Create
Notifications

5 गेंदबाज़ जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय टी20 मुकाबलों में लुटाये सबसे ज्यादा रन

सोहैल आब्दी

विश्व क्रिकेट में हर तरफ टी20 का बोलबाला है। चाहे कोई अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला हो या फिर आईपीएल जैसा टूर्नामेंट, क्रिकेट का ये सबसे छोटा फ़ॉर्मेट काफी तेज़ी से लोगों के बीच लोकप्रिय हो गया है। लोग दूर-दूर से इस छोटे फ़ॉर्मेट का मज़ा लेने के लिए स्टेडियम में जमा होते हैं। लोगों का इस खेल को लेकर इतना बड़ा जूनून सिर्फ इसी वजह से है कि इस कम समय वाले खेल में रोमांच भरा पड़ा होता है। देखा जाये तो टी20 क्रिकेट को बल्लेबाजों का खेल कहा जाता है और आये दिन बल्लेबाजी के नए रिकॉर्ड बनते रहते हैं। हर दो साल पर वर्ल्ड टी20 होने के कारण सभी टीमें क्रिकेट के इस फॉर्मेट को काफी गंभीरता से भी ले रही हैं। टी20 मैचों में अक्सर बड़े-बड़े स्कोर बनते दिखते हैं और दो टीमों के बीच बड़े स्कोर के बावजूद एक रोमांचक मुकाबला देखने को मिलता है। क्रिकेट के इस छोटे फ़ॉर्मेट ने पूरी दुनिया में अपना डंका बजा रखा है, हर बड़ा देश येही चाहता है कि ये खेल उसके यहाँ होस्ट किया जाए। आम तौर पर अगर देखा जाए तो क्रिकेट का खेल गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच का कड़ा संघर्ष माना जाता है पर इस छोटे फ़ॉर्मेट में बल्लेबाज़ काफी हद तक गेंदबाजों पर हावी रहते हैं। अब चाहे इसे गेंदबाजों की बदकिस्मती कह लीजिये या बल्लेबाज़ों की ऐश, अधिकतर मुकाबलों में बल्लेबाज़ ही बाज़ी मार जाया करते हैं। रनों से भरे इस रोमांच में एक गेंदबाज़ के लिए काफी मुश्किल हो जाता है कि वो विकेट लेने जाए या फिर रन बचाने। अगर कोई गेंदबाज़ विकेट लेने जाता है तो रनों की बारिश हो जाती है या जब रन बचाने जाए तो और रन बन्ने लगते हैं। ऐसा बहुत ही कम मौका होता है जब इस टी20 मुकाबले में गेंदबाज़ की जीत हो पाती है। ख़ास कर इस मुकाबले में गेंदबाज़ों के लिए तब सबसे ज्यादा मुश्किल घड़ी आती है जब विराट कोहली, क्रिस गेल, काईरन पोलार्ड, डेविड वॉर्नर जैसे विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ सामने हों। गेंदबाज़ उस समय इस दुविधा में होता है कि करे तो क्या करे। कई बार तो छोटे मैदानों की वजह से भी गेंदबाज़ को बड़ी मार झेलनी पद जाती है। गेंदबाजों के लिए इस मुकाबले की सबसे खराब बात ये भी है की चाहे आप कितने भी बड़े गेंदबाज़ क्यों ना हों जब मार पड़ने लगती है तो सब कुछ बिगड़ जाया करता है और ख़ास कर तब जब आपका दिन और समय दोनों खराब हो। तो आईये एक नज़र डालते हैं बल्लेबाजों द्वारा गेंदबाजों पर की गई पांच ऐसी पिटाइयों पर जिसने मैच का रुख ही बदल कर रख दिया हो। वो 5 पारियां इस प्रकार हैं: #5 मशरफे मुर्तज़ा – पकिस्तान के खिलाफ़, ढाका 30 मार्च 2014 mashrafe-mortaza-1473271632-800 आंकड़ा: 4 ओवर 0/63 इस मैच को कोई कैसे भूल सकता है, इस मैच में बांग्लादेश के गेंदबाज़ों को पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों ने बुरी तरह धोया था। बात साल 2014 वर्ल्ड टी20 मैच की है। पकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया था। बांग्लादेश के लिए गेंदबाज़ी की शुरुआत मुर्तज़ा ने की और पहले ओवर में शानदार गेंदबाज़ी करते हुए मात्र पांच ही रन दिए। अपने इसी आत्मविश्वास के साथ दूसरी ओवर लेकर आये मुर्तजा को पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज़ अहमद शहजाद ने अपना शिकार बनाया और उनके दुसरे ओवर में शहजाद ने तीन चौके और एक छक्के की मदद से 18 रन बटोर लिए। इसके बाद मुर्तज़ा को पारी का 16वां ओवर दिया गया जिसमें शहजाद ने 16 रन बटोरे। मुर्तज़ा के रन खाने का सिलसिला यहीं नहीं रुका उन्होंने पारी की 19वीं ओवर में 24 रन लुटाये और इसके साथ अपने 4 ओवरों में 63 रन देकर एक महंगा स्पेल ख़त्म किया। #4 रूबेल हुसैन – वेस्टइंडीज़ के खिलाफ़, मीरपुर 10 दिसम्बर 2012 rubel-1473332164-800 आंकड़ा: 4 ओवर 2/63 ये मुकाबला भी क्रिकेट इतिहास का एक रोमांचक मुकाबला था। मेहमान वेस्टइंडीज़ टीम ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया। क्रीज़ पर थे वेस्टइंडीज़ और दुनिया के दो सबसे खतरनाक बल्लेबाज़ क्रिस गेल और ड्वेन स्मिथ। रूबेल को पारी का तीसरा और अपना पहला ओवर दिया गया पहली पांच गेंदों में उन्होंने मात्र 9 रन दिए जो कि एक टी20 मैच के अनुसार ठीक था और इसे अच्छा बनाया उन्होंने अपनी आख़िरी गेंद पर क्रिस गेल का शिकार करके। इसी आत्मविश्वास के साथ वो अपना दूसरा और पारी का पांचवां ओवर लेकर आये, स्मिथ ने उन्हें दो चौके भी लगाये पर जवाब में उन्होंने स्मिथ को भी चलता कर दो बड़ी सफलताएं हासिल कर ली थी। इसके बाद रूबल को पारी का 18 वां और 20 वां ओवर सौंपा गया जिसमें उन्होंने बेशुमार 17 और फिर आखिरी ओवर में चार छक्कों और एक चौके की मदद से 29 रन लुटा दिए। इस तरह रूबेल ने अपने 4 ओवर के कोटे में 63 रन लुटा दिए। #3 सनथ जयासूर्या – पकिस्तान के ख़िलाफ़, जोहांसबर्ग 17 सितम्बर 2007 sanath-1473332261-800 आंकड़ा: 4 ओवर 0/64 अपनी विस्फोटक बल्लेबाज़ी के लिए मुख्य रूप से प्रसिद्ध जयासूर्या के लिए ये दिन गेंद से बिल्कुल भी अच्छा नहीं रहा। मैच था आईसीसी वर्ल्ड टी20 2007 का और सामने थी पाकिस्तानी टीम। सनाथ को पारी के 9वें ओवर में गेंदबाज़ी सौंपी गई पकिस्तान उस समय 49/3 था शोएब मलिक और युनिस खान क्रीज़ पर मौजूद थे। अपने पहले ओवर में 14, दूसरे में 12, तीसरे में 20 और चौथे ओवर में 18 रन देकर जयासूर्या ने पकिस्तान टीम को एक लम्बे स्कोर की ओर बढ़ा दिया। इस दौरान सनथ ने तीन चौके और पांच छक्के खाए और अपना महंगा स्पेल ख़त्म किया। #2 जेम्स एंडरसन – ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़, सिडनी 9 जनवरी 2007 james-anderson-1473332418-800 आंकड़ा: 4 ओवर 1/64 इस हाई वोल्टेज मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने टॉस जीता और बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया। दोनों ही टीमों की तरफ से टीम टी20 में तीन-तीन नए खिलाड़ियों का डेब्यू था। ऑस्ट्रेलिया के लिए शेन हार्वुड, बेन हिलफेनहौस, सी वाईट जबकि इंग्लैंड के लिए पॉल निक्सन, मौंटी पनेसर और जेम्स एंडरसन ने अपना डेब्यू किया था। एंडरसन ने फ्लिंटौफ़ के साथ मिलकर नई गेंद से गेंदबाज़ी शुरू की, सामने थे दिग्गज मैथयु हेडेन जिन्होंने एंडरसन को उनके पहले ओवर में ही 14 रन जड़ दिए। दूसरे ओवर में एंडरसन का शिकार गिलक्रिस्ट ने किया और उन्हें 12 रन ठोक डाले। फिर तीसरे ओवर की पहली तीन गेंदों पर गिलक्रिस्ट ने उन्हें लगातार तीन छक्के लगाये और 21 रन बटोरे। अपने आखिरी ओवर में एंडरसन को एक डेब्यूटेंट खिलाड़ी वाईट ने दो छक्कों की मदद से कुल 17 रन जड़ दिए। एंडरसन ने इस तरह अपना चार ओवर का कोटा 64 रन देकर ख़त्म किया जिसमें उन्हें बस एक सफलता हासिल किया। #1 काइल एबॉट – वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़, जोहांसबर्ग 11 जनवरी 2015 kyle-abbott-1473332615-800 आंकड़ा: 4 ओवर 1/68 देखा जाए तो ये वर्ल्ड टी20 के इतिहास का सबसे खराब आंकड़ा है। सामने थी वेस्टइंडीज़ टीम और पकिस्तान के खिलाफ़ टेस्ट क्रिकेट में शानदार गेंदबाजी करने वाले काइल के लिए ये दिन बेहद खराब था। सैमी ने टॉस जीतकर गेंदबाज़ी का फैसला किया था। पहले बल्लेबाज़ी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने फाफ़ डू प्लेसी के शानदार शतक की बदौलत विशाल 232 रन बनाये। लक्ष्य का पीछा करने उतरे वेस्टइंडीज़ के दो खतरनाक बल्लेबाज़ गेल और स्मिथ। पहले ओवर में काइल ने तीन चौके खाए और 12 रन पर अपना पहला ओवर समाप्त किया। दूसरे ओवर में काइल के सामने गेल खड़े थे जिन्होंने काइल की गेंदबाजी की धाज्जियां उड़ा दी और इस ओवर में उन्होंने चार चौके और एक छक्का लगाकर 22 रन बटोरा। अपने तीसरे ओवर में काइल ने एक विकेट लेकर 16 रन दिए। इस दौरान वेस्टइंडीज़ को जीत के लिए दो ओवरों में 21 रन की दरकार थी और फिर से गेंदबाज़ी करने आये काइल ने अपने आखिरी ओवर से 18 रन लुटा दिए और मैच को वेस्टइंडीज़ की झोली में गिरा दिया। इसके बाद वेस्टइंडीज़ ने इस मैच को आसानी से जीत लिया और इसी के साथ काइल ने अपने चार ओवरों के कोटे में मात्र एक विकेट लेकर 68 रन लुटा दिए। जिसे टी20 का सबसे महंगा स्पेल भी माना जाता है।

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...