5 भारतीय गेंदबाज़ जिन्होंने अपने टी-20 डेब्यू मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया

aggu-1453905247-800

भारत टी-20 विश्वकप जीतकर क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में शानदार शुरुआत की थी। लेकिन उसके बाद भारत का प्रदर्शन मिल जुला रहा है। हालाँकि कई बार इस प्रारूप में भारतीय खिलाड़ियों इसमें बेहतरीन प्रदर्शन किया। भारत के 9 साल के टी-20 इतिहास में भारतीय गेंदबाजों के कई यादगार स्पेल डाले हैं। इसमें से कई भारतीय गेंदबाजों ने अपने पदार्पण मैच में शानदार गेंदबाज़ी की है। आइये हम आपको ऐसे ही 5 डेब्यू प्रदर्शन के बारे में बताते हैं: #5 अजित अगरकर-10 रन देकर 2 विकेट बनाम दक्षिण अफ्रीका ये वह मैच था, जहाँ भारतीय टीम इस फॉर्मेट में पहली बार भाग ले रही थी। जिसमे अजित अगरकर भी थे। इस मैच में अगरकर ने 10 रन देकर 2 विकेट लिए थे। जो बहुत ही प्रभावशाली गेंदबाज़ी मानी गयी थी। इस मैच में दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 20 ओवरों में 126 रन बनाये थे। अजित अगरकर ने इस मैच में युवा डीविलियर्स और हर्शल गिब्स को आउट करके भारत को बड़ी सफलता दिलाई थी। भारत ने इस मैच को 6 विकेट से जीत लिया था। इस मैच के बाद अगरकर ने मात्र 3 टी-20 मैच और खेले थे। #4 जसप्रीत बुमराह- 23 रन देकर 3 विकेट बनाम ऑस्ट्रेलिया bum-1453904319-800 युवा गेंदबाज़ बुमराह ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय गेंदबाजों में सबसे सबसे प्रभावकारी साबित हुए हैं। बुमराह ने 5वें वनडे में शानदार प्रदर्शन करके सबका ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया। उसके बाद उन्होंने पहले टी-20 मैच में शानदार गेंदबाज़ी करते हुए भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई। 22 साल के इस युवा तेज गेंदबाज़ ने पहले टी-20 मैच में 23 रन देकर 3 विकेट हासिल किए। ऑस्ट्रेलिया इस मैच में तेज शुरुआत की थी। जिससे ऐसा लग रहा थे कि वह 189 के लक्ष्य को आराम से पा लेंगे। लेकिन बुमराह ने डेविड वार्नर को आउट करके मैच को बदल दिया। उसके बाद स्पिनरों ने अच्छी गेंदबाज़ी की। साथ ही अपने दुसरे स्पेल में बुमराह ने निचले क्रम के बल्लेबाजों को आउट करके मैच में भारत को जीत दिला दी। #3 अक्षर पटेल-17 रन देकर 3 विकेट बनाम जिम्बाब्वे axar-1453903287-800 अक्षर पटेल अपना टी-20 डेब्यू जिम्बाब्वे के दौरे पर किया था। इस मिले मौके को पटेल ने भुनाते हुए 17 रन देकर 3 विकेट हासिल किए। भारत ने इस मैच में 178 रन का स्कोर बनाया था। इससे भारत की जीत सुनिश्चित थी। उसके बाद पटेल और भज्जी की जुगलबंदी ने जिम्बाब्वे को जल्द ही समेट दिया। अक्षर ने मस्काद्जा, चिगुम्बरा, सिकंदर रजा का विकेट लेकर जिम्बाब्वे का स्कोर 90 पर 6 कर दिया था। उसके बाद भारत ने इस मैच को 54 रनों से जीत लिया। इस मैच में बेहतरीन गेंदबाज़ी के लिए पटेल को मैन ऑफ़ द मैच का अवार्ड दिया गया। #2 भुवनेश्वर कुमार- 9 रन देकर 3 विकेट बनाम पाकिस्तान bhuvi-1453901599-800 ये शायद भारत के किसी मध्यम गति के गेंदबाज़ का सबसे बेहतरीन डेब्यू मैच था। भुवनेश्वर कुमार का ये प्रदर्शन बड़ा ही शानदार था। भारत ने इस मैच में 133 रन बनाये थे, जिसमें सलामी जोड़ी गंभीर और रहाने ने 77 रन की साझेदारी भी की थी। लेकिन इस मैच में भारत के लिए भुवनेश्वर कुमार ने पहले दो 3 विकेट लेकर पाकिस्तान को बैकफुट पर धकेल दिया। साथ ही पाकिस्तान का स्कोर 12 रन पर 3 विकेट हो गया था। इस मैच में भुवी ने बेहतरीन स्विंग गेंदबाज़ी की। लेकिन मोहम्मद हफीज और शोएब मालिक ने 106 रन की साझेदारी करके पाकिस्तान को इस मैच में 5 विकेट की जीत दिला दी। #1 प्रज्ञान ओझा- 21 रन देकर 4 विकेट बनाम बांग्लादेश ojha-1453900872-800 साल 2009 का आईसीसी टी-20 विश्वकप भारत के लिए यादगार नहीं था। लेकिन इसी टूर्नामेंट में भारत के एक बेहतरीन गेंदबाज़ ने शानदार गेंदबाज़ी का प्रदर्शन करके अपना डेब्यू किया था। ग्रुप मैच में ओझा ने बांग्लादेश के खिलाफ 21 रन देकर 4 विकेट हासिल जिससे भारत को 25 रन की जीत हासिल हुई। ओझा ने इस दौरान शाकिब अल हसन, जुनैद सिद्दीकी, महम्दुल्लाह और मशरफे मुर्तजा को आउट किया था। इस प्रदर्शन के दम पर ओझा को मैन ऑफ़ द मैच के अवार्ड से भी नवाजा गया था। हालाँकि दुर्भाग्यवश ओझा को इसके बाद 5 टी-20 मैचों में खेलने का और मौका मिला। साल 2010 में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। लेकिन उनका ये स्पेल टी-20 में डेब्यू करने वाले भारतीय खिलाड़ियों में सबसे अव्वल है। लेखक-अभिनव मैसी, अनुवादक-मनोज तिवारी

App download animated image Get the free App now