Create
Notifications

भारतीय टीम के 5 मैच जिन्हें कोई भी फैन याद नहीं रखना चाहेगा

भारतीय टीम की 2019 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार
भारतीय टीम की 2019 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की हार
निशांत द्रविड़
visit

भारतीय टीम ने अभी तक काफी यादगार वनडे मैच खेले हैं, जो फैंस को हमेशा याद रहेंगे। इसमें 1983 वर्ल्ड कप का फाइनल और 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल सबसे यादगार है। इसके अलावा भारतीय टीम ने 1984-85 में बेंसन एन्ड हेजेस वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीतकर भी सबको चौंकाया था। 2002 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में श्रीलंका के साथ संयुक्त विजेता रहने वाली भारतीय टीम ने 2013 में इंग्लैंड को फाइनल में हराकर खिताब पर कब्ज़ा किया था।

भारतीय टीम ने साथ ही रिकॉर्ड सात बार एशिया कप के खिताब पर भी कब्ज़ा किया है और 2008 में ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज जीतकर भी इतिहास रचा था। हालाँकि इन यादगार मैचों और सीरीज के अलावा भारतीय टीम के कुछ ऐसे वनडे मैच भी हैं, जिसको फैंस बिल्कुल याद नहीं रखना चाहेंगे। यह कुछ ऐसे मैच हैं, जिसमें मिली हार ने टीम के साथ-साथ फैंस को भी बुरी तरह निराश किया था।

आइये नज़र डालते हैं ऐसे ही 5 मैचों पर, जिसमें मिली हार से फैंस बुरी तरह निराश हुए थे:

# भारतीय टीम vs श्रीलंका (1996 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल)

भारतीय टीम को दर्शकों के कारण मिली हार
भारतीय टीम को दर्शकों के कारण मिली हार

1996 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन मिला जुला रहा था, लेकिन इसके बावजूद टीम ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया। ग्रुप स्टेज में भारतीय टीम ने केन्या, वेस्टइंडीज और ज़िम्बाब्वे को हराया था, वहीं श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। क्वार्टरफाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया, जहाँ उनका सामना फिर से श्रीलंका के खिलाफ था।

श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अरविंदा डी सिल्वा और रोशन महानामा के अर्धशतकों की मदद से 251/8 का स्कोर बनाया। जवाब में सचिन तेंदुलकर के अर्धशतक की बदौलत एक समय भारत का स्कोर 98/1 था, लेकिन उनके आउट होने के बाद भारतीय टीम की पारी बुरी तरह लड़खड़ा गई और 120/8 हो गया। इसी समय कोलकाता के दर्शकों ने निराशा में मैदान के अंदर उत्पात मचाना शुरू कर दिया और इस वजह से मैच रोकना पड़ा। मैच फिर से शुरू नहीं हो पाया और रेफरी क्लाइव लॉयड ने श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया एवं भारतीय टीम फाइनल में प्रवेश नहीं कर सकी।

# भारत vs ऑस्ट्रेलिया (2003 वर्ल्ड कप फाइनल)

भारत vsऑस्ट्रेलिया (2003 वर्ल्ड कप फाइनल
भारत vsऑस्ट्रेलिया (2003 वर्ल्ड कप फाइनल)

2003 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी शानदार रहा था, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए दोनों मुकाबले गंवाए जिसमें से एक फाइनल भी था। ग्रुप स्टेज में भारतीय टीम ने 6 में से 5 मैच जीतकर सुपर सिक्स में जगह बनाई थी। सुपर सिक्स में भी भारतीय टीम ने लगातर तीन मुकाबले जीते और सेमीफाइनल में प्रवेश किया, जहाँ उन्होंने केन्या को हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

फाइनल में भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया और यहीं से मैच भारत की हाथ से निकल गया। ऑस्ट्रेलिया में रिकी पोंटिंग के धुआंधार 140 और डेमियन मार्टिन के नाबाद 88 रनों की मदद से 359/2 का विशाल स्कोर बनाया, जिसके जवाब में भारतीय टीम सिर्फ 234 रन बनाकर ऑल आउट हो गई और 125 रनों से करारी हार का उन्हें सामना करना पड़ा। भारत की तरफ से वीरेंदर सहवाग ही 82 रनों की उम्दा पारी खेल सके।

# भारत vs बांग्लादेश (2007 वर्ल्ड कप, ग्रुप स्टेज)

भारत vs बांग्लादेश - 2007वर्ल्ड कप
भारत vs बांग्लादेश - 2007वर्ल्ड कप

2007 वर्ल्ड कप में भारत का पहला मैच किसी बुरे सपने से कम नहीं था। ग्रुप बी के पहले मैच में भारत का सामना बांग्लादेश से था और किसी को उम्मीद नहीं थी कि इस मैच में इतना बड़ा उलटफेर हो जाएगा। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 191 रन बनाये और जवाब में बांग्लादेश ने मुशफिकुर रहीम, शाकिब अल हसन और तमीम इक़बाल के अर्धशतकों की मदद से 48.3 ओवर में 5 विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। बांग्लादेश की तरफ से मशरफे मोर्तज़ा ने सिर्फ 38 रन देकर चार विकेट लिए और मैन ऑफ द मैच चुने गए।

इसके बाद भारत ने अगले मैच में बरमूडा को हराया, लेकिन आखिरी ग्रुप मैच में श्रीलंका के खिलाफ मिली हार के कारण भारतीय टीम अगले राउंड में नहीं पहुंच पाई। यह वर्ल्ड कप में भारत का सबसे शर्मनाक प्रदर्शन माना जाता है।

# भारत vs पाकिस्तान (2017 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल)

भारत vs पाकिस्तान - 2017 चैंपियंस ट्रॉफी
भारत vs पाकिस्तान - 2017 चैंपियंस ट्रॉफी

2017 चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल भारतीय फैंस के लिए काफी निराशाजनक रहा था। ग्रुप स्टेज में भारत ने 3 में से 2 मैच जीतकर पहला स्थान हासिल करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया था, जहाँ उन्होंने बांग्लादेश को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। फाइनल में भारतीय टीम का सामना चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ था, जिन्हें ग्रुप स्टेज में उन्होंने 124 रनों से हराया था।

फाइनल में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी की और फखर ज़मान के बेहतरीन शतक और मोहम्मद हफ़ीज़ की धुआँधार पारी की मदद से 338/4 का मजबूत स्कोर बनाया। जवाब में भारतीय टीम की बल्लेबाजी बुरी तरह फ्लॉप रही और पूरी टीम 30.3 ओवर में ही सिर्फ 158 रन बनाकर ढेर हो गई। पाकिस्तानी टीम ने 180 रनों से ऐतिहासिक जीत दर्ज़ की और भारतीय फैंस को एक बुरी याद दे गए।

# भारत vs न्यूजीलैंड (2019 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल)

भारत vs न्यूजीलैंड - 2019 वर्ल्ड कप
भारत vs न्यूजीलैंड - 2019 वर्ल्ड कप

2019 वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल ऐसा सबसे हालिया मैच है, जिसे फैंस याद नहीं रखना चाहेंगे। ग्रुप स्टेज में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शनं करते हुए 9 में से 7 मैच में जीत हासिल की और 15 अंकों के साथ टॉप पर रहे। सेमीफाइनल में उनका सामना चौथे स्थान पर रहने वाली न्यूजीलैंड की टीम से हुआ। बारिश के कारण यह मैच 2 दिन तक चला।

न्यूजीलैंड ने पहले दिन 46.1 ओवर में 211/5 का स्कोर बनाया और दूसरे दिन उनकी पारी 239/8 के स्कोर पर खत्म हुई। भारतीय टीम को जीत के लिए 240 रनों का लक्ष्य मिला, लेकिन उनकी शुरुआत बेहद खराब रही और 5/3 हो गया था। इसके बाद टीम थोड़ी संभली लेकिन 100 से पहले 6 बल्लेबाज आउट हो चुके थे। यहाँ से रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने 116 रनों की साझेदारी निभाकर टीम के जीत की उम्मीद कायम रखी, लेकिन 48वें ओवर में जडेजा और 49वें ओवर में धोनी के आउट होने से भारतीय टीम को जबरदस्त झटका लगा और पूरी टीम 221 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इस तरह से भारत के फाइनल में पहुंचने और विश्व कप जीतने का सपना अधूरा रह गया।

Edited by निशांत द्रविड़
comments icon1 comment
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now