ENG v IND: भारत बनाम इंग्लैंड वनडे में 5 सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी

1974 में भारत के पहले वनडे मुकाबले से लेकर अबतक भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे भिड़ंत का एक बहुत लंबा इतिहास रहा है। हालांकि भारत का इंग्लैंड के साथ उतनी संख्या में आमना सामना नहीं हुआ है जितनी बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाफ खेला है, दोनों टीमें कुल मिलाकर 96 बार टकराईं हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच शुरू होने जार रहे इस दौरे के दौरान तीन रोमांचक एकदिवसीय मैच भी खेले जाएंगे। 2002 में असाधारण नेटवेस्ट सीरीज फाइनल से लेकर 2013 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल तक में, दोनों टीमों के नाम पर कई यादगार जीतें दर्ज हैं। दोनों पक्षों में महान बल्लेबाजों होने के साथ कुछ बल्लेबाज ऐसे रहे जो ने इन दो दिग्गज टीम के बीच मैचों के दौरान सर्वाधिक रन बनाने में भी कामयाब रहे हैं। यहां वनडे में भारत बनाम इंग्लैंड में 5 सबसे शानदार रन स्कोरर के बारें में बताया गया है।

#5 राहुल द्रविड़

भारत के सबसे शानदार रन-स्कोरर्स की किसी भी सूची को बनाना लगभग असंभव है जिसमें राहुल द्रविड़ का नाम शामिल नहीं है। लगभग 16 वर्षों तक भारतीय टीम का एक अनिवार्य हिस्सा रहे द्रविड़ ने दुनिया में चारों तरफ अपने विरोधियों के खिलाफ जमकर रन बनाए है। इंग्लैंड, वह टीम जिसके खिलाफ उन्होंने अपने सीमित ओवरों के करियर को समाप्त किया, द्रविड़ ने हमेशा टीम के लिए कई महत्वपूर्ण पारियां खेली और उनके नाम पर काफी रन बनाए। इंग्लैंड के खिलाफ 30 मैचों में द्रविड़ ने 38.92 के औसत से कुल 1012 रन बनाए। हालांकि वह कभी आक्रामक नहीं थे, जो कि 77.49 की उनकी स्ट्राइक रेट से साफ है। उन्होंने कई यादगार पारियां खेली, जिसमें 2007 में ब्रिस्टल में यादगार 63 गेंद में 92 रनों की बेहतरीन पारी इसमें से एक थी। हालांकि वह कभी उनके खिलाफ कभी शतक नहीं लगा पाए पर द्रविड़ के नाम 10 से अधिक 50+ पारियां दर्ज है।

#4 सुरेश रैना

हालांकि सुरेश रैना अब लगातार भारत के लिए नहीं खेलते है जैसा कि वह कुछ साल पहले टीम इंडिया का नियमित हिस्सा थे, इस बात से इनकार नहीं किया जाता है कि वह एकदिवसीय में भारत के लिए एक मैच विजेता थे। वह लगभग एक दशक तक एमएस धोनी के साथ भारत के प्रमुख निचले क्रम के बल्लेबाज थे और उन्होंने उस अवधि के दौरान टीम के लिए कई यादगार पारी खेली। चूंकि उन्होंने अब तक भारत के लिए लगभग 250 एकदिवसीय मैच खेले हैं इसलिए यह तार्किक था कि वह इस सूची में शामिल होंगे क्योंकि इस दौरान बहुत सारे मैच इंग्लैंड के खिलाफ भी खेले थे। इंग्लैंड के खिलाफ 34 एकदिवसीय मैच खेलते हुए रैना ने 42.96 की बेहतरीन औसत से 1160 रन बनाए, जो उनके समान्य औसत से लगभग 6 अंक ऊपर था। चूंकि वह ज्यादातर 5 या 6 नंबर में उतरते है इसलिए उसकी 93.25 की शानदार स्ट्राइक रेट है। रैना के नाम 11 बार 50 या उससे अधिक के स्कोर के अलावा इंग्लैंड के खिलाफ एक शतक भी शामिल है जब उन्होंने 2014 में कार्डिफ़ में 75 गेंदों में 100 रन बनाए।

