Create
Notifications

5 भारतीय क्रिकेटर और उनके रेस्टोरेंट्स

SENIOR ANALYST
Modified 02 Jan 2017
भारतीय क्रिकेटरों ने फील्ड के अंदर तो पूरी दुनिया में बेहतरीन प्रदर्शन किया ही है, लेकिन फील्ड के बाहर भी इनका सिक्का खूब चला है। मैदान के अंदर और बाहर दोनों ही जगह भारतीय क्रिकेटरों ने खेल प्रेमियों का दिल जीता है। कहते हैं दिल का रास्त पेट से होकर जाता है। कई भारतीय क्रिेकेटरों ने इस बात को सिद्ध किया है और अपने बेहतरीन रेस्टोरेंट्स के खानों से लोगों का दिल जीता है। इनमें से कुछ खिलाड़ियों का रेस्टोरेंट तो बंद हो गया, लेकिन कुछ खिलाड़ी सफल तरीके से इसको चला रहे हैं। भारत के कई बड़े शहरों में ये नामचीन रेस्टोरेंट खुले हुए हैं। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही 5 रेस्टोरेंट्स के बारे में। 5. सौरव-द् फूड पवेलियन (सौरव गांगुली) साल 2004 भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के लिए काफी बेहतरीन साबित हुआ था। वो बल्ले से रना बना रहे थे, गेंदबाजी में विकेट निकाल रहे थे और टीम के कप्तान भी थे। लेकिन सबसे बड़ी बात इसी साल उन्होंने कोलकाता में अपना एक रेस्टोरेंट खोला। इसका नाम उन्होंने सौरव- द् फूड पवेलियन रखा। पहले कुछ साल तक ये रेस्टोरेंट खूब चला, यहां के माहौल से प्रभावित होकर लोग यहां खिंचे चले आते थे। पहले तो सौरव इस रेस्टरोंट के आधे हिस्से के मालिक थे, लेकिन 2006 में पूरा रेस्टोरेंट उनका हो गया। ये वो समय था जब चैपल-सौरव विवाद पूरे मीडिया में छाया हुआ था। इस वजह से सौरव गांगुली अपने खेल पर ज्यादा ध्यान देने लगे और रेस्टोरेंट की तरफ कम ध्यान दे पाए। इसकी वजह से उनका ये रेस्टोरेंट धीरे-धीरे घाटे में चला गया और फिर कभी इससे उबर नहीं पाया। ये जानकर आपको हैरानी होगी कि जिस शहर में गांगुली की भगवान की तरह पूजा की जाती हो वहां उनका रेस्टोरेंट नहीं चल पाया और 2011 में ये पूरी तरह से बंद हो गया। सौरव के भाई देवाशीष ने आईएएनएस को बताया कि सौरव गांगुली काफी ज्यादा बिजी रहते हैं और मैं भी बिजी रहता हूं इसलिए हम रेस्टोरेंट को चलाने के लिए ज्यादा समय नहीं निकाल पा रहे। इसीलिए हमने इसे बंद करने का फैसला किया।
1 / 5 NEXT
Published 02 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now