Create

IPL: 5 महान खिलाड़ी जिनका करियर आख़िरी पड़ाव पर है

आईपीएल के दीवाने सिर्फ़ भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में मौजूद हैं। जब से इस टूर्नामेंट की शुरुआत हुई है, तब से कई खिलाड़ियों ने इस लीग में अपने प्रदर्शन से गहरी छाप छोड़ी है। इनमें से कई खिलाड़ियों ने शानदार रिकॉर्ड बनाए हैं और आईपीएल को रोमांच से भर दिया है। आईपीएल टूर्नामेंट अपने 11वें सीज़न में प्रवेश करने जा रहा है, ऐसे में ऐसे कई स्टार खिलाड़ी हैं जिनका करियर अपने आख़िरी पड़ाव पर है। हम यहां ऐसे ही आईपीएल सितारों की चर्चा कर रहे हैं।

#5 शेन वॉट्सन

शेन वॉट्सन आईपीएल के पहले सीज़न में 'मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट' के अवॉर्ड से नवाज़े गए थे। वो एक हरफ़नमौला खिलाड़ी हैं, जो आक्रामक बल्लेबाज़ी करते हैं और मध्यम गति की गेंदबाज़ी करते हुए नज़र आते हैं। वो बीच कुछ ओवर में ज़रूरी विकेट भी निकाले हैं और दवाब में शानदार बॉलिंग करते हैं। हांलाकि पिछले सीज़न में उन्होंने 8 मैच में महज़ 71 रन बनाए थे और 5 विकेट हासिल किया था। साल 2017 का आईपीएल सीज़न वॉटसन के लिए काफ़ी बुरा रहा था। यही वजह रही कि आरसीबी टीम ने उन्हें रिटेन नहीं किया। इस साल वो चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ़ से खेलते हुए नज़र आएंगे। वो चाहेंगे कि उनके आईपीएल करियर का अंत शानदार तरीके से हो।

#4 हरभजन सिंह

हरभजन सिंह को अकसर ‘भज्जी’ के नाम से भी पुकारा जाता है। वक़्त के साथ इनकी जिम्मेदारियां बदलीं हैं। पहले उनकी भूमिका सिर्फ़ 4 ओवर फेंकने भर था, लेकिन आज वो युवा खिलाड़ियों के लिए गुरु का भी काम करते हैं। वो साल 2011 के आईसीसी वर्ल्ड की चैंपियन टीम का हिस्सा थे और स्पिन की जिम्मेदारी उन्हीं के कंधे पर थी। भज्जी ने 136 आईपीएल मैच में 127 विकेट हासिल किए हैं। आईपीएल के 7वें और 8वें सीज़न में उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए क्रमश: 14 और 18 विकेट हासिल किए थे। हांलाकि इस खिलाड़ी ने पिछले सीज़न के 11 मैचों में 8 विकेट हासिल किए थे, लेकिन फिर भी मुंबई टीम ने उन्हें रिटेन नहीं किया। भज्जी के ऊपर कर्ण शर्मा को तरजीह दी गई है। 38 साल के हरभजन का आईपीएल करियर अब अपने आख़िरी मुकाम की तरफ़ बढ़ रहा है। इस सीज़न में वो चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ़ से खेलते हुए नज़र आएंगे।

