Create

IPL: इंडियन प्रीमियर लीग इतिहास की 5 छोटी लेकिन यादगार पारियां

टी 20 क्रिकेट एक ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी का प्रारूप होता है। तेज़ी से बनाये गये 20 और 30 रन की पारी टी 20 में अधिक महत्वपूर्ण मानी जाती है और साथ ही साथ देखने में भी रोमांचक होती हैं। बल्लेबाजों की पहली गेंद से मारने की योग्यता टी -20 क्रिकेट में एक बड़ी योग्यता होती है। तेज़ गति से बने अर्धशतक और शतकों के बीच इंडियन प्रीमियर लीग के पिछले 10 संस्करणों में विभिन्न टीमों की जीत में अहम साबित हुई कुछ बेहद गेंदों का सामना कर आई छोटी मगर तेज़ पारियाँ भी रही है। एम एस धोनी के अलावा बेन कटिंग, हार्दिक पांड्या, डेविड मिलर, कॉलिन डी ग्रैंडहॉम, आंद्रे रसेल, सुनील नारेन, डैनियल क्रिश्चियन और युवराज सिंह टी -20 क्रिकेट में अपने ऐसे ही कुछ कैमिओ के लिये जाना जाता है। अब जब हम आईपीएल के 11 वें संस्करण में जा रहे हैं, इस प्रतियोगिता के इतिहास के 5 सबसे प्रसिद्ध कैमिओ पर नजर डाल लेते हैं। नोट: इस लेख के लिए केवल 13 गेंदें या उससे कम की पारी और 50 रन से कम के स्कोर पर विचार किया गया है।

# 5 ल्यूक राइट, 10 गेंदों में 34 रन बनाम, किंग्स-XI पंजाब, 2013

यूं तो ल्यूक राइट विश्व भर के सर्वश्रेष्ठ टी -20 सलामी बल्लेबाज़ों में से एक हैं, लेकिन उन्होंने कभी भी आईपीएल में वैसे अवसर नही मिले। यह सचमुच आश्चर्य की बात है कि उनके जैसे के क्षमतावान टी 20 बल्लेबाज ने अपने करियर में अब तक सिर्फ 7 आईपीएल मैच खेले हैं। आईपीएल 2013 के दौरान किंग्स-XI पंजाब के खिलाफ एक मैच में पुणे वॉरियर्स के बल्लेबाज ल्यूक राइट ने 10 गेंदों में 34 रनों की शानदार पारी खेली। युवराज सिंह के विकेट गिरने के बाद, पारी के अंत में उतरे ल्यूक राइट ने पहली 6 गेंदों में से प्रत्येक पर चौका मारा। हालांकि यह कैमियो अपनी टीम को जीत दिला नही सका था, क्योंकि डेविड मिलर और मनदीप सिंह ने 19.5 ओवर में पुणे वॉरियर्स को 186 के लक्ष्य तक पहुँचा दिया। अफसोस की बात है, वह 2013 के बाद कभी आईपीएल में खेल नहीं पाये।

# 4 एबी डीविलियर्स, 11 गेंदों में 41 रन बनाम मुंबई इंडियंस, 2015

एबी डीविलियर्स इंडियन प्रीमियर लीग के इतिहास में सबसे सफल विदेशी खिलाड़ियों में से एक हैं और उन्होंने मैच की कई मैच जीतने वाली पारी खेली है। आरसीबी के मध्यक्रम का यह बल्लेबाज़ खेल के छोटे प्रारूप में सबसे अधिक विनाशकारी खिलाड़ियों में से एक है और चिन्नास्वामी स्टेडियम में कई मौकों पर यह करके दिखाया है। आईपीएल 2015 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ एक मैच में जीत के लिए 210 रन के एक बड़े स्कोर का पीछा करते हुए, क्रिस गेल और विराट कोहली के आउट होने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर 62 रन पर 3 विकेट गंवा संघर्ष कर रहा था। ऐसे में मैदान पर उतरे एबी डीविलियर्स ने एक समय के लिये पूरे खेल को ही पलट कर रख दिया था। उन्होंने विश्व के सर्वश्रेष्ठ टी -20 गेंदबाजों में से एक, लसिथ मलिंगा के एक ओवर में 22 रन मारे, जिसमें एक रिवर्स स्वीप भी शामिल था। हालांकि वह आरसीबी को जीत नही दिला सके, मगर उन्होंने टी -20 क्रिकेट की सर्वश्रेष्ठ कैमिओ में से एक खेली।

# 3 काइरोन पोलार्ड, 13 गेंदों में 45* रन बनाम दिल्ली डेयरडेविल्स, 2010

काइरोन पोलार्ड ने आईपीएल में कुछ बेहतरीन पारियाँ खेली है लेकिन 2010 में वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल के दौरान दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ खेले गए मैच की पारी से बेहतर शायद ही कोई हो। पोलार्ड 18 वें ओवर में उतरे और 2 चौके और 5 विशाल छक्कों की मदद से सिर्फ 13 गेंदों में नाबाद 45 रन बनाकर मुंबई इंडियंस को 20 ओवर में 183/4 के स्कोर पर पहुंचा दिया। मुंबई ने आसानी से मैच जीता क्योंकि दिल्ली डेयरडेविल्स ने संघर्ष नहीं किया और 20 ओवर में केवल 144/7 रन ही बना सकी। यह एक ऐसी पारी थी जब वानखेड़े स्टेडियम ने अपने पसंदीदा खिलाड़ी को पूरी तरह से गेंदबाज़ों पर धावा बोलते देखा और दिल्ली डेयरडेविल्स के किसी भी गेंदबाज के पास पोलार्ड का जवाब नहीं था।

# 2 एबी डीविलियर्स, 8 गेंदों में 31 रन बनाम पुणे वॉरिअर्स, 2013

इस सूची में एबी डीविलियर्स का नाम दो बार होना कोई आश्चर्य नहीं है। हालाँकि यह टी -20 मैच इतिहास के पन्नो में दर्ज रहेगा क्योंकि क्रिस गेल ने मात्र 66 गेंदों में नाबाद 175 रन बनाए थे। क्रिस गेल की रिकॉर्ड तोड़ने वाली पारी ने सभी का ध्यान खीच लिया जबकि एबी डीविलियर्स ने उन्हें अपनी छोटी सी पारी में शॉट दर शॉट टक्कर दी। डीविलियर्स ने 8 गेंदों पर 31 रन बनाए। उन्होंने मिडविकेट की ओर से चौके के साथ पारी शुरू की और फिर दूसरी गेंद को लांग-ऑन पर छक्के के लिये मारा। अगली 5 गेंदों पर 4,1,4,6,6, बनाये और अपनी पारी की आठवीं गेंद पर आउट हो गये। वो रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 20 ओवरों में 263/5 के स्कोर तक ले गये, जो अब तक इंडियन प्रीमियर लीग में किसी भी टीम का सर्वोच्च स्कोर है।

# 1 क्रिस मॉरिस, 9 गेंदों में 38 * रन बनाम राइज़िंग पुणे सुपरजाइंट, 2017

यह पारी आसानी से टी 20 क्रिकेट के इतिहास की सबसे बेहतरीन कैमिओ के रूप में जानी जायेगी। क्रिस मॉरिस ने अपने करियर में कुछ शानदार टी -20 पारियाँ खेलीं हैं, लेकिन इससे बेहतर कोई नहीं है। दिल्ली डेयरडेविल्स के लिये खेलते हुए 166/4 के स्कोर पर 1.4 ओवर शेष रहते, संजू सैमसन के विकेट गिरने के बाद उतरे दक्षिण अफ्रीका के इस आलराउंडर ने एक करिश्माई बल्लेबाज़ी की, जिसमें सिर्फ 9 गेंदों में 38 रन बनाये, जिनमें 4 चौके और 3 छक्के शामिल थे। उन्होंने एडम ज़ांपा की 4 गेंदों में 16 रन और फिर 20 वें ओवर में बेन स्टोक्स के एक ओवर में 22 रन बनाकर दिल्ली डेयरडेविल्स को 20 ओवर में 205/4 के विशाल स्कोर तक पहुँचाया। दिल्ली डेयरडेविल्स ने आसानी से मैच जीता क्योंकि लक्ष्य का पीछा करने उतरी राइज़िंग पुणे सुपरजाइंट मात्र 108 रन पर सिमट गयी। लेखक: सुजीत मोहन अनुवादक: राहुल पांडे

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment