Create

वनडे क्रिकेट इतिहास में शतक लगाने वाले 5 सबसे उम्रदराज़ खिलाड़ी

यह अक्सर कहा जाता है कि सीमित ओवरों का क्रिकेट युवा खिलाड़ियों का खेल है। सीमित ओवरों के खेल में रन स्कोर करने के लिए खिलाड़ी का चुस्त-दुरुस्त होना बेहद ही जरूरी है। 50 ओवर के खेल में रन बनाने के लिए क्रिकेट में खिलाड़ी की फॉर्म, सहनशक्ति, शारीरिक क्षमता जैसी कई चीजें मायने रखती हैं। वहीं अगर खिलाड़ी एकदिवसीय क्रिकेट में शतकीय पारी खेलता है तो ये काफी अहम माना जाता है। क्रिकेट के सीमित फॉर्मेट में फिटनेस की भूमिका काफी रहती है। वहीं अगर कोई उम्रदराज खिलाड़ी क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए शतक लगा देता है तो वो सुर्खियां भी काफी बटोर लेता है। एकदिवसीय क्रिकेट में भी ऐसे कई खिलाड़ी हुए हैं जिन्होंने अपनी उम्र की बाधा को दूर करते हुए क्रिकेट में शतकीय पारियों को अंजाम दिया है। आइए जानते हैं उन खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा उम्र के लिहाज से शतक बनाया है।

#5 सचिन तेंदुलकर

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को हर कोई क्रिकेट के भगवान के रूप में जानता है। सचिन तेंदुलकर के नाम क्रिकेट के कई अहम रिकॉर्ड दर्ज हैं। इनमें सबसे ज्यादा शतकों के मामले में भी सचिन तेंदुलकर सबसे आगे हैं। सचिन तेंदुलकर के नाम क्रिकेट इतिहास में 100 अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है। इनमें 49 शतक एकदिवसीय क्रिकेट में तो वहीं 51 शतक टेस्ट क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर ने लगाए हैं। क्रिकेट के महानतम खिलाड़ियों में से एक सचिन तेंदुलकर विश्व के अग्रणी बल्लेबाज थे। उम्र के बढ़ने के साथ ही सचिन तेंदुलकर का बल्ला रुका नहीं और रन बरसाते गया। सचिन तेंदुलकर ने 38 साल 327 दिनों की उम्र में भी शतक लगाने में कामयाबी हासिल की थी। इस उम्र में शतक लगाते हुए तेंदुलकर ने 147 गेंदों का सामना करते हुए 114 रनों की पारी को अंजाम दिया। इस दौरान उन्होंने 12 चौके और एक शानदार छक्का भी लगाया। सचिन तेंदुलकर के करियर का ये आखिरी और 49वां एकदिवसीय शतक था। इस मुकाबला में भारतीय टीम ने 289 रन बनाए थे। हालांकि आखिरी में भारत को हार का सामना करना पड़ा था।

#4 ज्योफ़्री बॉयकॉट

इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ज्योफ़्री बॉयकॉट अपनी शानदार बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपने एकदिवसीय क्रिकेट में 36 मैच खेले। ज्योफ़्री बॉयकॉट टीम के सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपनी भूमिका रखते थे। ज्योफ़्री बॉयकॉट के बारे में खास बात ये है कि उन्होंने अपने एकदिवसीय क्रिकेट में सिर्फ एक शतक लगाया है और वो भी उनके बल्ले से तब आया जब वो 39 साल की उम्र को पार कर चुके थे। ज्योफ़्री बॉयकॉट ने 39 साल 51 दिन की उम्र में शतकीय पारी खेली। इसके साथ ही जेफ्री बॉयकॉट ऐसे चौथे खिलाड़ी बने जिन्होंने सबसे उम्रदराज एकदिवसीय मैचों में शतक लगाया है। वहीं उनके शतक की एक महत्वपूर्ण बात यह भी है कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने शतक को अंजाम दिया था। सिडनी के मैदान में शानदार बल्लेबाजी करते हुए बॉयकॉट ने 124 गेंदों का सामना करते हुए 108 रन बना डाले। यह उस युग में एक अपेक्षाकृत तेज शतक था। उन्होंने अपनी पारी में सात चौके भी लगाए। इस मुकाबले में 49 ओवर में इंग्लैंड ने 264 रन बनाए और आखिर में ऑस्ट्रेलिया को 72 रनों से हरा दिया।

#3 एड जॉयस

एड जॉयस एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो इंग्लैंड और आयरलैंड दोनों देशों के लिए खेल चुके हैं। जिस देश में उनका जन्म हुआ, उसके लिए खेलते हुए ज्यादा सफलता हासिल हुई। शानदार बल्लेबाजी के चलते जनवरी 2018 में वह आयरलैंड के सबसे प्रसिद्ध क्रिकेटरों में से एक बन गए। एड जॉयस क्रिकेट में एकदिवसीय मैच में शतक लगाने वाले तीसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। उन्होंने आईसीसी अकादमी में यूएई के खिलाफ मुकाबले में ये कारनामा कर दिखाया। इस मुकाबले में एड जॉयस तब बल्लेबाजी करने आए जब 223 रनों के लक्ष्य के जवाब में आयरलैंड 5 रन पर ही अपने दो विकेट गंवा चुका था। इसके बाद एड जॉयस ने अपनी बल्लेबाजी से टीम का स्कोर बोर्ड आगे बढ़ाया। उन्होंने 149 गेंदों का सामना करते हुए 116 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 13 चौके और 1 छक्का लगाया। इस शतक के साथ ही एड जॉयस शतक लगाने वाले तीसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए। उन्होंने 39 साल 111 दिनों की उम्र एकदिवसीय क्रिकेट में शतकीय पारी खेली।

#2 सनथ जयसूर्या

श्रीलंकाई क्रिकेट के धाकड़ खिलाड़ियों में से एक सनथ जयसूर्या अपनी आतिशी बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। मैदान पर सनथ जयसूर्या विराधी गेंदबाजों के लिए खौफ बनकर रन स्कोर करते थे। अपने करियर में सनथ जयसूर्या ने श्रीलंकाई क्रिकेट के लिए काफी अहम पारियों को अंजाम दिया है। 40 की उम्र आते-आते भी उनका बल्ला शांत नहीं हुआ और रन बरसाने में लगा रहा। भारत के खिलाफ साल 2009 में पांच मैचों की सीरीज में डंबुला में खेले गए पहले एकदिवीसय मुकाबले में सनथ जयसूर्या ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए एक तेज शतकीय पारी को अंजाम दिया। उन्होंने 114 गेंदों का सामना करते हुए 107 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 10 चौके और 1 छक्का भी लगाया। भारत के खिलाफ इस मुकाबले में सनथ जयसूर्या एकमात्र ऐसे बल्लेबाज थे जिन्होंने 50 रन स्कोर पार किया था। अपनी इस पारी के साथ ही सनथ जयसूर्या ऐसे दूसरे बल्लेबाज बन गए, जिन्होंने सबसे ज्यादा उम्र में एकदिवसीय शतक लगाया। इस शतक के वक्त सनथ की उम्र 39 साल 212 दिन थी। इस पारी के बाद लंबे समय कर सबसे उम्रदराज खिलाड़ी के तौर पर शतक लगाने का रिकॉर्ड सनथ के नाम रहा। इस मुकाबले में श्रीलंका ने 50 ओवर में 246 रन बनाए। हालांकि सनथ जयसूर्या की पारी उनकी टीम को जीत नहीं दिला पाई और भारतीय टीम ने इस मुकाबले को 6 विकेट से अपने नाम कर लिया।

#1 खुर्रम खान

ऐसा अनुमान था कि सनथ जयसूर्या का रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ पाएगा, लेकिन ये अनुमान गलत साबित हुआ। लगभग 5 वर्षों तक सनथ जयसूर्या का सबसे उम्रदराज खिलाड़ी के तौर पर शतक लगाने का रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ सका। इसके बाद साल 2014 में संयुक्त अरब अमीरात के वरिष्ठ खिलाड़ी खुर्रम खान ने सनथ जयसूर्या का रिकॉर्ड तोड़ डाला। खुर्रम खान ने 43 साल 162 दिनों की उम्र में शतक लगाकर इतिहास ही रच डाला। बाएं हाथ के मध्यक्रम के बल्लेबाज ने 2004 में यूएई के लिए पदार्पण किया था, लेकिन अपने एकमात्र शतक के लिए उन्हें 10 साल लग गए। इस शतक के साथ ही खुर्रम खान एकदिवसीय क्रिकेट में शतक लगाने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी भी बन गए। अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए इस मुकाबले में 281 रन का पीछा करते हुए यूएई के 32 रन के स्कोर पर ही 2 विकेट गिर चुके थे, लेकिन खुर्रम खान ने शानदार पारी खेली और टीम के स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाया। उन्होंने 138 गेंदों का सामना करते हुए 132 रन बनाए। इसमें उन्होंने 17 चौके और 6 छक्के भी जड़े। इसके साथ ही यूएई ने 6 विकेट से जीत दर्ज की। लेखक: सोहम समद्दर अनुवादक: हिमांशु खोठरी

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment