Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 मौके जब फैंस के कारण क्रिकेट को शर्मसार होना पड़ा 

फैंस द्वारा क्रिकेट मैच को लेकर किए गए ऐसे बर्ताव को कोई भी याद नहीं रखना चाहेगा
फैंस द्वारा क्रिकेट मैच को लेकर किए गए ऐसे बर्ताव को कोई भी याद नहीं रखना चाहेगा
FEATURED COLUMNIST
Modified 26 Jun 2020, 20:18 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

क्रिकेट को हमेशा से ही एक जेंटलमैन गेम के तौर पर देखा गया है, लेकिन ऐसा बहुत बार देखा गया हैं कि स्टेडियम के अंदर हिंसा का माहौल बन गया हो। अक्सर ऐसा होता हैं की फैंस की किसी टीम की तरफ, या किसी प्लेयर की तरफ नाराजगी के कारण झगड़ा हो जाता हैं और बाद में जाकर यह मैदान के अंदर भी देखने को मिलता हैं।

कई बार तो जब कोई खिलाड़ी अपने विरोधी के समर्थक से कुछ कहता है, तो भी झगड़ा होने के पूरा मौका होता हैं। विरोधी समर्थक के साथ झगड़ा करना हमेशा ही शर्मसार रहता है, ना सिर्फ जो जो देश इसमें खेल रही हैं, बल्कि क्रिकेट की छवि पर भी इसका बुरा असर पड़ता है।

आइये नज़र डालते हैं 5 ऐसे मौकों पर जब स्टेडियम के अंदर ऐसा झगड़ा देखने को मिला हो:

1- 2015 में सुधीर गौतम पर हमला 

sudhir-gautam-1466574908-800

2015 में बांग्लादेश में जिस तरह सुधीर गौतम पर हमला हुआ, उससे बुरा कुछ नहीं हो सकता। सुधीर जिस तरह हर मैच में कपड़े पहन कर आते हैं, खासकर सचिन की तरफ उनका प्यार हमेशा झलकता है और इसी कारण उनपर हमला हुआ।

यह हादसा उस सीरीज के दूसरे मुक़ाबले के एक दम बाद हुआ। गौतम ने इंडियन एक्स्प्रेस को बताया, "जैसे ही मैं स्टेडियम से निकला, कुछ लोगों ने मेरे ऊपर हमला कर दिया और मेरे हाथ से झंडा छीनकर उसके हैंडल को तोड़ने लगे। दो पुलिस वाले आए और मामले को शांत कराने लगे और उन्होने मुझे ऑटो-रिक्शा में बैठा दिया। लेकिन उन्होने ऑटो में भी मेरा पीछा नहीं छोड़ा और वहा भी मुझे मारने लगे।

उस हमले का कारण अभी भी किसी को नहीं पता, लेकिन कुछ रिपोर्ट्स की माने तो उनका गुस्सा के कारण 2015 वर्ल्ड कप के क्वाटर फाइनल में मिली हार थी। हालांकि, सुधीर बचने में कामयाब हुए।

1 / 5 NEXT
Published 26 Jun 2020, 20:18 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit