Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 मौके जब खिलाड़ियों ने कैच नहीं विश्व कप ही छोड़ दिया 

Enter caption
ऋषि
ANALYST
Modified 16 Nov 2018, 15:47 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

क्रिकेट इतिहास में विश्व कप सबसे अहम टूर्नामेंट होता है। अभी तक कुल 11 वनडे विश्व-कप खेले जा चुके हैं। इनमें से पांच पर ऑस्‍ट्रेलिया ने कब्‍जा जमाया है तो वहीं दो विश्‍व कप टीम इंडिया ने भी अपने नाम किए हैं। भारत को पहला विश्वकप जीतने के बाद दूसरे विश्वकप के लिए कई सालों का लंबा इंतजार करना पड़ा था लेकिन अंत में धोनी की कप्‍तानी में साल 2011 में भारत ने दूसरा विश्व-कप अपने नाम कर ही लिया था।

विश्वकप के फाइनल या अन्‍य मैच बहुत ही अहम होते हैं। एक गलती से विश्‍व कप हाथों से छूट जाता है और टीम को सिर्फ खुद पर गुस्‍सा करने के अलावा और कुछ नहीं बचता। यहां हम ऐसे ही पांच मौकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जब एक गलती की वजह से पूरा विश्‍व कप जीतने का सपना चकनाचूर हो गया था।

5. शेन वॉटसन का कैच बनाम पाकिस्तान (2015)

Enter caption

2015 में ऑस्‍ट्रेलिया और न्‍यूजीलैंड में संयुक्‍त रूप से विश्वकप का आयोजन हुआ था। इस विश्‍व कप के तीसरे क्‍वार्टरफाइनल मुकाबले में ऑस्‍ट्रेलिया और पाकिस्‍तान आमने सामने थी। पहले बल्‍लेबाजी करते हुए पाकिस्‍तान की पूरी टीम 213 के स्‍कोर पर सिमट गई। 214 रनों का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया के लिए भी आसान नहीं होने वाला था।

ऑस्‍ट्रेलियाई की शुरुआत ज्‍यादा अच्‍छी नहीं रही। ऑस्‍ट्रेलिया के पहले तीन विकेट महज 59 के स्‍कोर पर गिर गए थे। वॉटसन क्रीज पर जमने का प्रयास कर रहे थे तभी उन्‍होंने वहाब रियाज की एक गेंद उन्होंने हवा में खेल दी। कैच लेने के लिए खड़े राहत अली ने एक आसान सा कैच छोड़ दिया और इसके बाद वॉटसन ने शानदार 64 रनों की पारी खेली।

वॉटसन की इसी पारी की बदौलत ऑस्‍ट्रेलिया ने चार विकेटों से यह मैच जीत लिया और सेमीफाइल मुकाबले में जगह बना ली। सेमीफाइनल में भारत और फाइनल में न्यूजीलैंड को हराकर ऑस्ट्रेलिया ने इस विश्वकप को भी अपने नाम किया था।

1 / 3 NEXT
Published 16 Nov 2018, 15:47 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit