Create
Notifications

क्रिकेट इतिहास के 5 सबसे खतरनाक ओवर

सौम्या तिवारी
visit

क्रिकेट ने कई महान गेंदबाजों का निर्माण किया है, जो खतरनाक और सम्मानीय दोनों ही थे। मैच को पलटने की क्षमता और खतरनाक बल्लेबाज में भी खौफ पैदा करना उनकी योग्यता की पहचान करवाता है। चाहे वह गति हो या स्विंग या फिर घातक स्पिन, ऐसे कई गेंदबाज रहे हैं जो अपने दम पर सिर्फ एक ओवर में ही मैच को बदलने का माद्दा रखते हैं। इस लेख में आज हम क्रिकेट इतिहास के ऐसे ही खतरनाक गेंदबाजों के पांच सबसे घातक ओवरों के बारें में बतायेंगे- #5 शोएब अख्तर बनाम साउथ अफ्रीका, मार्च 2000

 Shoaib Akhtar

28 मार्च 2000 को पाकिस्तान ने शारजाह में त्रिकोणीय सीरीज़ में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेला। पाकिस्तान सिर्फ 168 रन ही बना सका और साउथ अफ्रीका को 169 का लक्ष्य मिला। हर्शेल गिब्स ने दक्षिण अफ्रीका को एक मजबूत शुरूआत दी। शोएब अख्तर गेंदबाजी करने के लिए आए तब तक वे 74 रन बना चुके थे। उन्होंने 3 ओवरों की गेंदबाजी तब कोई विकेट नहीं मिला लेकिन चौथे ओवर में उनका विध्वंसक खेल शुरू हुआ। उन्होंने मार्क बाउचर को पहली ही गेंद पर बाउंसर डाला और वह स्टंप के पीछे मोईन खान को गेंद थमा बैठे। फिर उन्होंने डेल बेंकेंस्टिन को पवेलियन वापस भेज दिया। अपने चौथे ओवर की आखिरी गेंद में, उन्होंने लांस क्लुसनर को फुल लेंथ डिलीवरी के साथ स्टंप उखाड़ दिया और दक्षिण अफ्रीका का स्कोर चार विकेट पर 74 रन कर दिया। दक्षिण अफ्रीका ने उसके बाद से फिर वापसी नहीं कर पाया और नियमित अंतराल पर विकेट खो दिया। साउथ अफ्रीका की पूरी की पूरी टीम 101 रन पर आउट हो गई और पाकिस्तान यह मैच 67 रन पर आउट हो गया।#4 मिचेल जॉनसन, एशेज 2013/14

johnson

2013/14 एशेज श्रृंखला के दूसरे टेस्ट के दौरान मिशेल जॉनसन ने 7/40 की एक यादगार स्पैल की, जिसमें एक ओवर में 3 विकेट शामिल थे। ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी 570 पर घोषित की और इंग्लैंड को दूसरे दिन के तीसरे सत्र में बल्लेबाजी करने का मौका मिला। मिशेल जॉनसन ने कुक को जल्द वापस भेज गिया लेकिन जब जॉनसन अपना दूसरा स्पेल करने के लिए लौटे तब तक इंग्लैंड का स्कोर 4 विकेट खोकर 117 रन हुआ था पारी के 50 वें ओवर के दौरान जॉनसन ने स्ट्रोक्स को फंसाते हुए विकेट उखाड़ दिया और इंग्लैंड ने अपनी पारी का एक और विकेट गंवा दिया और स्कोर 117/5 हो गया। इसके बाद उन्होंने मैट प्रायर को अपने ओवर की 5वीं गेंद पर आउट कर दिया और फिर छठी गेंद पर स्टुअर्ट ब्रॉड का स्टंप गिरा दिया। उनकी गति इंग्लैंड के बल्लेबाजों के संभालने से परे थी। जॉनसन ने शेष तीन विकेट लेकर इंग्लैंड की पारी को केवल 172 पर समाप्त कर दिया।#3 चार्ल्स लैंगवेल्ट बनाम वेस्ट इंडीज, बारबाडोस 2005

CHARLLangaveldt

चार्ल लैंगवेल्ट ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में सबसे सनसनीखेज अंतिम ओवरों में से एक की गेंदबाजी की। बारबाडोस में एक द्विपक्षीय सीरीज़ मैच के दौरान 285 रन का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज को अंतिम ओवर में 4 रन की जरूरत थी और उसके हाथ में 3 विकेट थे। लैंगवेल्ट ने आखिरी फाइनल ओवर की शुरुआत की, क्रीज पर इयान ब्रैडशॉ और ड्वेन ब्रावो की जोड़ी मौजूद थी। 6 गेंद पर 4 रन बनाना कोई मुश्किल का काम नहीं था। उन्होंने पहले दो गेंदों पर सिंगल रन लिये और जीत के लिए 4 गेंद में बस 2 रन बनाने रह गए। जिसके बाद इतिहास की सर्वश्रेष्ठ हैट्रिक गेंद आयी। जिसने मैच का पासा ही पलट दिया। अपने ओवर की तीसरी गेंद पर, लैंगवेल्ट ने ब्रेडशॉ को इनस्विंग गेंद के साथ बोल्ड कर दिया। इसके बाद उन्होंने डेरेन पॉवेल को इसी तरह की डिलीवरी के साथ पवेलियन की ओर वापस भेज दिया, जिसके बाद वेस्ट इंडीज 2 गेंदों पर 2 रन बनाने थे और सिर्फ एक विकेट हाथ में बचा था। इसके बाद उन्होंने अपनी हैट्रिक बॉल पर कोरी कोलीमोर को एलबीडब्लू कर हैट्रिक लगा दी और उस हारे हुए मैच को जीता दिया। यह मैच आज तक ओडीआई क्रिकेट में यह सबसे नाटकीय समाप्ति में से एक था।#2 इरफान पठान बनाम पाकिस्तान, कराची 2006

 Irfan Pathan

इरफान पठान हरभजन सिंह के बाद टेस्ट मैच में हैट्रिक लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं। उस टेस्ट मैच में बड़ौदा के इस बाएं हाथ के तेज गेंदबाज की स्विंग का पाकिस्तान के शीर्ष क्रम के पास कोई जवाब नहीं था। कराची में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ के तीसरे मैच में राहुल द्रविड़ ने पाकिस्तान को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया और इरफान पठान ने भारत के लिए गेंदबाजी की शुरुआत की। पहली गेंद को सलमान बट ने डिफेंड कर दिया और अगली दो गेंद को खाली छोड़ दिया। इरफान के ओवर की चौथी गेंद पर स्विंग बॉल पर चमका खाते हुए सलमान बट स्लिप पर अपना कैच पकड़वा बैठे। इसके बाद उन्होने अपनी फुल लेंथ डिलीवरी पर युनूस खान को फंसाते हुए एलबीडब्लू कर दिया। इसके बाद इरफान ने मोहम्मद यूसुफ को अपनी इनस्विंग में फंसाते हुए उनका स्टंप उखाड़ फेंका और अपनी हैट्रिक पूरी की, पहले ओवर के साथ पाकिस्तान का स्कोर 0/3 विकेट था। यह हैट्रिक और भी ज्यादा खास हो जाती है क्योकि इससे उस पीढ़ी के दो महान पाकिस्तानी बल्लेबाजों को आउट किया था।#1 माइकल होल्डिंग का 'ओवर ऑफ़ द सेंचुरी बनाम ज्योफ बॉयकॉट, 1981

overofthecentury

यह 35 साल पहले हुआ था, लेकिन इसे अभी भी बहुत से लोगों द्वारा यह सबसे घातक ओवर के रूप में गिना जाता है। 1981 में इंग्लैंड के वेस्टइंडीज दौरे के तीसरे टेस्ट में वेस्टइंडीज पहली पारी में 265 रन पर ऑलआउट हो गया था। बॉयकॉट ने ग्राहम गूच के साथ इंग्लैंड के लिए ओपनिंग की और होल्डिंग ने पारी के दूसरे ओवर में गेंदबाजी करने के लिए आये। पहली गेंद एक लोशनर थी जो बॉयकॉट के दस्ताने को छूती हुई और स्लिप्स से थोड़ी सी पहले गिर गई। उन्हें अगली गेंद के बारे में कोई सुराग नहीं था और जिसे उन्होंने मुश्किल से छोड़ा। तीसरा डिलीवरी तेज गति से कट थी जिसने बॉयकॉट के जांघ पर मारा। वह मुश्किल से अगली 2 गेंदों को मैनेज करने में सफल रहे लेकिन होल्डिंग की गति और उछाल ने बॉयकॉट को आतंकित कर दिया था। फिर उसके बाद आता है आखिरी वार। अपने ओवर की छठी गेंद ने बॉयकॉट के ऑफ स्टंप को जमीन से उखाड़ फेका और क्रिकेट के इतिहास में एक यादगार मैच और खतरनाक ओवर के रूप में दर्ज हो गया। लेखक- सुजीत मोहन अनुवादक- सौम्या तिवारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now