Create
Notifications

IPL के 5 खिलाड़ी जिन्हें ‘चार दिन की चांदनी’ कहा जा सकता है

Modified 13 Feb 2018

इंडियन प्रीमीयर लीग में खेलना किसी भी युवा क्रिकेटर के लिए शानदार मौक़ा होता है। आईपीएल से पहले किसी भी युवा खिलाड़ी के लिए चयनकर्ताओं की नज़र में आना काफ़ी मुश्किल होता था। ऐसे खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय मैच में आने के लिए लंबे घरेलू क्रिकेट करियर का सहारा लेते थे। आईपीएल की शुरुआत के बाद कई युवा क्रिकेटर के लिए चर्चा में आना काफ़ी आसान हो गया। सभी खिलाड़ियों का फ़ोकस अब आईपीएल पर हो चुका है। आईपीएल के 10 सालों में हमने कई खिलाड़ियों को ख़ाक से ख़ास तक का सफ़र करते देखा है। कई खिलाड़ियों ने आईपीएल के ज़रिए टीम इंडिया में जगह हासिल की है तो कई को ऐसा मौक़ा नहीं मिल पाया है। आईपीएल में किसी भी खिलाड़ी पर अच्छे खेल का काफ़ी दबाव होता है। हम यहां उन 5 खिलाड़ियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जो सिर्फ़ एक ही आईपीएल सीज़न में धमाल मचा पाए थे।

#5 सौरभ तिवारी

  ये स्टार बल्लेबाज़ पहली बार तब चर्चा आए थे जब उन्होंने 2008 के अंडर-19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन किया था। साल 2010 के आईपीएल सीज़न में उन्होंने ख़ूब नाम कमाया था। इस सीज़न में उन्होंने 30 की औसत और 135.59 के स्ट्राइक रेट से 419 रन बनाए थे। इस मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज़ ने अंबाती रायूडु के साथ मिलकर कई जीत की इबारत लिखी थी। 2010 सीज़न में सौरभ के इसी प्रदर्शन की बदौलत मुंबई टीम फ़ाइनल में पहुंची थी। हांलाकि उस साल मुंबई इंडियस ट्रॉफ़ी जीतने में नाकाम रही थी, लेकिन सौरभ तिवारी ने सबको अपना दीवाना बना लिया था। आईपीएल के इसी प्रदर्शन की बदौलत उनका चयन टीम इंडिया में हुआ था। उन्होंने 2 वनडे में महज़ 49 रन बनाए, वो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख़ुद को साबित करने में नाकाम साबित हुए। घरेलू सीरीज़ में बुरा प्रदर्शन उनके करियर में गिरावट की वजह बना। साल 2012 के बाद उन्हें आईपीएल में ज़्यादा खेलने का मौका नहीं मिल पाया। वो आईपीएल में ज़्यादातर प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पाए थे।
1 / 5 NEXT
Published 13 Feb 2018
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now