Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 मौके जब सुरक्षा कारणों से क्रिकेट टीम दूसरे देश के दौरे पर नहीं गई

EXPERT COLUMNIST
Modified 28 Aug 2016, 16:37 IST
Advertisement
इंग्लैंड टीम को अक्टूबर में दो टेस्ट और तीन एकदिवसीय मैचों की सीरीज खेलने बांग्लादेश जाना है। इस सीरीज को लेकर काफी चर्चाएँ हैं क्योंकि सुरक्षा कारणों को देखते हुए इंग्लैंड का ये दौरा मुश्किल में लग रहा था लेकिन इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने सभी अनुमानों को दरकिनार करते हुए टीम को बांग्लादेश भेजने का फैसला लिया है। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों ने बंगलदेश का दौरा किया और वो इस बारे में आश्वस्त हैं कि खिलाड़ियों की सुरक्षा को सबसे ज्यादा महत्त्व दिया जाएगा। इसी वजह से इसीबी के डायरेक्टर एंड्रू स्ट्रॉस को उम्मीद है कि बांग्लादेश के दौरे पर इंग्लैंड की टॉप टीम जाएगी। वैसे पिछले कुछ सालों में कई ऐसे सीरीज थे जो सुरक्षा कारणों से रद्द करने पड़े। इसके पीछे का प्रमुख कारण मेजबान देश के ऊपर हुआ आतंकवादी हमला या फिर राजनितिक अस्थिरता रहा। दौरा रद्द करने के मामले में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम सबसे ऊपर है और हालिया समय में उन्होंने ही हम आपको पांच ऐसे मौकों के बारे में बताते हैं जब सुरक्षा कारणों से टीमों ने दौरा करने से मना कर दिया: # 1 ऑस्ट्रेलिया, 1996 विश्व कप oz-1472238228-800 1996 में श्रीलंका की हालत काफी खराब थी और वहां सरकार और लिट्टे (लिबरेशन टाइगर्स ऑफ़ तमिल ईलम) के बीच गृह युद्ध छिड़ा था। इस स्थिति के कारण ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 1996 विश्व कप के दौरान श्रीलंका का दौरा करने से मना कर दिया था क्योंकि उन्हें डर था कि लिट्टे के सदस्य उन्हें नुकसान पहुंचा सकते हैं। उनका ये मानना सही भी था क्योंकि विश्व कप से ठीक पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम के होटल के बाहर बम धमाका हुआ था। ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच जो मैच नहीं हो पाया, उसके अंक मेजबान टीम के हिस्से में गए थे। हालाँकि इस विश्व कप के फाइनल में श्रीलंका का सामना ऑस्ट्रेलिया से ही था और लाहौर में हुए मैच में अरविन्द डी सिल्वा की लाजवाब पारी की बदौलत श्रीलंकाई टीम ने पहली बार एकदिवसीय विश्व कप जीता था।
1 / 5 NEXT
Published 28 Aug 2016, 16:37 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit