Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 भारतीय खिलाड़ी जो DPL की मदद से अपने करियर को दे सकते हैं पहचान

EXPERT COLUMNIST
Modified 28 Jun 2016
साल 2013-14 से ढाका प्रीमियर लीग को लिस्ट ए का दर्जा प्राप्त हैं और तब से ही काफी विदेशी खिलाड़ी इस 50 ओवर के टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए बांग्लादेश आ रहे हैं। इस टूर्नामेंट के पहले सीज़न में 82 विदेशी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया, जिसमे ओइन मॉर्गन, रवि बोपारा, जेैकब ओरम और रेयान टेन डेश्काटे शामिल थे। हाल ही में खत्म हुए डीपीएल के सीजन में काफी विवाद भी देखने को मिले, जैसे एक क्लब के सदस्य खुद ही मैच फिक्सिंग में शामिल पाए गए, खिलाड़ियों को पैसे ही नहीं मिले और यहा तक कि अंपायर्स ने मैच से वॉकआउट कर दिया। इन सब के बावजूद भी डीपीएल में कुछ शानदार क्रिकेट देखने को मिला और खिलाड़ियों ने भी शानदार प्रदर्शन किया, जिसमें बांग्लादेश और कई विदेशी खिलाड़ी शामिल थे। इस साल विदेशी खिलाड़ियों की लिस्ट में थोड़ा बदलाव हुआ। 36 विदेशी खिलाड़ियों में से 22 खिलाड़ी भारत के थे, तो 10 खिलाड़ी श्रीलंका के थे। बीसीसीआई के अपने खिलाड़ियों को बाहर की लीग में खेलने देने से, इंडियंस फैंस को काफी फायदा हुआ। इस लिस्ट में काफी बड़े खिलाड़ी शामिल थे, जिन्होंने अच्छा किया, जैसे, मनोज तिवारी(एक मैच में 40 रन ), युसूफ पठान(दो मैच में 68 रन), रजत भाटिया(दो मैच में 105 रन और दो विकेट), दिनेश कार्तिक(4 मैच में 179 रन), हरयाणा के सचिन राणा(दो मैच में 75 रन और साथ में 4 विकेट) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के सचिन बेबी जिन्होंने 5 मैच में 127 रन बनाए और एक विकेट हासिल किया। सनराइजर्स हैदरबाद के बिपुल शर्मा जिन्होंने इस साल शतक भी लगाया, उसके अलावा वो ज्यादा कुछ नहीं कर पाए। इंडिया के गुरकिरत मान वो भी दो मैच में 22 रन ही बना पाए और सिर्फ दो विकेट ही हासिल किए। इनका प्रदर्शन बांग्लादेश में अच्छा नहीं रहा। 1- उदय कौल (अबहानी लिमिटेड)- चार मैच में 169 रन  fullscreen-capture-6272016-85938-pm.bmp-1467041446-800 पंजाब के उदय कौल इंडिया के पहले खिलाड़ी थे, जिन्हें डीपीएल में साइन किया गया था। उन्होंने अबहानी के लिए उनका पहला मैच 22 अप्रैल को खेला। उनका प्रदर्शन अच्छा रहा और उसके बाद उनके क्लब ने कम समय में पठान, भाटिया, तिवारी और कार्तिक को भी साइन किया। कौल अबहानी के लिए सॉलिड मिडल ऑर्डर बल्लेबाज़ साबित हुए, जिसके बदौलत वो डीपीएल जीतने में भी कामयाब रहे। उन्होंने पहले तीन मैच में 44*, 63 और 59 रन बनाए। कौल ने 2012 में हुए प्राइम बैंक सीसी में अच्छा करने के बाद डीपीएल में जगह बनाई। उन्होंने तीन पारियों में 221 रन बनाए थे। कौल आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब का भी हिस्सा रहे हैं, लेकिन उनके लिए वो कुछ खास नहीं कर पाए। 28 वर्षीय कौल, जो कि विकेट कीपिंग भी कर लेते हैं, उन्हें अगले साल आईपीएल की नीलामी में कोई न कोई टीम तो जरूर खरीदेगी।
1 / 5 NEXT
Published 28 Jun 2016, 17:44 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now