आज भी भारतीय वनडे में वापसी की राह देख रहे है यह 5 बड़े खिलाड़ी 

Enter caption

मौजूदा समय में भारतीय क्रिकेट टीम का बहुत बड़ा नाम हैं। टेस्ट क्रिकेट हो, एकदिवसीय क्रिकेट हो या ट्वेंटी-20 क्रिकेट, तीनों ही प्रारूपों में टीम इंडिया के खिलाड़ी झंडे गाड़ते दिखाई पड़ रहे है। बात अगर सिर्फ एकदिवसीय क्रिकेट की करे, तो इस फॉर्मेट में भारतीय टीम के खिलाड़ियों का कोई जवाब नहीं हैं।

ऐसा हो भी क्यों ना जिस टीम में विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन जैसे दमदार बल्लेबाज और भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह जैसे उम्दा गेंदबाज हो, वो टीम तो विश्व क्रिकेट पर राज करेगी ही। एक तरफ जहाँ भारतीय टीम के यह दिग्गज खिलाड़ी लगातार टीम की जीत में अपना अहम योगदान देते नजर आ रहे हैं, तो वही कुछ नाम ऐसे भी मौजूद है, जो आज भी भारतीय वनडे क्रिकेट टीम में अपनी वापसी का सपना संजोय बैठे हुए हैं।

इस लेख के माध्यम से हम आपको आज उन पांच बड़े और नामी भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे है, जो लम्बे समय से एकदिवसीय टीम का हिस्सा नहीं है और आज भी टीम में वापसी के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाते नजर आते हैं।

# रॉबिन उथप्पा

Robin Uthappa vs Zimbabwe

इस सूची में सबसे पहला नाम सलामी बल्लेबाज के रूप में जाने जाने वाले रॉबिन उथप्पा का आता हैं। साल 2006 में इंग्लैंड के विरुद्ध अपने एकदिवसीय करियर का आगाज करने वाले रॉबिन उथप्पा करीब करीब चार साल से वनडे टीम से बाहर हैं। उथप्पा ने देश के लिए अपना अंतिम एकदिवसीय मुकाबला साल 2015 में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ हरारे के मैदान पर खेला था।

इस श्रृंखला के बाद रोबिन उथप्पा को एक बार भी भारतीय वनडे में जगह नहीं दी गयी।33 वर्षीय रॉबिन उथप्पा ने टीम इंडिया के लिए अभी तक कुल 46 वनडे मैच खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 90.59 के स्ट्राइक रेट और 25.94 की औसत के साथ कुल 934 रन बनाये हैं। अपने पहले ही अंतर्राष्ट्रीय मैच में 86 रन बनाने वाले इस खिलाड़ी के नाम पर छह अर्द्धशतक भी दर्ज हैं।

# इरफान पठान

Irfan Pathan

सूचि में सबसे अगला नाम नामचीन ऑल राउंडर इरफान पठान का आता हैं। 34 वर्षीय इरफान पठान भी भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट टीम से पूरे सात सालों से बाहर चल रहे हैं। इरफान पठान ने देश के लिए अपना सबसे आखिरी वनडे मैच साल 2012 में श्रीलंका के विरुद्ध खेला था। ताज्जुब की बात तो यह हैं, कि इस मुकाबले में इरफान पठान को 'मैन ऑफ द मैच' का अवार्ड दिया गया था और इसके बावजूद भी उनको इस सीरीज के बाद टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

इस मैच में इरफान पठान ने 61 रन देकर पांच विकेट और 28 गेंदों में नाबाद 29 रनों की पारी खेल टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। हरफनमौला खिलाड़ी इरफान पठान एक लम्बे अरसे से टीम इंडिया में अपनी वापसी की आस लगाये बैठे हैं। इरफान अभी तक खेले अपने 120 एकदिवसीय मैचों में 1,544 रन और 173 विकेट ले चुके हैं।