#3 महेन्द्र सिंह धोनी

इतिहास में किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने इंग्लैंड के खिलाफ महेंद्र सिंह धोनी से अधिक वनडे मैच नही खेले है। वह भारत बनाम इंग्लैंड श्रृंखला का 9 बार हिस्सा रहे है और हर बार रनों के पहाड़ खड़ा किया हैं चाहे वह सीरीज इंग्लैंड में हो या भारत में। टीम के कप्तान के रूप में उन्होंने 2014 में इंग्लैंड की मिट्टी पर यादगार जीत सहित इंग्लैंड के खिलाफ रिकॉर्ड 4 एकदिवसीय सीरीज़ जीत दर्ज करायी है। पिछले 13 सालों में अब तक 44 एकदिवसीय मैच खेलने के बाद धोनी ने 45.09 के औसत और 88.95 की स्ट्राइक रेट के साथ 1425 रन बनाये है। हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ उनके नाम पर केवल एक शतक शामिल है, उस पारी में बनाये गये 134 धोनी के अंतरराष्ट्रीय करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी में से एक थी। उस शतक के साथ धोनी के नाम पर 11 अन्य 50+ स्कोर भी हैं। धोनी अपने चौथे इंग्लैंड दौरे के साथ वह उस रिकॉर्ड को और भी बेहतर बनाने की तलाश में हैं।

#2 सचिन तेंदुलकर

राहुल द्रविड़ की तरह ही ऐसी किसी बल्लेबाजी सूची को बनाना असंभव है जिस सूची में मास्टर ब्लास्टर का नाम शामिल नहीं है। भारतीय क्रिकेट और विश्व क्रिकेट दोनों में उनका प्रभाव और योगदान इतना विशाल है कि किसी भी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों वाली सूची से उन्हें शामिल ना करना शर्म की बात होगी। हालांकि हम सभी वनडे में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाफ उनके कारनामे से अवगत है पर इंग्लैंड के खिलाफ खेलते समय उनका रिकॉर्ड उतना ही अच्छा है क्योंकि वह कुछ समय के लिए इंग्लैंड के खिलाफ भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। अपने 23 साल लंबे वनडे करियर में तेंदुलकर ने 37 मैचों में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया और 44.09 के औसत से कुल 1455 रन बनाए। इंग्लैंड के खिलाफ उनकी स्ट्राइक रेट में भी कुछ अंक बढ़त देखने को मिली क्योंकि उन्होंने 89.21 की दर से स्कोर बनाये। इसके अलावा तेंदुलकर के नाम पर 2 शतक और 10 से अधिक 50+ प्लस स्कोर शामिल हैं। विडंबना यह है कि उनके दोनों शतक, जिनमें से एक 2011 विश्वकप में आया था या तो टाई हुए या बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गये।

#1 युवराज सिंह

युवराज सिंह की तुलना में सीमित ओवर क्रिकेट में कोई भी भारतीय खिलाड़ी इंग्लिश क्रिकेट टीम पर इतना हावी नहीं हो पाया है। पहले टी-20 विश्वकप में स्टुअर्ट ब्रॉड द्वारा डाले गए उस दुर्भाग्यशाली ओवर में युवराज सिंह के उन 6 छक्कों के बारे में हम सभी जानते हैं पर युवराज इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में भी उतना ही प्रभावशाली, शायद और भी अधिक प्रभावशाली रहा है। वास्तविकता यह है कि युवराज के नाम सबसे अधिक रन, सर्वाधिक औसत, सर्वाधिक स्ट्राइक दर और किसी अन्य भारतीय बल्लेबाज की तुलना में इंग्लैंड के खिलाफ कई शतक है। जो उन्हें वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ भारत का सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय बल्लेबाज सुनिश्चित करता है। इंग्लैंड के खिलाफ 37 मैचों में भारत की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा रहते हुए युवराज ने 50.77 के औसत पर कुल 1523 रन बनाए जो उनके करियर औसत से लगभग 14 अंक ज्यादा है और इसमें 101.60 की बेहतरीन स्ट्राइक रेट भी शामिल है। 2002 में नेटवेस्ट सीरीज़ फाइनल में उनका मैच बचाऊ 69 रन और 2014 में 150 रनों का सर्वश्रेष्ठ उच्चतम स्कोर भारतीय क्रिकेट के इतिहास की उनकी दो सर्वश्रेष्ठ पारी के रूप में जानी जाती है। इंग्लैंड के खिलाफ 3 शतक और 6 बार 50+ स्कोर के साथ युवी ने अपना नाम इंग्लैंड के खिलाफ भारत के सबसे शानदार रन स्कोरर के रूप में टॉप पर रखा हुआ है। लेखक- कार्तिक सेठ अनुवादक- सौम्या तिवारी

App download animated image Get the free App now