Create
Notifications

टेस्ट क्रिकेट में 5 महानतम डेब्यू शतक

Modified 22 Dec 2016

पहला टेस्ट शतक किसी भी बल्लेबाज के लिए सबसे यादगार होता है, खासकर जब आपको इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म पर खुद को साबित करना हो। पहला टेस्ट शतक जड़ने के बाद ना सिर्फ बल्लेबाज का आत्मविश्वास बढ़ता है बल्कि अपनी शानदार बल्लेबाजी के दम पर वो टीम में अपनी जगह पक्की करने में भी कामयाब होता है। जब इसी शतकीय पारी को आप दोहरे या तिहरे शतक में तब्दील करने में कामयाब होते हैं तो ये ऐतिहासिक पारी होती है। इस लंबी पारी से आपका टेंपरामेंट और साहस पता चलता है। ये पारी आपके विकेट लंबे समय तक टिके रहने और रन बंटोरने की क्षमत को भी बताती है। आइए एक नजर डालते हैं टेस्ट क्रिकेट के टॉप 5 पहले शतक


#1 गैरी सोबर्स-365 पाकिस्तान के खिलाफ (1958)

garry sobers

गैरी सोबर्स ने 1958 में पाकिस्तान के खिलाफ 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में खुद को साबित किया। ये तीसरा टेस्ट था और वेस्टइंडीज सीरीड में 1-0 से लीड कर रही थी। वेस्टइंडीज ने पहला टेस्ट ड्रॉ खेला और दूसरे में जीत दर्ज की थी। तीसरे टेस्ट की पहली पारी में पाकिस्तान ने इम्तियाज अहमद की शतकीय पारी के के चलते 328 रन बनाए। लेकिन इसके बाद आगे जो वेस्टइंडीज की ओर से हुआ उसने ना सिर्फ सभी को चौंकाया बल्कि वो क्रिकेट जगत में ऐतिहासिक भी साबित हुआ। गैरी सोबर्स ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए पहला टेस्ट शतक जड़ा और इसके बाद इस शतक को ट्रिपल सेंचुरी में तब्दील किया। सोबर्स ने 365 रन बनाए। अपने इस तिहरे शतक के दौरान उन्होंने 614 मिनट ग्राउंड पर बिताते हुए 38 चौके भी जड़े। सोबर्स ने अपने टैलेंट का नूमना पेश करते हुए गेंद को ग्राउंड के चारों ओर पहुंचाया और पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। सोबर्स की इस के बलपर वेस्टइंडीज ने पहली पारी में 790 रन बनाए। जिसके चलते वेस्टइंडीज ने इस मैच में बड़ी बढ़त हासिल की और आखिरकार वेस्टइंडीज ने इस मैच को पारी और 174 रन से जीता।
1 / 5 NEXT
Published 22 Dec 2016
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now