Create
Notifications

5 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर जिनकी मौत मैच खेलने के दौरान हुई थी

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फ़िलिप ह्यूज़ के जनाज़े में शामिल माइकल क्लार्क
शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

क्रिकेट एक जोखिम भरा खेल है, इसमें गंभीर चोट लगने और जान का ख़तरा बना रहता है। जब पेशेवर क्रिकेट की शुरुआत हुई थी, तब खिलाड़ी मैच खेलते वक़्त सुरक्षा उपकरण का इस्तेमाल नहीं करते थे, जिसकी वजह से कई क्रिकेटर्स को चोट का सामना करना पड़ा था। वक़्त बदला और क्रिकेट की दुनिया में नए ईजाद होने लगे। अब क्रिकेटर पैड, हेल्मेट, ग्लव्स, थाई गार्ड इत्यादि पहन कर मैदान में खेलने आते हैं। सुरक्षा के लिहाज से ये बेहद ज़रूरी है। ज़रा सी चूक क्रिकेटर के लिए जानलेवा साबित हो सकती है, या फिर खिलाड़ी का करियर हमेशा के लिए ख़त्म हो सकता है।

हम यहां ऐसे 5 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर को लेकर चर्चा कर रहे हैं जिनकी मौत इस खेल को खेलते वक़्त हुई थी।


#5 विल्फ़्रेड स्लैक

Enter caption

विलफ़्रेड स्लैक इंग्लैंड के खिलाड़ी थे, घरेलू टीम में वो मिडिलसेक्स टीम के लिए खेलते थे। वो अपनी बल्लेबाज़ी के हुनर के लिए जाने जाते थे। उन्होंने प्रथम श्रेणी के 237 मैच में 13950 रन बनाए थे, जिनमें 25 शतक शामिल थे। वो ग्राहम बारलो के साथ ओपनिंग बल्लेबाज़ी करने के लिए मैदान पर आते थे। उस वक़्त काउंटी क्रिकेट में स्लैक और बारलो से बेहतर सलामी जोड़ी और कोई नहीं थी। वो फ़ील्डिंग भी कमाल की करते थे, शॉर्ट लेग और सिली प्वाइंट उनकी पसंदीदा जगह थी। उन्होंने काउंटी क्रिकेट में 174 कैच लपके हैं।

एक वक़्त आया जब उनका सेहत ख़राब होने लगी, वो अकसर खेलते हुए अचानक रुकने लगे। 15 जनवरी 1989 को वो गांबिया में कैवेलियर्स XI के ख़िलाफ़ बल्लेबाज़ी कर थे, तभी वो अचानक मैदान में गिर गए। 34 साल की उम्र में उनकी मौत हो गई। उनके निधन के बाद उनके सम्मान में फ़िचले शहर के बार्नेट क्रिकेट ग्रांउड का नाम बदलकर विल्फ़ स्लैक ग्राउंड रख दिया गया था। उन्होंने इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम के लिए 3 टेस्ट और 2 वनडे मैच खेले। काउंटी क्रिकेट में योगदान के लिए वो आज भी याद किए जाते हैं।

Hindi Cricket News सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#4 रमन लांबा

Enter caption

रमन लांबा ने टीम इंडिया के लिए 4 टेस्ट और 32 वनडे मैच खेले थे। इस खिलाड़ी की मृत्यु काफ़ी दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से हुई थी। एक मैच में जब वो फ़ील्डिंग कर रहे थे तभी बल्लेबाज़ ने गेंद पर ज़ोरदार शॉट लगाया, गेंद रमन के कनपट्टी पर लग कर विकेटकीपर के हाथ में आ गई। बल्लेबाज़ का नाम मेहराब हुसैन था और लांबा अपनी टीम ‘अबाहानी क्रीड़ा चक्र’ के लिए खेल रहे थे। ये ढाका प्रीमियर लीग का मैच था जो बांगबंधु नेशनल स्टेडियम में 20 फ़रवरी 1998 को खेला जा रहा था।

रमन की टीम के कप्तान ख़ालिद मसूद ने उन्हें आख़िरी 3 गेंदों के लिए शॉट लेग में फ़ील्डिंग करने को कहा। रमन ने हेलमेट न पहनने की ग़लती की जो उन्हें भारी पड़ गई। चोट लगने के फ़ौरन बाद वो ड्रेसिंग रूम में पहुंच गए जहां वो गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां ये पता चला कि उनके दिमाग में ख़ून का थक्का जम गया है। उन्हें आईसीयू में रखा गया, लेकिन 3 दिन बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

Hindi Cricket News सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#3 वसीम राजा

Enter caption

वसीम राजा पाकिस्तान टीम के शानदार ऑलराउंडर थे, उन्होंने अपने देश के लिए 57 टेस्ट और 54 वनडे मैच खेले हैं। 250 प्रथम श्रेणी मैच में उन्होंने 11434 रन बनाए और 558 विकेट हासिल किए हैं। इसके अलावा वो आईसीसी मैच रेफ़री भी बनाए गए थे, इस रोल को निभाते हुए उन्हें 15 टेस्ट मैच का अनुभव हासिल हुआ था। वो रमीज़ राजा के भाई हैं, रमीज़ पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान रह चुके हैं और मौजूदा वक़्त में वो नामी कॉमेंटेटर हैं।

23 अगस्त 2006 को वसीम राजा सरे टीम के लिए लिए एक मैच खेल रहे थे, उस वक़्त उनकी उम्र 54 साल की थी। उन्होंने कुछ ओवर फेंके और फ़िर उनका सिर चकराने लगा। वो बाउंड्री के पास गिर गए और फिर वो दोबारा कभी ठीक नहीं हो पाए। जावेद मियांदाद कहा था कि उनकी मृत्यु से क्रिकेट का बहुत नुक़सान हुआ है। वो आज भी पाकिस्तानी क्रिकेट फ़ैंस के दिलों में राज करते हैं।

Hindi Cricket News सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#4 एंडी डुकैट

Enter caption

एंडी डुकैट उन चुनिंदा क्रिकेटर में से हैं जिन्होंने अपने देश के लिए क्रिकेट और फ़ुटबॉल दोनों ही खेल खेला है। उनका जन्म 16 फ़रवरी 1886 में लंदन में हुआ था। साल 1920 में उन्हें विज़डन क्रिकेटर ऑफ़ द ईयर घोषित किया गया था। इंग्लिश क्रिकेट टीम की तरफ़ से उन्होंने महज़ 1 टेस्ट मैच खेला है। हांलाकि उस मैच में वो कुछ ख़ास नहीं कर पाए। दोनों पारियों में वो क्रमश: 3 और 2 रन बनाकर आउट हो गए।

उनका प्रथम श्रेणी करियर ज़बरदस्त रहा, उन्होंने 429 फ़र्स्ट क्लास मैच में 23,373 रन बनाए थे, जिनमें 52 शतक और 109 अर्धशतक शामिल थे। इसके अलावा वो गेंदबाज़ी करते हुए भी नज़र आते थे। उन्होंने प्रथम श्रेणी में 21 विकेट हासिल किए हैं। साल 1942 में लंदन के लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड में हार्ट अटैक की वजह से उनका निधन हो गया। इसके बाद उनके सम्मान में मैच को रद्द कर दिया गया। उस वक्त उनकी उम्र 52 साल की थी।

Hindi Cricket News सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#1 फ़िलिप ह्यूज़

Enter caption

फ़िलिप ह्यूज़ का जन्म 30 नवंबर 1988 को न्यू साउथ वेल्स के मैक्सविले शहर में हुआ था। वो बाएं हाथ के ओपनिंग बल्लेबाज़ थे। उन्होंने 20 साल की उम्र में 2009 में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ अपने टेस्ट करियर का आग़ाज़ किया था। साल 2013 में उन्होंने वनडे में डेब्यू किया था, जिसमें उन्होंने शानदार 112 रन की पारी खेली थी। ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए उन्होंने 26 टेस्ट और 25 वनडे मैच खेले हैं।

Enter caption

25 नवंबर 2014 को सिडनी के मैदान में न्यू साउथ वेल्स और साउथ ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच जारी था। तभी न्यू साउथ वेल्स के गेंदबाज़ शॉन एबॉट ने फ़िलिप ह्यूज़ को बाउंसर गेंद फेंका। गेंद फ़िलिप के बाएं कान के नीचे लगी। हांलाकि फ़िलिप ने हेलमेट पहना हुआ था लेकिन इसका कोई फ़ायदा नहीं हुआ। वो पिच पर ही गिर पड़े और कोमा में चले गए, उन्हें अस्पताल ले जाया गया। बाद में डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। फ़िलिप अगर आज जीवित होते तो ऑस्ट्रेलियाई टीम के सुपरस्टार बन सकते थे।

Hindi Cricket News सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Fetching more content...