COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

भारत के 5 अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम जिन्हें अनदेखा कर दिया गया है

Fambeat Hindi
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
18.53K   //    07 Jan 2019, 21:42 IST

Image result for jamtha nagpur

बीसीसीआई क्रिकेट स्टेडियम के नियमित निर्माण को लेकर हमेशा आगे रहा है। भारत में क्रिकेट प्रेमियों के लिए यह खेल एक धर्म की तरह है और इसका मैदान किसी विशेष मंदिर से कम नहीं हैं।

मुंबई के जिमखाना स्टेडियम में भारत की मेजबानी में आयोजित पहले अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद से भारतीय क्रिकेट ने एक लंबा सफर तय किया है। देश में सबसे अधिक क्रिकेट मैदानों की सूची में भारत का पहला स्थान है। पूरे देश में 50 से भी अधिक ऐसे मैदान है जहाँ कम से कम एक अंतर्राष्ट्रीय मैच का आयोजन हो चूका है। लेकिन इस सूची में कुछ ऐसे मैदान भी है जिसको बीसीसीआई के द्वारा या फिर क्रिकेट प्रेमियों के द्वारा नज़रंदाज़ कर दिया गया है। 

पूरे देश में नए-नए मैदानों को नियमित रूप से अंतरराष्ट्रीय खेलों की मेजबानी करने का सौभाग्य मिलता रहा है, वहीँ ऐसे कुछ पुराने मैदान है, जहाँ पिछले 20 वर्षों में अंतरराष्ट्रीय खेल का आयोजन नहीं किया गया है।

आइये, एक नजर डालते है उन 5 भारतीय मैदानों पर, जहाँ कम से कम एक अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजित हो चूका है, लेकिन अब बीसीसीआई के द्वारा नजरअंदाज कर दिया गया है।


#1. कप्तान रूप सिंह स्टेडियम, ग्वालियर


Image result for captain roop singh stadium gwalior

साल 2010-11, भारत में क्रिकेट प्रेमियों के लिए और खास तौर पर ‘क्रिकेट के भगवान’ माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर के प्रशंषको के लिए ये इतिहास लिखने वाला साल रहा होगा। यह वही मैदान है जहां मास्टर ब्लास्टर ने वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक बना कर इतिहास रचा था। भारत ने उस मैच में 153 रनों के बड़े अंतर से जीत हासिल की थी, लेकिन किसी ने ये नहीं सोचा होगा की यह मैच, इस मैदान का आखिरी मैच होगा।

ग्वालियर में स्थित इस मैदान में पहले अंतरराष्ट्रीय खेल का आयोजन 1988 में किया गया था और पिछले 22 वर्षों में इस मैदान ने कुल 12 एकदिवसीय मैचों की मेजबानी की है। साल 1998 में, इसी मैदान पर केन्या ने भारत को पहली बार हरा कर इतिहास रचा था।

जैसे-जैसे समय बीतता गया, नए और बड़े मैदानों में मैच आयोजित होने लगे, परिणामस्वरूप इस मैदान ने पिछले 8 वर्षो में एक भी मैच की मेजबानी नहीं की।


1 / 5 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...