#3 क्रिस गेल

क्रिस गेल को क्रिकेट की दुनिया में ‘यूनिवर्स बॉस’ कहा जाता है, क्योंकि उनकी बल्लेबाज़ी बेहद विस्फोटक होती है। वो गेंदबाज़ों के लिए किसी काल से कम नहीं हैं। वो अकसर विपक्षी टीम के कप्तनों का मनोबल तोड़कर रख देते हैं। गेल मैदान के हर तरफ़ चौके-छक्के लगाते हैं, क्योंकि उनके लिए कोई भी मैदान इतना बड़ा नहीं होता। वो टी-20 क्रिकेट करियर में सबसे ज़्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज़ हैं, उनके नाम टी-20 क्रिकेट में सबसे ज़्यादा शतक लगाने का भी रिकॉर्ड है। गेल टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ हैं। क्रिस गेल के नाम टी-20 क्रिकेट के ज़्यातर रिकॉर्ड्स हैं। वो पूरी दुनिया में कई टीम से खेल चुके हैं। गेल ने कई मौक़े पर ख़ुद के दम पर मैच जिताए हैं। साल 2012 के आईपीएल सीज़न में क्रिस गेल ने 160 के स्ट्राइक रेट ले 733 रन बनाए थे और ऑरेंज कैप हासिल किया था। साल 2013 में उन्होंने पुणे वॉरियर्स इंडिया टीम के ख़िलाफ़ 175 रन की शानदार पारी खेली थी। इस पारी ने हर क्रिकेट फ़ैस को हैरत में डाल दिया था। हांलाकि साल 2017 के सीज़न में क्रिस गेल ने 9 मैचों में महज़ 200 रन ही बनाए थे। यही वजह रही कि आरसीबी टीम ने उन्हें इस साल रिटेन न करने का फ़ैसला किया। आने वाले सीज़न के लिए किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें ख़रीदा, वो तब जब उनका नाम तीसरी बार नीलामी के लिए रखा गया। उनकी उम्र उनके प्रदर्शन पर हावी हो रही है, ऐसे में ये कहना ग़लत नहीं होगा कि वो अपने करियर के आख़िरी पड़ाव पर हैं।

#2 युवराज सिंह

युवराज सिंह सीमित ओवर के खेल के लिए सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक हैं। टीम इंडिया की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने कई नाज़ुक मौक़ों पर जीत दिलाई है। वो मुश्किल वक़्त में मज़बूती के साथ उबरकर सामने आते हैं। साल 2007 की आईसीसी वर्ल्ड टी-20 और आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 में उन्होंने अपने बेहतरीन खेल से टीम इंडिया को ख़िताबी जीत दिलाई थी। आईपीएल में उन्होंने 120 मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 2500 रन बनाए हैं, इसके अलावा उन्होंने एक हैट्रिक भी अपने नाम किया है। वो संघर्ष के वक़्त बेहतर खेल दिखाने में माहिर हैं। युवराज सिंह ने आईपीएल के पहले सीज़न में किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी की थी और 11वें सीज़न में वो एक बार फिर अपने सबसे पहली टीम में वापसी कर रहे हैं। वो मध्य क्रम में बल्लेबाज़ी करते हुए टीम के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकते हैं। पंजाब टीम ने काफ़ी उम्मीदों से उन्हें ख़रीदा है। पिछले सीज़न के 12 मैच में युवराज ने 252 रन ही बनाए थे और उनका मौजूदा फ़ॉम इतना अच्छा नहीं है कि उन्हें टीम इंडिया में शामिल किया जाए। साल 2019 के वर्ल्ड कप के बाद उन्हें अपने करियर को लेकर बड़ा फ़ैसला लेना होगा। युवराज की उम्र 36 साल हो चुकी है ऐसे में वो शायद कुछ और आईपीएल सीज़न ही खेल पाएं।

#1 ब्रेंडन मैकुलम

ब्रेंडन मैकुलम ने आईपीएल इतिहास के पहले मैच में केकेआर की तरफ़ से खेलते हुए आरसीबी के ख़िलाफ 158* रन की पारी खेली थी। ऐसा करने के बाद उन्होंने अपना नाम आईपीएल इतिहास में दर्ज करा लिया था। वो एक स्टाइलिश बल्लेबाज़ हैं जो बैटिंग करते हुए किसी भी तरह की बॉलिंग अटैक का मज़ाक बना सकते हैं। उन्होंने आईपीएल टूर्नामेंट को एक ज़बरदस्त शुरुआत दी थी जब उन्होंने शतक बनाया था। पहले ही मैच में उन्होंने दर्शकों को रोमांच से भर दिया था। वो फ़ील्डिंग नियम का पूरा फ़ायदा उठाते हुए बल्लेबाज़ी करने का हुनर जानते हैं। वो मैदान में हर तरफ चौके-छक्के लगाने में माहिर हैं। साल 2016 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। वो अब ज़्यादा क्रिकेट नहीं खेल रहे हैं, ऐसे में ये कहना ग़लत नहीं होगा कि उनका क्रिकेट करियर समाप्त होने वाला है। इस कीवी बल्लेबाज़ में विकेटकीपिंग का भी हुनर मौजूद है। लेखक – सौरभ गांगुली अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment