Create
Notifications

IPL के 5 सबसे महंगे खिलाड़ी जिनको ऊंची क़ीमत पर ख़रीदा जाना सही साबित हुआ

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

इंडियन प्रीमीयर लीग के 10 साल के इतिहास में कई खिलाड़ी करोड़पति बने हैं। इनमें से कई खिलाड़ी ऊंची क़ीमत पर ख़रीदे गए लेकिन बुरी तरह नाकाम साबित हुए हैं, जिसकी वजह से उन्हें नाकारात्मक प्रचार का सामना करना पड़ा। आईपीएल में ही कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जिनकी ऊंची बोली लगाए जाने पर सवाल उठे हैं लेकिन उन खिलाड़ियों ने अपने शानदार प्रदर्शन से सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। यहां हम उन महंगे खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं जो काफ़ी ऊंची क़ीमत पर बिके और अपने प्रर्दशन से अपनी क़ीमत को वाजिब ठहराया।

#5 बेन स्टोक्स (राइज़िंग पुणे सुपरजायंट)

बेन स्टोक्स ने साल 2017 में आईपीएल में डेब्यू किया था। राइज़िंग पुणे सुपरजायंट ने उन्हें 14.5 करोड़ रुपये में नीलामी के दौरान ख़रीदा था। वो पिछले साल के सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी थे। स्टोक्स ने अपने पहले आईपीएल सीज़न में 12 मैच खेले हैं जिसमें 12 विकेट हासिल किए हैं और साथ ही साथ 316 रन भी बनाए हैं। गुजरात लॉयन्स के ख़िलाफ़ खेलते हुए उन्होंने शानदार शतक लगाया था और इसी प्रदर्शन की बदौलत पुणे को मैच में जीत दिलाई थी। टी-20 में बेन स्टोक्स का अनुभव राइज़िंग पुणे सुपरजायंट के काफ़ी काम आया। बेन स्टोक्स ने पुणे टीम को टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुंचाया था जहां मुंबई टीम से उसे हार का सामना करना पड़ा था। उनके इसी हरफ़नमौला खेल की बदौलत उन्हें आईपीएल के 10वें सीज़न में ‘सबसे मूल्यवान खिलाड़ी’ का दर्जा दिया गया।

#4 रविंद्र जडेजा (चेन्नई सुपरकिंग्स)

रविंद्र जडेजा ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत राजस्थान रॉयल्स टीम के साथ की थी जहां वो 2 सीज़न तक बने रहे। साल 2012 में उन्हें चेन्नई सुपरकिंग्स टीम ने 2 मिलियन डॉलर में ख़रीदा था। वो पांचवें सीज़न के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे। चेन्नई टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को उनकी क़ाबिलियत पर पूरा भरोसा था। अगर रविंद्र जडेजा आज टीम इंडिया के सुपरस्टार हैं तो इसमें धोनी का बहुत बड़ा हाथ है। साल 2012 के आईपीएल सीज़न में उन्होंने चेन्नई की तरफ़ से खेलते हुए 12 विकेट हासिल किए और साथ ही साथ 191 रन भी बनाए। इस साल धोनी की टीम फ़ाइनल में पहुंची थी, जहां उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। जडेजा ने अपने 4 सीज़न चेन्नई टीम को दिए हैं, इसमें उन्होंने 55 विकेट लिए और 670 रन बनाए। अपने हरफ़नमौला प्रदर्शन से वो चेन्नई टीम के एक आदर्श खिलाड़ी बन गए थे। जडेजा की मौजूदगी में चेन्नई टीम 3 बार (साल 2012, 2013, 2015) फ़ाइनल में पहुंची थी। आईपीएल टूर्नामेंट से चेन्नई टीम के निलंबन के बाद रविंद्र जडेजा ने गुजरात लॉयंस टीम का दामन थामा जहां वो 2016 और 2017 में अपना योदगान दिया। साल 2018 में वो एक बार फिर चेन्नई टीम के लिए खेलने वाले हैं, देखना होगा कि वो इस आईपीएल में कैसा प्रदर्शन करते हैं।

#3 गौतम गंभीर (कोलकाता नाइटराइडर्स)

गौतम गंभीर ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत दिल्ली डेयरडेविल्स से की थी। वो साल 2011 के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे जब उन्हें 2.4 मिलियन डॉलर में कोलकाता नाइटराइडर्स ने ख़रीदा था। उसी साल वो केकेआर टीम के कप्तान भी बनाए गए थे। केकेआर के साथ पहले साल में खेलते हुए उन्होंने अपनी टीम को प्लेऑफ़ में पहुंचाया था। प्लेऑफ़ में केकेआर टीम मुंबई इंडियंस टीम से एलिमिनेटर राउंड में हार गई थी। साल 2011 में गंभीर ने 15 मैच में 378 रन बनाए थे। शाहरुख़ ख़ान की टीम की कप्तानी करते हुए गौतम गंभीर ने साल 2012 में केकेआर को आईपीएल ख़िताब जिताया था। फ़ाइनल में उन्होंने चेपॉक स्टेडियम में चेन्नई सुपरकिंग्स को हराया था। इस सीज़न में गंभीर ने एक कप्तान के तौर पर ज़िम्मेदारी भरी पारी खेली और 590 रन बनाए। गंभीर ने अपनी कप्तानी में 2014 में एक बार फिर केकेआर को आईपीएल ख़िताब दिलाया। फ़ाइनल में केकेआर ने किंग्स इलेवन पंजाब को हराकर ट्रॉफ़ी जीती थी। गंभीर की कप्तानी में केकेआर टीम का सितारा ख़ूब चमका था। गंभीर ने इस टीम को एक नई ऊंचाई दी है। कोलकाता टीम के तरफ़ से खेलते हुए गौतम गंभीर ने 7 सीज़न में कुल 3035 रन बनाए हैं। इससे गंभीर की क़ाबिलियत का पता चलता है।

#2 काइरोन पोलार्ड (मुंबई इंडियंस)

वेस्टइंडीज़ के इस खिलाड़ी ने साल 2009 में पहला चैंपियंस लीग टी-20 खेला था। इस टूर्नामेंट में उन्होंने 5 पारियों में 146 रन बनाए थे और अपनी विस्फोटक बल्लेबाज़ी की क्षमता को दुनिया के सामने पेश किया था। इस प्रदर्शन की बदौलत मुंबई इंडियंस टीम ने साल 2010 में क़रीब 750,000 अमेरिकी डॉलर से ज़्यादा की क़ीमत पर ख़रीदा था। काइरोन पोलार्ड उस सीज़न के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे। पोलार्ड ने अपने खेल की बदौलत मुंबई इंडियंस टीम को टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुंचाया था, जहां उनकी टीम को चेन्नई सुपरकिंग्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। साल 2010 में त्रिनिदाद के इस ऑलराउंडर ने मुंबई के लिए 14 मैच खेले जसमें उन्होंने 15 विकेट हासिल किए। साल 2013 में मुंबई टीम ने आईपीएल ख़िताब जीता था जिसमें काइरोन पोलार्ड का अहम योगदान था। पोलार्ड ने इस टूर्नामेंट में 420 रन बनाए और 10 विकेट हासिल किए थे। पोलार्ड की मौजूदगी में मुंबई इंडियंस टीम ने साल 2013, 2015 और 2017 में आईपीएल ख़िताब जीता था। मुंबई के लिए खेलते हुए उन्होंने 123 मैच में 2343 रन बनाए और 56 विकेट हासिल किए हैं। बेहद मुमकिन है कि मुंबई टीम उन्हें राइट टू मैच कार्ड के ज़रिए रिटेन कर ले।

#1 महेंद्र सिंह धोनी (चेन्नई सुपरकिंग्स)

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पहले आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे। हर टीम के मालिक धोनी को ख़रीदने के लिए जी जान से लगे हुए थे। आख़िरकार चेन्नई टीम ने उन्हें रिकॉर्ड 1.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर में ख़रीदा था। चेन्नई टीम की कप्तानी करते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने फ़ाइनल का सफ़र तय किया था, जहां उनकी टीम को राजस्थान रॉयल्स से हार का सामना करना पड़ा था। चेन्नई की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने 8 सीज़न (2008 से 2015) के 129 मैच में कप्तानी की है और हर टूर्नामेंट के नॉक आउट राउंड में जगह बनाई है। चेन्नई टीम ने 8 में से 6 फ़ाइनल में जगह बनाई है और 2 बार आईपीएल ट्रॉफ़ी जीती है। धोनी टूर्नामेंट के इकलौते ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने लगातार दो बार ( 2010 और 2011) आईपीएल ख़िताब जीता है। दिलचस्प बात ये है कि धोनी ने चेन्नई की तरफ़ से खेलते हुए हर 8 सीज़न में कम से कम एक बार अर्धशतक ज़रूर बनाया है और इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 70* था। लेखक – अश्वन राव अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now