Create
Notifications

5 मौके जब महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी के फैसले से सबको चौंकाया

Modified 07 Jan 2017
महेंद्र सिंह धोनी बिना किसी बहस के भारत के सबसे सफल कप्तान है। क्रिकेट के मैदान पर लिए उनकें कई फैसलों ने क्रिकेट दिग्गजों को भी हैरान किया है। लेकिन उनकें फैसलों ने टीम इंडिया को कई जीत दिलाई है। वर्ल्डकप वनडे जीतने वाले भारतीय टीम के कप्तान ने आज सबसे हैरानी वाला फैसला लिया। धोनी ने फैसला किया है कि वह अब वनडे और टी20 मैचों की कप्तानी छोड़ रहे हैं। वह विराट कोहली को यह जिम्मेदारी सौंपने के पक्ष में है। भारत में कई कप्तान आए और गए, लेकिन धोनी जैसा कोई नहीं आया. हम आपको वह पांच पल बताते है जब धोनी ने अपने फैसले से सभी को चौंकाया। आईसीसी एकदिवसीय वर्ल्डकप फाइनल 2011 111434481-mahendra-singh-dhoni-of-india-hits-a-six-gettyimages-1483602950-800 वर्ल्डकप फाइनल से पहले धोनी के फैसलों की मीडिया में काफी आलोचना हो रही थी। वह खुद तो खराब फॉर्म से जूझ ही रहे थे, इसके साथ ही अश्विन की जगह पीयूष चावला को टीम में तरजीह देना किसी को समझ नहीं आ रहा था। फाइनल में भी उन्होंने अश्विन की जगह श्रीसंत को टीम में शामिल कर सभी को आश्चर्यचकित कर दिया। श्रीलंका ने श्रीसंत की गेंद पर जमकर रन बनाए और 275 रन का लक्ष्य भारत के सामने रखा। बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने सचिन और सहवाग के विकेट जल्दी गवां दिए। गौतम गंभीर और विराट कोहली ने पारी जमाने की कोशिश की, लेकिन कोहली गलत समय पर आउट हो गए। कोहली के आउट होने के बाद सभी को उम्मीद थी कि फॉर्म में चल रहे युवराज सिंह बल्लेबाजी के लिए आएंगे। धोनी सभी को चौंकाते हुए खुद युवराज से पहले बल्लेबाजी करने आए। उसके बाद उस मैच में धोनी ने नाबाद 91 रन बनाकर भारतीय टीम को 6 विकेट से ऐतिहासिक जीत दिला दी। मैच के बाद धोनी ने कहा कि मैंने आज कुछ फैसलें लिए, अगर आज हम हार जाते तो उन फैसलों पर सवाल उठते। जैसे अश्विन की जगह श्रीसंत को टीम में क्यों शामिल किया। युवराज से पहले मैं बल्लेबाजी के लिए क्यों आया ? इस वजह ने मुझे ऐसा करने के लिए प्रेरित किया।
1 / 5 NEXT
Published 07 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now