COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ENG v IND: 5 भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने इंग्लैंड में कमाल दिखाया है

20   //    03 Jul 2018, 09:05 IST

इंग्लैंड एक ऐसा देश जहां किसी भी विदेशी क्रिकेटर और टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करना मुश्किल होताहै। ख़ासकर अगर टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो इंग्लैंड को उसी के देश में हराना आसान नहीं होता है। हमें टीम इंडिया को 2011 और 2014 का इंग्लैंड दौरा याद है। 2014 में विराट कोहली भी इंग्लैंड में बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे।

इंग्लैंड की पिच पर गेंद अकसर घूमती हुई नज़र आती है और ऐसे में किसी भी बल्लेबाज के लिए इन गेंद पर शॉट लगाना मुश्किल होता है। हांलाकि कुछ सालों में सीमित ओवर के खेल के लिए दुनियाभर की पिच को समतल बनाया गया है। लेकिन चुनौती आज भी बनी हुई है। टेस्ट मैच में जिस तरह से गेंद घूमती है उसकी वजह से न सिर्फ़ बल्लेबाज़ो, बल्कि गेंदबाज़ों को भी उसके हिसाब से ढालना होता है। इंग्लैंड के मैदान में ड्यूक गेंद का इस्तेमाल होता है जिसमें कुकाबुरा गेंद के मुक़ाबले ज़्यादा सीम देखने को मिलती है।

इन सभी चुनौतियों के बावजूद टीम इंडिया के कुछ क्रिकेटर हैं जिन्होंने इंग्लैंड में अपने खेल से सभी क्रिकेट फ़ैंस का दिल जीता है। हम यहां उन 5 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिन्होंने इंग्लैंड में धमाल मचाया है।

राहुल द्रविड़




 

राहुल द्रविड़ 1990 के दशक और 21वीं सदी के पहले दशक में टीम इंडिया के ‘दीवार’ रहे हैं। द्रविड़ के लिए इंग्लैंड सबसे ख़ास विदेशी मैदान रहा है। वो जब भी इंग्लैंड के दौरे पर गए हैं उनका प्रदर्शन क़ाबिल-ए-तारीफ़ रहा है। साल 1996 में लॉर्ड्स के मैदान में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। उन्हें इस मैच में नंबर-7 पर बल्लेबाज़ी करने का मौका मिला था, जहां उन्होंने 95 रन की पारी खेली थी। भले ही वो शतक बनाने से चूक गए थे लेकिन उन्होंने दिखा दिया था कि वो लंबी पारी खेलने की ताक़त रखते हैं। उन्होंने ट्रेंट ब्रिज में हुए अगले टेस्ट मैच में भी शतक लगाने का मौका गंवाया था। इस मैच में उन्होंने 84 रन की पारी खेली थी। इस तरह उन्होंने अपनी पहली टेस्ट सीरीज़ में ही अपने हुनर का प्रदर्शन किया था।

6 साल बाद द्रविड़ को फ़िर इंग्लैंड दौरे पर जाने का मौका मिला जहां उन्होंने कुल 602 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और एक अर्धशतक शामिल था। इस दौरान उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 100.33 था। हांलाकि 2007 का इंग्लैंड दौरा द्रविड़ के लिए अच्छा नहीं रहा, लेकिन साल 2011 में उन्होंने इंग्लैंड के मुश्किल हालात में भी शानदार बल्लेबाज़ी की थी। इस साल टीम इंडिया को टेस्ट सीरीज़ में 0-4 से हार का सामना करना पड़ा था। इस सीरीज़ में राहुल द्रविड़ एकलौते ऐसे बल्लेबाज़ थे जिन्होंने इंग्लैंड के गेंदबाज़ों का मज़बूती से सामना किया था।

उन्होंने साल 2011 की टेस्ट सीरीज़ में 76.83 की औसत से 461 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने लॉर्ड्स के मैदान में शतक भी लगाया था। कुल मिलाकर बात करें तो द्रविड़ ने इंग्लैंड के सभी दौरे में टेस्ट क्रिकेट में 68.80 की औसत से 1376 रन बनाए हैं। भारतीय बल्लेबाज़ों की बात करें तो इंग्लैंड में द्रविड़ का औसत सबसे अच्छा है। वनडे क्रिकेट में भी द्रविड़ ने इंग्लैंड में 45 की औसत से 1169 रन बनाए हैं।
1 / 5 NEXT
Advertisement
Fetching more content...