Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 ऐसे भारतीय युवा जो अंडर-19 विश्व कप में कमाल कर सकते हैं

Daya Sagar
ANALYST
Modified 03 Sep 2017
Advertisement

अगले साल न्यूजीलैंड में होने वाले अंडर-19 विश्व कप के लिए भारतीय टीम को ‘टॉप-मोस्ट फेवरेट’ माना जा रहा है। जूनियर टीम इंडिया इस समय शानदार फॉर्म में है और उन्होंने इस महीने की शुरुआत में इंग्लैंड को उसी की धरती पर टेस्ट और वन-डे दोनों फॉर्मेट में हराया है।

अंडर-19 विश्व कप को युवा प्रतिभाओं के लिए एक सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म माना जाता है और यहां से प्रत्येक बार क्रिकेट के बड़े-बड़े सितारे उभर के आते हैं।

युवराज सिंह, विराट कोहली, रविंद्र जडेजा, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा कुछ ऐसे नाम हैं जिन्होंने अंडर-19 विश्व कप में ही बड़े खिलाड़ी होने की झलक दिखला दी थी और आज ये नाम टीम इंडिया के बहुमूल्य रत्नों में से एक हैं। मौजूदा अंडर-19 टीम में भी कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चमकने की क्षमता रखते हैं। तो आज चर्चा ऐसे ही भारतीय टीम के पांच अंडर-19 खिलाडियों की-

#5 हिमांशु राणा

1 himanshu

Advertisement

हिमांशु राणा भारतीय अंडर-19 टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं। हिमांशु ने घरेलू सर्किट में हरियाणा के लिए 30 से अधिक मैच खेले हैं।  हरियाणा के लिए 16 वर्ष की उम्र में प्रथम श्रेणी में डेब्यू करने वाले इस खिलाड़ी ने राज्य की रणजी टीम में अपने आप को स्थापित कर लिया है। उन्होंने रणजी ट्रॉफी की 20 पारियों में 37 की औसत से कुल 697 रन बनाये हैं, जिसमें 2 शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं। इस प्रदर्शन की बदौलत उन्होंने अपने आप को टीम का एक प्रमुख बल्लेबाजी स्तंभ बना लिया है।

रणजी में डेब्यू के बाद उन्होंने जल्द ही टी-20 में भी हरियाणा के लिए डेब्यू किया और अब तक वे अपने राज्य के लिए 11 टी-20 मैच खेले हैं। 2015 में ही प्रथम श्रेणी और टी 20 कैरियर की शुरुआत करने वाले इस 18 वर्षीय बल्लेबाज ने अपने लिस्ट-ए कैरियर की शुरुआत 2017 में की और अब तक उन्होंने इस प्रारूप में सिर्फ एक मैच खेला है।

जब इस साल के शुरुआत में इंग्लैंड अंडर-19 टीम ने भारत का दौरा किया था तब हिमांशु ने चार मैचों में 53 की शानदार औसत और 96 की विस्फोटक स्ट्राइक रेट से 211 रन बनाए थे जिसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल था। हालांकि वह इस महीने इंग्लैंड में अपने इस प्रदर्शन को दोहरा नहीं पाए और चार मैचों में 20.5 के मामूली औसत से सिर्फ 82 रन ही बना सके।

भारतीय अंडर-19 टीम को अगले साल हिमांशु के अनुभव की जरुरत होगी, जब वह दुनिया पर फतह करने के इरादे से न्यूजीलैंड का दौरा करेगी।

1 / 5 NEXT
Published 03 Sep 2017, 12:27 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now