Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 हैट्रिक जो अपनी टीम के काम न आ सकीं

Rahul Pandey
ANALYST
Modified 04 Oct 2017, 11:42 IST
Advertisement
  हैट्रिक मुश्किल से आती हैं और क्रिकेट में बहुत असामान्य हैं। अच्छी गेंदबाज़ी के अलावा, भाग्य भी इस उपलब्धि को पूरा करने के लिए गेंदबाज के पक्ष में होना चाहिए। अधिकांश समय, एक हैट्रिक विपक्ष की बल्लेबाजी लाइनअप की रीढ़ की हड्डी को तोड़ने के लिए पर्याप्त साबित होती है। यदि कोई गेंदबाज हैट्रिक विकेट लेने में सफल होता है तो अमूमन जीतने वाली टीम की ओर से मैच खत्म करता है। हालांकि, ऐसे भी उदाहरण सामने आए हैं जब गेंदबाज की यह उपलब्धि अपनी टीम को जीत नहीं दिला सकी, जो कि गेंदबाज़ के नजरिए से बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। आइए नजर डालते हैं ऐसे ही 5 हैट्रिक पर जो अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके। # 1 इरफान पठान  बनाम  पाकिस्तान- 2006 पाकिस्तान की टीम को इरफान पठान की स्विंग गेंदबाजी का सामना करना पड़ा, जब भारत ने 3 टेस्ट मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए पाकिस्तान का दौरा किया। कराची में तीसरे टेस्ट की पहली पारी में बड़ौदा में जन्मे इस तेज गेंदबाज ने अपनी लगातार 3 गेंदों पर 3 पाकिस्तानी बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। सलमान बट्ट, कप्तान यूनुस खान और मोहम्मद यूसुफ पठान की स्विंग में फंस गए। बट्ट ने एक दूर जाती गेंद पर अपना बल्ला अड़ा दिया और गेंद बल्ले का किनारा लेकर सीधा फील्डर के हाथ में चली गई। दूसरी गेंद पर उन्होने कप्तान यूनुस खान को पगबाधा आउट किया उनकी हैट्रिक गेंद एक बेहतरीन गेंद थी और वह यूसुफ के बल्ले को छुते हुए और स्टंप पर जा लगी। हालांकि पाकिस्तान ने इसके बाद शानदार वापसी की। शोएब अख्तर, मोहम्मद आसिफ और अब्दुल रज्जाक की तिकड़ी ने भी दोनों पारी में भारत को प्रतिबंधित करने के लिए नियमित अंतराल पर विकेट लिए थे। आखिरकार भारत को  अपने चिर प्रतिद्वंदी से341 रनों से हार का सामना करना पड़ा।
1 / 5 NEXT
Published 04 Oct 2017, 11:42 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit