Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारत में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के 5 नए क्रिकेट स्टेडियम जो इडेन गार्डेन और वानखेड़े को दे सकते हैं टक्कर

Syed Hussain
ANALYST
Modified 06 Sep 2016, 14:00 IST
Advertisement
कुछ दशक पहले क्रिकेट में उतनी आसानी से रन नहीं बनते थे, जितने अब बनने लगे हैं। आज से दो या तीन दशक पहले अगर किसी बल्लेबाज़ की स्ट्राइक रेट 65 से 70 की बीच में होती थी, तो उसे आक्रमक बल्लेबाज़ माना जाता था। हालांकि तब भी विवियन रिचर्ड्स जैसे खिलाड़ी भी हुए जिन्होंने वनडे में 90 से ज़्यादा की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। वनडे में अगर कोई टीम 250 रन बना ले तो उसे अच्छा स्कोर माना जाता था, वह भी तब जब 55 और 60 ओवर के वनडे मुक़ाबले हुआ करते थे। ज़माना बदल चुका है और अब 320 और 350 के स्कोर भी मामूली होते जा रहे हैं, यहां तक कि अब तो 400 का आंकड़ा भी आसानी से बनता जा रहा है। टी20 क्रिकेट की शुरुआत के बाद तो गेंदबाज़ों के लिए 6 से नीचे की इकोनॉमी रखना मुश्किल हो चुका है। वनडे क्रिकेट में तो कई गेंदबाज़ अपने 10 ओवर के कोटे में 100 से ज़्यादा रन भी लुटा चुके हैं। भारतीय उपमहाद्वीप में और ख़ास तौर से भारत में पिच भी बल्लेबाज़ों की जन्नत बनाई जा रही है, और आउटफ़ील्ड भी सुपरफ़ास्ट। भारतीय स्टेडियम की बात की जाए तो मुंबई के वानखेड़े, बैंगलोर के चिन्नास्वामी और कोलकाता के इडेन गार्डेन में तो रनों की बारिश हुआ करती है। इसके अलावा पिछले कुछ सालों में भारत में और भी कई नए स्टेडियम बने हैं, जहां आईपीएल और अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले भी खेले गए हैं। इन नए नवेले स्टेडियम को भी ठीक उसी तरह बनाया गया है जैसे मुंबई का वानखेड़े और कोलकाता का इडेन गार्डेन हो, यानी बल्लेबाज़ों और दर्शकों की बल्ले बल्ले। ऐसे ही 5 नए क्रिकेट स्टेडियम हम आपके सामने रख रहे हैं जो आने वाले वक़्त में वानखेड़े और इडेन गार्डेन की तरह लोकप्रिय हो सकते हैं। #5 डी वाई पाटिल स्टेडियम, नवी मुंबई DY PATIL नवी मुंबई में स्थित डी वाई पाटिल स्टेडियम भारत का नौवां सबसे बड़ा स्टेडियम है। 2008 में बने इस स्टेडियम में क्रिकेट के अलावा फ़ुटबॉल के मुक़ाबले भी खेले गए हैं। 2017 में होने वाले अंडर-17 फ़ीफ़ा वर्ल्डकप की मेज़बानी भी इस स्टेडियम को मिली है। 55 हज़ार की क्षमता वाले इस स्टेडियम में आईपीएल के पहले सीज़न का फ़ाइनल मुक़ाबला भी खेला गया था, जहां राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को शिकस्त देकर आईपीएल के पहले चैंपियन बने थे। आईपीएल 2010 का फ़ाइनल भी इसी मैदान पर मेज़बान मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेला गया था। हालांकि अब तक एक भी अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबला इस मैदान पर मुकम्मल नहीं हो पाया है। 2009 में पहली बार इस स्टेडियम को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज़ के सातवें और आख़िरी मुक़ाबले की मेज़बानी मिली थी, लेकिन बारिश की वजह से एक भी गेंद नहीं हो पाई थी।
1 / 5 NEXT
Published 06 Sep 2016, 14:00 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit