Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 महान खिलाड़ी जो संन्यास के बाद वापस आए

CONTRIBUTOR
Modified 30 Jul 2015

रिटायरमेंट दुर्भाग्य से ऐसी चीज़ है जिसका सामना हर खिलाड़ी को करना पड़ता है चाहे वो खेल से कितना ही प्यार करें। बहुत क्रिकेटर आगे चलकर कोच बनते हैं या कुछ ऐसा करते हैं जो वे व्यस्त अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कार्यक्रम की वजह से नहीं कर पाये थे। लेकिन इसके बाद कुछ ऐसे हैं जो रिटायर करते हैं लेकिन शानदार तरीके से वापस आते हैं। ऐसा लगता है कि इस भद्रजनों के खेल का आकर्षण ही बहुत ज्यादा है। कुछ के लिए ये बुद्धिमानी भरा फैसला है पर अधिकांश के लिए ये गलत ही होता है। ये रहे रिटायरमेंट के बाद शानदार वापसी करने वाले हमारे पसंदीदा 5 खिलाड़ी:


#1 शाहिद अफ़रीदी

shahid-afridi-1474375392-800 अफ़रीदी के पास शायद सबसे ज्यादा बार रिटायर होने का रिकॉर्ड है। 2010 में उन्हें पाकिस्तान के टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया था लेकिन केवल एक मैच के बाद ही उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया। उनके कारण थे ख़राब फॉर्म और खेल के इस लम्बे संस्करण में खेलने की असमर्थतता। उन्होंने अगली रिटायरमेंट अपने नेतृत्व में 2011 के विश्व कप में पाकिस्तान को सेमी फाइनल में पहुँचाने के बाद ली। ओह, अभी यह ख़त्म नहीं हुआ है। मिस्बाह के कप्तान के रूप में प्रतिस्थापित होने का बाद अफ़रीदी ने कोच वक़ार से मतभेद का हवाला देते हुए फिर से संन्यास की घोषणा करी। वो उसके बाद भी वापस आये। उनके इसी हरकत की वजह से इमरान खान द्वारा आलोचना झेलनी पड़ी। खान ने अफ़रीदी के रिटायरमेंट को एक 'मज़ाक' कहा। सब एक तरफ कर दिया जाए तो अफ़रीदी  जबरदस्त खिलाड़ी हैं। उन्हें अपनी आक्रामक बल्लेबाज़ी के अंदाज़ और दायें हाथ के लेग स्पिन के लिए जाना जाता है। उनके पास एकदिवसीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा छक्कों का रिकॉर्ड है और क्रिकेट इतिहास के सबसे लम्बे छक्के का भी रिकॉर्ड इनके नाम है। उन्होंने अब एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है और उन्होंने कहा कि अगले वर्ष भारत में होने वाले विश्व कप के बाद वो T-20 से भी संन्यास ले लेंगे।
1 / 5 NEXT
Published 30 Jul 2015, 13:58 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now