Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 खिलाड़ी जिन्होंने आश्चर्यजनक तरीके से भारतीय टीम में वापसी की

SENIOR ANALYST
Modified 01 Jul 2017, 20:55 IST
Advertisement
नेशनल टीम में खेलने के लिए इंतजार करना और उसके लिए कड़ी मेहनत करना क्या होता है ये कोई अमोल मजूमदार से पूछे। वो रणजी क्रिकेट के इतिहास में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि वो कभी भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से नहीं खेल पाए। रणजी क्रिकेट इतिहास का दूसरा सबसे ज्यादा रन बनाने वाला बल्लेबाज अपने देश के लिए खेलने का गौरव नहीं पा सका। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अमोल मजूमदार की बल्लेबाजी वैसी ही थी जैसी इंटरनेशनल क्रिकेट में महान सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ की। उन्होंने लगातार रणजी मैचो में रन बनाए लेकिन नेशनल टीम में जगह नहीं बना सके। इससे पता चलता है कि भारत के लिए खेलना कितना कठिन होता है। हालांकि कभी-कभी टीम में ऐसे प्लेयरों को चुन लिया जाता है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं करता। आइए जानते हैं उन 5 प्लेयरों के बारे में जिन्होंने ना केवल भारतीय टीम के लिए खेला बल्कि वनडे टीम में भी जगह बनाई। 1.राहुल द्रविड़ का अचानक से संन्यास ले लेना राहुल द्रविड़ 'इस वनडे सीरीज के बाद मैं वनडे और टी-20 क्रिकेट से संन्यास ले लूंगा। मैं अपना ध्यान केवल टेस्ट क्रिकेट पर लगाउंगा। पिछले 2 साल से मैं वनडे टीम में चुना नहीं जा रहा हूं, ये हैरानी भरा है।' पिछला वनडे मैच- 30 सितंबर 2009 वनडे में वापसी-
Advertisement
3 सितंबर 2011 वनडे टीम में चयन- 2 साल बाद 2011 में भारतीय टीम ने इंग्लैंड का दौरा किया और ये दौरा इंग्लैंड vs द्रविड़ बन कर रह गया था। टेस्ट सीरीज में राहुल द्रविड़ ने काफी शानदार प्रदर्शन किया। भारतीय टीम के बाकी खिलाड़ियों ने जहां कुल मिलाकर 7 बार 50 रन ही बना सके तो वहीं राहुल द्रविड़ ने अकेले 4 टेस्ट मैचो में 3 शतक लगाए। टेस्ट मैचो में शानदार प्रदर्शन का नतीजा ही था कि राहुल द्रविड़ को करीब 2 साल बाद वनडे सीरीज में चुना गया। उन्हे टी-20 सीरीज में भी चुना गया। द्रविड़ ने इससे पहले कभी भी अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच नहीं खेला था। टीम मे चुने जाने के बाद राहुल द्रविड़ ने तुरंत एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीमित ओवरों के खेल से संन्यास का ऐलान कर दिया। उनके इस संन्यास के घोषणा से सब हैरान रह गए। राहुल द्रविड़ ने वनडे सीरीज में भी अच्छा प्रदर्शन किया और अपने कार्डिफ में खेले गए अपने आखिरी अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच में 69 रन बनाए। अपने पहले और आखिरी टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच मे भी द्रविड़ ने दर्शकों का भरपूर मनोरजंन किया। उन्होंने समित पटेल के एक ओवर में 3 लगातार छक्के जड़े। 21 गेंदों पर 31 रनों की पारी द्रविड़ की पहली और आखिरी टी-20 पारी है।
1 / 5 NEXT
Published 01 Jul 2017, 20:55 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit