Create
Notifications

एमएस धोनी की कप्तानी के बारे में 5 दिलचस्प आंकड़े

Modified 07 Jan 2017
एमएस धोनी की कप्तानी में बीता एक दशक भारतीय क्रिकेट के लिए शानदार रहा है। साल 2007 में जब धोनी को टी-20 वर्ल्डकप के लिए टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था। तब टीम बुरे दौर से गुजर रही थी। उस वक्त किसी ने सोचा नहीं था कि रांची का लड़का जो क्रिकेट के बैकग्राउंड से होने के बावजूद भारत की सफलता का सूत्रधार बनेगा। धोनी ने हमेशा आगे बढ़कर टीम का नेतृत्व किया। उनकी स्मार्ट सोच ने हमेशा विरोधी टीम को पस्त किया। उनके निर्णय साहसिक ही नहीं होते थे, बल्कि अपने करिश्माई नेतृत्व से वह ऑनफील्ड और ऑफ़फील्ड दोनों जगह टीम को सकारात्मक बनाये रहते थे। वह बड़े ही निस्वार्थी थे। इस लेख में हम आपको धोनी के 5 ऐसे आकंडे के बारे में बता रहे हैं, जो रिकॉर्ड को और दिलचस्प बनाते हैं: भारत के सबसे सफल कप्तान और दुनिया में 6ठे स्थान पर यद्यपि धोनी सीमित ओवरों के सबसे सफल कप्तान हैं, लेकिन टेस्ट में उनके योगदान को इग्नोर नहीं किया जा सकता है। धोनी ने टेस्ट में टीम की रणनीति बदली और मैदान में अपनी उपस्थिति से खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया। इसके अलावा साल 2009 में टीम को नम्बर एक बनाया। विस्फोटक विकेटकीपर बल्लेबाज़ अभी तक भारत का टेस्ट में सबसे सफल कप्तान है। 60 मैचों में धोनी को 27 में जीत मिली है। जो गांगुली की कप्तानी में मिली 21 जीत से ज्यादा है। झारखण्ड में पैदा हुए धोनी दुनिया में 6ठे सबसे सफल टेस्ट कप्तानों में से एक हैं। उनका विनिंग परसेंटेज 45 है।
1 / 5 NEXT
Published 07 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now