टॉप-5 कम प्रसिद्ध आंकडे जो क्रिकेट के अनेपक्षित देशों ने बनाए हैं

churchill-park-lautoka-witnessed-one-of-the-greatest-cricket-shows-by-a-fijian-1453351206-800

क्या आपको पता है, क्रिकेट इतिहास का सबसे तेजी से पीछा किया जाने वाला लक्ष्य का रिकॉर्ड किस देश के नाम है, तो आपको जवाब मिलेगा नेपाल। नेपाल ने म्यांमार को 10 रन आउट कर दिया था। जिसके बाद नेपाल ने इस स्कोर को मात्र 2 गेंदों में हासिल कर लिया। ये रिकॉर्ड साल 2006 में बना था। साथ ही पापुआ न्यू गिनी के नाम भी एक अच्छा रिकॉर्ड है इस देश ने अपने पहले दोनों मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाया है। ये सुनने में अजीब लगता है। एसोसिएट और एफिलिएट देश इसी प्रक्रिया से होकर बड़े मंच के लिए बढ़ते हैं। इन देशों ने अपने प्रदर्शन से लोगों को अचम्भित किया है। जिससे बड़ी विपक्षी टीमें भी इन्हें हल्के में नहीं लेती हैं। ऐसे ही कुछ और रिकॉर्ड हैं जो इन देशों ने बनाएं हैं। आइये उनमें से हम आपको 5 रिकॉर्डों के बारे में आपको बताते हैं:

#5 पीटर मुसप्रैट-62 रन देकर 8 विकेट बनाम पाकिस्तान

फिजी ग्लोबल क्रिकेट मंच पर इतना ज्यादा नजर नहीं आया है। लेकिन अभी तक जितना भी फिजी को मौका मिला है इस देश ने अपने खेल का लुफ्त उठाया है। 1955 में तूफ़ान के बाद मैट पर हुए मैच में फिजी के पीटर मुसप्रैट ने पाकिस्तान के शीर्ष क्रम को झकझोर दिया था। परिस्थितियां फिजी के गेंदबाज़ पीटर के लिए बेहद अनुकूल साबित हुईं और पीटर ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए जावेद मियांदाद, तस्लीम आरिफ, हारुन रशीद और वसीम राजा को आउट किया था। पाकिस्तान का स्कोर एक समय 54 रन पर 4 विकेट हो गया था। ज़हीर अब्बास ने इस मैच में 98 रन बनाये थे, जबकि पीटर ने इस मैच में 62 रन देकर 8 विकेट लिए थे। लेकिन बल्लेबाजों की कमजोर बल्लेबाजी के चलते फिजी की टीम ने 101 रन बनाये थे। साथ ही ये दो दिनी मैच ड्रा पर जाकर खत्म हुआ।

#4 सोमपाल कामी- टी-20 क्रिकेट में 10वें नम्बर पर सर्वाधिक रन बनाने वाले

fullscreen-capture-21-01-2016-100459.bmp-1453350952-800

टी-20 क्रिकेट में 10 क्रम के बल्लेबाज़ के रूप में सोमपाल कामी ने सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था। नवम्बर 2014 में उन्होंने हांगकांग के खिलाफ चौथे टी-20 11.5 ओवर में जब नेपाल का स्कोर 25 रन पर 8 विकेट था तब कामी बल्लेबाज़ी करने गये थे। कामी ने इस मैच में 31 गेंदों पर 40 रन बनाये। जिसके बदौलत नेपाल ने हांगकांग के खिलाफ 20 ओवरों में 72 रन बनाये। दिलचस्प बात ये थी कि कामी इस मैच में नेपाल की तरफ से एकमात्र बल्लेबाज़ थे जो दोहरे अंक में पहुँच पाए थे। इस तरह से कामी ने टी-20 क्रिकेट का ये रिकॉर्ड अपने नाम किया था। हालाँकि उनकी टीम ये मैच हार गयी थी।

#3 मोहम्मद शहजाद- साल 2015 में टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन वाले खिलाड़ी बने

141701900-1453350724-800 (1)

अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज़ एसोसिएट देशों के दूसरे बल्लेबाज़ हैं जिन्होंने टी-20 में शतक बनाया है। शहजाद ने जिम्बाबे के खिलाफ साल 2015 में शारजाह में 67 गेंदों में 118 रन की पारी खेली थी। लेकिन उनका एक दूसरा रिकॉर्ड ये है कि उन्होंने साल 2015 में टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। शहजाद ने बीते साल 11 टी-20 मैचों में 297 रन बनाये हैं। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के फाफ डूप्लेसिस ने 272 रन बनाये हैं और इस लिस्ट में वह दुसरे स्थान पर हैं। शहजाद अफगानिस्तान के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हैं। जिन्होंने अपने देश के लिए टी-20 में 1000 रन बनाने के साथ-साथ फर्स्ट क्लास क्रिकेट में पहला दोहरा शतक भी लगा चुके हैं।

#2 महबूब आलम-सीमित ओवर के क्रिकेट में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड

486280_131435283707336_789290191_n-1453350573-800

नेपाल क्रिकेट ने कई ऐसे रिकॉर्ड बनाएं हैं, जिसे तोड़ना नामुमकिन जैसा है। नेपाल के गेंदबाज़ महबूब आलम ने साल 2008 में आईआईसी के कराये गये वर्ल्ड क्रिकेट लीग मैच में मोजाम्बिक के खिलाफ पांच मैचों की सीरिज में नेपाली गेंदबाज़ महबूब आलम ने एक पारी में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड कायम कर दिया। नेपाल ने इस मैच में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 238 रन बनाये थे, जिसके बाद मोजाम्बिक 19 रनों पर आलआउट हो गयी थी। इस मैच में महबूब आलम को सारे विकेट मिल गये थे। मोजाम्बिक के नौ बल्लेबाज़ खाता खोले बगैर आउट हुए थे। महबूब आलम का ये रिकॉर्ड गिनीज बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज है। इससे पहले टेस्ट मैचों में अनिल कुंबले और जिम लेकर ने 10 विकेट लिए थे। महबूब आलम ने कहा," जब मैं 8 विकेट ले चुका था तो मुझे लगने लगा था कि अगर अब 10 विकेट नहीं लिए तो कभी भी 10 विकेट नहीं ले पाऊंगा। लेकिन भाग्यवश मैंने बाकी बचे दोनों विकेट लेकर ये कारनामा कर दिखाया।"

#1 केविन ओ ब्रायन-विश्वकप में सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड

109712685-1453350131-800

आईसीसी विश्वकप में आयरलेंड शानदार सफलता हासिल की थी। इस टीम ने इंग्लैंड को एक उलटफेर में हराकर विश्वकप में बाहर का रास्ता दिखा दिया था। इंग्लैंड ने आयरलैंड के सामने 327 रन का लक्ष्य रखा था। जिसे आयरलैंड ने केविन ओ ब्रायन के तेज तर्रार शतक के बदौलत हासिल कर लिया था। ब्रायन ने इस मैच में 50 गेंदों में शतक बनाया था, हालांकि पिछले वर्ल्डकप में डिविलियर्स और मैक्सवेल ने क्रमशः52 और 51 गेंदों में शतक बनाये थे। लेकिन ये रिकॉर्ड अभी भी ब्रायन के नाम ही है। ब्रायन ने न सिर्फ सबसे तेज शतक बनाया था बल्कि आयरलैंड ने इस मैच में विश्वकप में सबसे बड़ा स्कोर भी चेज किया था। लेखक-दीप्तेश सेन, अनुवादक-मनोज तिवारी

App download animated image Get the free App now