Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

ODI इतिहास के पाँच सबसे स्वार्थी काम

david-warner-of-australia-looks-dejected-gettyimages-1488348552-800
sehal jain
TOP CONTRIBUTOR
Modified 21 Sep 2018
न्यूज़

हालाँकि खेल में एेसा बहुत कम होता है पर कभी-कभी खिलाडी बहुत स्वार्थ भरा काम करते हैं। जब वे एेसा करते हैं तो सबको बहुत बुरा लगता है।

अपने हित के लिए काम करना स्वभाविक है और क्रिकेट में तो और भी जोरशोर से खिलाडी अपने मतलब पूरे करने में लगे रहते हैं।

एेसा करना एक हद तक ठीक है पर कई बार खिलाडी अपने स्वार्थ के लिए अपनी टीम के जीतने के आड़े आ जाते हैं।

एक नज़र खिलाड़ियों की ओडीआई के पाँच सबसे स्वार्थी हरकतों पर:

5- डेविड वार्नर

बढिया शतक जमाकर, तीन अंकों की स्ट्राइक रेट से थोड़े पीछे वार्नर ने भी एेसा किया। वो भी फ़ाइनल में। श्रीलंका के खिलाफ 2012 कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज़ के फाईनल में केवल चार चौक्के और एक छक्के से 163 रन बनाकर खेल रहे थे।

बेकार खेलने के बाद भी उन्होंने अपना खेल जारी रखा और 91 गेंदों पर 117 रन बनाकर टीम का स्कोर 271-6 किया। तिल्तकरने दिलशान के शतक और महेला जयवर्धने व कुमार संगकारा के अर्धशतकों के कारण श्रीलंका 5 ओपनर शेष रहते हुए 8 विकेट से जीत गया।

46वें ओवर में वार्नर ने तीन विकेट लेकर खेल ख़त्म किया।

1 / 5 NEXT
Published 24 Jul 2015, 15:01 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now