतकों की संख्या 32 पहुंच चुकी है। जहां कोहली आसानी से एक के बाद एक शतक ठोकते जा रहे हैं वहीं कुछ ऐसे बल्लेबाज भी रहे हैं जिनका एकदिवसीय करियर काफी शानदार रहा है फिर भी वो शतक नहीं जमा पाए हैं।

आज हम आपको ऐसे ही 5 बल्लेबाजों के बारे में बताएंगे जिन्होंने अपने एकदिवसीय करियर में एक भी शतक नहीं जमाया है

इसमें हमने उन्हीं बल्लेबाजों को लिया है जिन्होंने कम से कम 75 एकदिवसीय मैच खेले हैं और अपने टीम के प्रमुख बल्लेबाज रहे हैं।

मिस्बाह-उल-हक

मिस्बाह को पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास का सबसे सफल कप्तानों में एक माना जाता है। टेस्ट मैचों में बल्लेबाज के रूप में भी उनके रिकॉर्ड काफी बेहतरीन हैं लेकिन एकदिवसीय मैचों में वो टेस्ट वाला कारनामा नहीं दोहरा पायें।

मिस्बाह ने टेस्ट और एकदिवसीय दोनों के करियर में 5000 से ज्यादा रन बनाए हैं लेकिन जहां टेस्ट मैचों में उन्होंने 10 शतक लगाएं हैं वहीं एकदिवसीय मैचों में उनके शतक का खाता भी नहीं खुल पाया। 162 मैच में 43 की औसत से 5122 रन बनाने के बावजूद मिस्बाह ने कोई शतक नहीं जमाया। उन्होंने अपने करियर में 42 अर्धशतक जमाये जबकि उनके उच्चयतम स्कोर 96* था।

मिस्बाह का एकदिवसीय करियर 13 साल लम्बा था लेकिन वो सिर्फ 2 बार ही 90 के ऊपर पहुंच पाए और दोनों बार नाबाद ही रहे। जिसमें न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 93* और चैंपियंस ट्रॉफी में वेस्टइंडीज के खिलाफ 96* रनों की पारी शामिल है।

ड्वेन स्मिथ

dwayne-Smith

टी20 मैचों में 7000 से ज्यादा रन बनाने वाले वेस्टइंडीज के खतरनाक सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ का टी20 करियर काफी शानदार रहा है लेकिन वह यही कारनामा एकदिवसीय मैचों में नहीं दिखा पाए। 100 से ज्यादा मैच खेलने के बावजूद स्मिथ अपने पूरे एकदिवसीय करियर में एक भी शतक नहीं ठोक पाए।

स्मिथ शतक के सबसे करीब भारत के खिलाफ दिल्ली में पहुंचे थे और उस पारी में उन्होंने 97 रन बनाए। अगर अर्धशतक की भी बात करें तो स्मिथ ने सिर्फ 8 ही पचास का आंकड़ा पार किया है। इस रिकॉर्ड को देख कर यह बिल्कुल समझ नहीं आता कि यह बल्लेबाज टी20 में 5 शतक और 43 अर्धशतक जमा चुका है।

अपने 11 साल के एकदिवसीय करियर में स्मिथ ने 105 मैच खेले जिसमें उन्होंने18.57 की औसत से सिर्फ 1560 रन ही बनाएं। स्मिथ ने एकदिवसीय क्रिकेट से मार्च 2017 में संन्यास की घोषणा कर दी।

चमारा कपुगेदरा

CRICKET-PAK-SRI

यब बात आज तक किसी को समझ नहीं आयी कि कपुगेदरा ने बिना एक भी शतक जमाये कैसे 100 से ज्यादा एकदिवसीय मैच खेल लिए और सबसे बड़ी बात की उनका औसत भी 21 के करीब का ही है।

दाहिने हाथ के इस बल्लेबाज ने 2006 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में अपना पदार्पण मैच खेला था। तब से अभी तक उनका करियर 10 साल से ज्यादा का हो चुका है। मध्यक्रम के बल्लेबाज होने के बावजूद कपुगेदरा ने अभी तक एक भी एकदिवसीय शतक नहीं लगाया है।

इतने खराब प्रदर्शन के बावजूद वो लगातार श्रीलंका की टीम का हिस्सा बने हुए हैं और हाल में ही श्रीलंका-पाकिस्तान की सीरीज में भी वो श्रीलंका की टीम का हिस्सा थे। अभी तक खेले अपने 102 एकदिवसीय मैचों में उन्होंने सिर्फ 8 बार 50 रनों से ऊपर की पारी खेली है जिसमें उनका उच्चतम स्कोर 95 रहा है जो उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2008 में बनाया था।

जिमी एडम्स

Jimmy Adams of the West Indies

90 के दौर में जिमी एडम्स ऐसे खिलाड़ी थे जिन्हें वेस्टइंडीज की टीम जरूरत के अनुसार किसी भी जगह खिला सकती थी। मध्यक्रम के बल्लेबाज की जरूरत में या फिर विकेटकीपर की जरूरत या फिर बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज की जरूरत, एडम्स किसी भी जगह फिट हो जाते थे।

इन सब के बावजूद उनके साथ सबसे बड़ी परेशानी थी कि बल्लेबाजी क्रम में उनका कोई निश्चित स्थान नहीं था। उन्होंने सलामी बल्लेबाज से लेकर 9वें नंबर तक सभी क्रम पर बल्लेबाजी की लेकिन किसी भी एक स्थान पर उन्हें 25 से ज्यादा पारियां नहीं मिली। किसी वजह से 127 एकदिवसीय मैच खेलने के बावजूद उन्होंने एक भी शतक नहीं जमाया।

अपने एकदिवसीय करियर में एडम्स ने करीब 30 की औसत से 2000 से अधिक रन बनाए लेकिन कभी भी 100 के आंकड़े को पार नहीं कर पाये। इसके विपरीत उन्होंने टेस्ट मैचों में 6 शतकीय पारियां खेली जिसमें एक दोहरा शतक भी शामिल है।

वहीं एकदिवसीय मैचों में उन्होंने 14 अर्द्धशतकीय पारियां खेली जिसमें उनका उच्चतम स्कोर 82 रन रहा था।

ग्राहम थोर्प

England Player Graham Thorpe lets the ball go into

अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 9000 से ज्यादा रन बनाने वाले ग्राहम थोर्प इंग्लैंड के सबसे सफल बल्लेबाजों में गिने जाते हैं। उनका टेस्ट करियर काफी शानदार था जहां उन्होंने 100 मैचों में करीब 7000 रन बनाए लेकिन उनका एकदिवसीय रिकॉर्ड इससे काफी पीछे है।

जहां उन्होंने टेस्ट मैचों में 16 शतक जमाये थे जिसमें दोहरा शतक भी शामिल था लेकिन उनके नाम एकदिवसीय मैच में एक भी शतक नहीं है। अपने एकदिवसीय करियर में उन्होंने 82 मैच खेले जिसमें उन्होंने 37.19 की औसत से 2380 रन बनाए। जिसमें 21 अर्द्धशतकीय पारियां भी शामिल थी और उनका उच्चतम स्कोर 89 था।

अपने प्रथम श्रेणी करियर में 49 शतकीय पारी खेलने वाले थोर्प का एकदिवसीय करियर बिना शतक के समाप्त हो गया।

लेखक- श्रीहरि अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

Edited by Staff Editor