Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

टेस्ट मैचों के 5 विध्वसंक तेज गेंदबाजी स्पेल

ऋषि
ANALYST
Modified 10 Oct 2017, 16:25 IST
Advertisement

तेज गेंदबाज अपने पूरे लय में गेंदबाजी कर रहा हो और बल्लेबाज एक-एक रन के लिए तरस रहा हो। हर गेंद से पहले उसके अंदर खौफ भरा रहे, टेस्ट क्रिकेट का सबसे भयानक दृश्य होता है। टेस्ट ही क्रिकेट का एक प्रारूप है जहां तेज गेंदबाज पूरी आज़ादी से गेंदबाजी कर सकता है। यहां उसके लिए कोई ओवरों की पाबंदी नहीं होती। वह लगातार 7-8 ओवर फेंक सकता है। जिसके कारण उसके विकेट लेने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं।

कई मौकों पर तेज गेंदबाज अपने एक स्पेल के दम पर पूरे टेस्ट मैच का पासा पलट देते हैं और विपक्षी टीम को ढेर कर देते हैं। कई बार सिर्फ तेज गति होती है तो कई बार स्विंग, रिवर्स स्विंग और सही दिशा की मदद से तेज गेंदबाज बल्लेबाजों के शिकार करते हैं।

आज हम आपको ऐसे ही तेज गेंदबाज़ों के 5 विध्वंसकारी गेंदबाजी स्पेल के बारे में बताएंगे

#5 स्टुअर्ट ब्रॉड बनाम ऑस्ट्रेलिया, नॉटिंघम 2015

BROAD

Advertisement

इंग्लैंड की मेजबानी में खेले गए 2015 एशेज सीरीज का सबसे यादगर पल आया चौथे टेस्ट के पहले दिन के पहले सेशन में, जब स्टुअर्ट ब्रॉड के 9.3 ओवरों के स्पेल ने ऑस्ट्रेलिया की पारी को तहस-नहस कर दिया। जेम्स एंडरसन की गैरमौजूदगी में ब्रॉड ने ऐसा किया जिसकी उम्मीद भी नहीं की जा सकती थी।

टेस्ट मैच में तीसरे ही गेंद पर ब्रॉड ने क्रिस रोजर्स को बाहर निकलती गेंद पर आउट किया और उसके बाद विकेटों के पतझड़ का सिलसिला शुरू हो गया। ऑस्ट्रेलिया की टीम को समझ ही नहीं आया कि क्या हो रहा हैं।

ब्रॉड की गेंद में तेजी से साथ सही लाइन और स्विंग थी, जिसका जवाब ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों के पास था ही नहीं। पारी में ब्रॉड ने 9.3 ओवरों में 15 रन देकर 8 विकेट हासिल किए और ऑस्ट्रेलिया की टीम 18.3 ओवरों में 60 रन पर ऑल आउट हो गयी।

1 / 5 NEXT
Published 10 Oct 2017, 16:25 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit