Create
Notifications

IPL: दो दिग्गजों के बीच ऐसी ज़ोरदार जंग जो अब दोबारा देखने को नहीं मिल पाएगी

Himanshu Kothari

इंडियन प्रीमियर लीग दुनिया में सबसे बड़ी और सबसे पुरानी टी20 फ्रेंचाइजी लीग के तौर पर मानी जाती है। अगले महीने से आईपीएल के 11वें सीजन का आगाज हो रहा है और खिलाड़ी एक बार फिर इस लीग में अपना प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं। आईपीएल की नीलामी में भी फ्रैचाइंजियों ने अपनी टीम तैयार कर ली है। पिछले कुछ सालों के आईपीएल सीजन की तरफ देखा जाए तो कई अहम मुकाबले दर्शकों को देखने को मिले हैं। इन मुकाबलों में भरपूर रोमांच देखने को मिला। खास बात तो ये रही कि इनमें कुछ शानदार खिलाड़ियों का बेहतरीन प्रदर्शन किसी दूसरे बड़े खिलाड़ी के खिलाफ देखने को मिला। हालांकि अब ऐसे मुकाबले आईपीएल में दोबारा देखने को नहीं मिलेंगे क्योंकि उनमें से अधिकांश खिलाड़ी अब इस लीग का हिस्सा नहीं हैं। आइए जानते हैं उन खिलाड़ियों के बारे में:

#5 डेल स्टेन बनाम एबी डीविलियर्स

एबी डीविलियर्स विश्व क्रिकेट के धाकड़ खिलाड़ियों में एक माने जाते हैं। खासतौर पर टी20 फॉर्मेट में एबी डीविलियर्स जमकर गेंदबाजों की खबर लेते हैं और मैदान के हर कोने में रनों की बरसात करते हैं। टी20 क्रिकेट में जब एबी रन बनाने पर आते हैं तो उनको रोक पाना काफी मुश्किल हो जाता है। आईपीएल में भी एबी डीविलियर्स ने अपना खूब जलवा बिखेरा है। काफी सालों से आईपीएल में एबी डीविलियर्स रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए सफल साबित हुए हैं और आरसीबी का प्रमुख हिस्सा बने हुए हैं। वहीं दूसरी ओर डेल स्टेन ने दुनिया की सबसे घातक गेंदबाजों में से एक के रूप में प्रतिष्ठा हासिल की है। स्टेन ओवरों में भरोसेमंद गेंदबाज के तौर पर साबित होते हैं। आईपीएल में आरसीबी के खिलाफ स्टेन की शानदार 6.92 की इकॉनमी रेट है लेकिन आरसीबी में सिर्फ एबी डीविलियर्स ही ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने डेल स्टेन की गेंदबाजी का डटकर सामना किया है। डीविलियर्स ने साल 2012 में पहली बार डेल स्टेन के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए 23 रन बनाये थे। इसके बाद 2014 में फिर से बल्लेबाजी करते हुए एबी ने स्टेन के खिलाफ 24 रन बनाए थे।

#4 शोएब अख़्तर बनाम वीरेंदर सहवाग

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शोएब अख्तर और भारतीय क्रिकेट टीम के तूफानी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग किसी परिचय के मोहताज नहीं है। शोएब अख्तर ने जहां अपनी गेंदबाजी के दम पर विश्व क्रिकेट में अपना नाम कायम किया तो वहीं अपनी बल्लेबाजी के कारण वीरेंदर सहवाग ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर विश्व क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ी है। मैदान के बाहर दोनों खिलाड़ियों के बीच जरूर मस्ती मजाक का माहौल रहता था लेकिन मैदान पर शोएब और सहवाग का जब सामना होता था तो दोनों ही एक दूसरे के खिलाफ दोस्ताना रवैया छोड़ देते थे। आईपीएल में दोनों का सामना एक ही बार हुआ है। इस मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने ईडन गार्डन्स के मैदान पर पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली डेयरडेविल्स के सामने 133 रनों का स्कोर खड़ा किया था। लेकिन इसके बाद गेंदबाजी में अपना कमाल दिखाते हुए शोएब ने दिल्ली का टॉप ऑर्डर ही बिखेरकर रख दिया। अपनी घातक गेंदबाजी के दम पर शोएब ने सहवाग को पहली गेंद पर ही विकेटकीपर के हाथों आउट करा दिया। इसके बाद दिल्ली की टीम पूरी तरह से लड़खड़ा गई और आखिर में दिल्ली सिर्फ 110 रनों पर ही अपने घुटने टेक दिए।

#3 सौरव गांगुली बनाम शेन वॉर्न

भारत के सौरव गांगुली और ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉर्न ने 6 आईपीएल मैचों में एक दूसरे का सामना किया है। इसमें खास बात ये है कि दोनों ही खिलाड़ियों ने अपनी-अपनी टीम के कप्तान के तौर पर एक दूसरे का सामना किया है। बाएं हाथ के बल्लेबाज सौरव गांगुली अपनी बल्लेबाजी कौशल के लिए प्रसिद्ध थे तो वहीं ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज शेन वॉर्न अपनी गेंदबाजी के लिए जाने जाते थे। टी20 मैचों में शेन वॉर्न को अच्छे प्रदर्शन का अनुभव था। शेन वॉर्न ने अपनी कप्तानी के दम पर ही आईपीएल के साल 2008 में खेले गए पहले सीजन में राजस्थान रॉयल्स को खिताब जिताने में भूमिका अदा की थी। हालांकि, राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ गांगुली ने कई अहम पारियां खेली। इनमें मैच जिताऊ 75 रन की पारी भी शामिल है। दूसरी ओर गांगुली के खिलाफ वॉर्न की उपलब्धियों के बारे में बात की जाए तो उन्होंने 35 गेंदों में केवल 40 रन दिए और एक बार गांगुली का विकेट लेने में कामयाब हो सके।

#2 सचिन तेंदुलकर बनाम मुथैया मुरलीधरन

क्रिकेट जगत में भारत के सचिन तेंदुलकर टेस्ट और एकदिवसीय फॉर्मेट में रनों के लिए जाने जाते हैं तो वहीं श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन क्रिकेट जगत में अपनी गेंदबाजी क्षमता के लिए जाने जाते हैं। सचिन तेंदुलकर के नाम क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है तो मुरलीधरन के नाम टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट लेने का शानदार रिकॉर्ड दर्ज है। दोनों ही क्रिकेट इतिहास में भगवान से कम नहीं आंके जाते हैं। दोनों खिलाड़ियों का आईपीएल में भी सामना हुआ है। हालांकि आईपीएल में चेन्नई के लिए खेलते हुए मुथैया मुरलीधरन कभी भी सचिन तेंदुलकर का विकेट नहीं ले पाए, पर उन्होंने सचिन को 36 गेंदों में सिर्फ 26 रन ही बनाने दिए।

#1 लसिथ मलिंगा बनाम एमएस धोनी

श्रीलंकाई गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा विश्व के शानदार गेंदबाजों में गिने जाते हैं। इंडियन प्रीमियर लीग में गेंदबाज के तौर पर श्रीलंकाई गेंदबाज लसिथ मलिंगा का प्रदर्शन शानदार रहा है। अपनी खतरनाक यॉर्कर्स से मलिंगा अच्छे से अच्छे बल्लेबाज को भी पैवेलियन वापस भेज देने में माहिर हैं। दूसरी ओर चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को खेल के हर प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माना जाता है। टी20 क्रिकेट में भी धोनी ने अपना जलवा दिखाया है। आईपीएल में धोनी ने चेन्नई के लिए कप्तानी करते हुए टीम को काफी कुछ दिया है। आईपीएल में धोनी और मलिंगा कई बार एक दूसरे के आमने सामने हुए हैं। इनमें धोनी मलिंगा के खिलाफ कुल 93 रन ही बना सके हैं। वहीं मलिंगा ने धोनी के खिलाफ 149 की स्ट्राइक रेट से गेंदबाजी की है। लेखक: तेजास वी अनुवादक: हिमांशु कोठरी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...