# इशांत शर्मा

Ishant Sharma

सूचि में तीसरे स्थान पर तेज गेंदबाज इशांत शर्मा का नाम आता हैं। इशांत शर्मा भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के एक सबसे प्रमुख और अहम सदस्य माने जाते हैं, लेकिन जब बात एकदिवसीय क्रिकेट की आती हैं तो इनके नाम पर चयनकर्ताओं को काफी विचार करने पर मजबूर होना पड़ता हैं।

साल 2007 से अपने वनडे करियर की शुरुआत करने वाले इशांत शर्मा ने टीम इंडिया के आज तक कुल 80 मुकाबलें खेले हैं। इस दौरान वह टीम के लिए 115 विकेट लेने में कामयाब हुए हैं। इशांत शर्मा ने अपना अंतिम एकदिवसीय मैच साल 2016 में भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर खेला था।

तीन सालों से इशांत शर्मा भारतीय वनडे क्रिकेट टीम में वापसी की राह देख रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट में शानदार गेंदबाजी करने वाले 30 वर्षीय इशांत शर्मा पूरे छह सालों से ट्वेंटी-20 टीम से भी बाहर ही चल रहे हैं।

# चेतेश्वर पुजारा

Cheteshwar Pujara

सूचि में चौथे पायदान पर भरोसेमंद बल्लेबाजो में से माने जाने वाले चेतेश्वर पुजारा का नाम आता हैं। भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम में चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी की मिसाले दी जाती हैं, किन्तु जब बात एकदिवसीय क्रिकेट की आती हैं तो सभी के मुहं बंद हो जाते हैं।

टेस्ट स्पेशलिस्ट खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा भी छह सालों से भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट टीम का हिस्सा नहीं हैं। 31 वर्षीय चेतेश्वर पुजारा ने देश के लिए कहने को मात्र पांच ही वनडे मैच खेले हैं और इस दौरान उनका प्रदर्शन भी काफी निराशाजनक रहा हैं।

पांच वनडे मैचों में चेतेश्वर पुजारा ने 10.2 की औसत और 39.23 के स्ट्राइक रेट के साथ मात्र 51 रन ही बनाये हैं। टेस्ट क्रिकेट में कई ऐतिहासिक पारियां खेल देश को जीत दिलाने वाले चेतेश्वर पुजारा को अगर आने वाले समय में एकदिवसीय टीम में भी अपना जगह पक्की करनी हैं, तो इस प्रारूप में उनको एक अच्छे स्ट्राइक रेट के साथ प्रदर्शन करना पड़ेगा।

# अमित मिश्रा

Amit Mishra

सूचि में सबसे आखिरी नाम अमित मिश्रा का आता हैं। पेशे से राईट आर्म लेग ब्रेक स्पिन गेंदबाज अमित मिश्रा भी एक लम्बे समय से भारतीय एकदिवसीय क्रिकेट टीम का हिस्सा नहीं है। अमित मिश्रा ने टीम इंडिया के लिए अपने करियर का सबसे पहला एकदिवसीय मैच साल 2003 में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध खेला था और अपना अंतिम वनडे मुकाबला उन्होंने साल 2016 अक्टूबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। करीब करीब ढाई सालों से अमित मिश्रा भी वनडे टीम में अपनी वापसी का सपना देख रहे हैं।

आप सभी की जानकारी के लिए बता दे, कि अपने अंतिम एकदिवसीय मुकाबलें में 36 वर्षीय अमित मिश्रा ने न्यूजीलैंड के विरुद्ध मात्र छह ओवर में काबिले तारीफ गेंदबाजी करते हुए सिर्फ 18 रन देकर पांच विकेट हासिल किये थे। यह उनके शानदार प्रदर्शन का ही नतीजा था, कि टीम इंडिया यह मुकाबला 190 रनों के विशाल अंतर से जीतने में सफल हुई थी और अमित मिश्रा को उनके यादगार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' का ख़िताब भी दिया गया था।

Quick Links

App download animated image Get the free App now